बेरोजगारी भत्ता बढऩे की आस, कार्यालय में आवेदनों का अंबार

बेरोजगारी भत्ता बढऩे की आस, कार्यालय में आवेदनों का अंबार

Pramod Kumar Verma | Publish: Jan, 14 2019 11:10:50 PM (IST) Bharatpur, Bharatpur, Rajasthan, India

भरतपुर. चुनाव में बेरोजगारी भत्ता बढ़ाने की घोषणा के बाद रोजगार कार्यालय में आवेदनों की भरमार है। विधानसभा चुनाव में बेरोजगारों को 3500 रुपए बेरोजगारी भत्ता देने की घोषणा की गई थी। इसके बाद से युवाओं ने कार्यालय व ई-मित्रों के माध्यम से भत्ते के लिए आवेदन करना शुरू कर दिया था।

भरतपुर. चुनाव में बेरोजगारी भत्ता बढ़ाने की घोषणा के बाद रोजगार कार्यालय में आवेदनों की भरमार है। विधानसभा चुनाव में बेरोजगारों को 3500 रुपए बेरोजगारी भत्ता देने की घोषणा की गई थी। इसके बाद से युवाओं ने कार्यालय व ई-मित्रों के माध्यम से भत्ते के लिए आवेदन करना शुरू कर दिया था। राज्य में नई सरकार बनने से अब तक महज 22 दिनों में 700 से अधिक आवेदन कर दिए। जबकि, सामान्यतया हर माह 80 से 100 आवेदन जमा होने का ग्राफ था मगर इस बार आवेदनों की संख्या में कई गुना इजाफा हुआ है।
नई सरकार की शपथ के बाद अब तक 792 आवेदन कार्यालय को प्राप्त हो चुके हैं। गौरतलब है कि पिछली सरकार ने एक अप्रेल 2017 में बेरोजगारी भत्ते में बढ़ोतरी कर पुरुष वर्ग की 650 रुपए प्रतिमाह, महिला व दिव्यांग की 750 रुपए प्रतिमाह कर दी थी। इसके तहत भरतपुर जिले के 3800 बेरोजगारों के खातों में सितम्बर तक पांच महीनों में करीब 01 करोड़ 35 लाख रुपए पहुंचे।
वहीं रोजगार कार्यालय पर युवा वर्ग बेरोजगारी भत्ता के लिए आवेदन करने आ रहे हैं। इसका कारण बेरोजगारों को 3500 रुपए भत्ता मिलने की आस है। दूसरी ओर सूत्रों का कहना है कि भत्ता राशि बढ़ाने की घोषणा के बाद से आवेदनों में इजाफा हुआ है। लेकिन, पिछले 20 दिन से सर्वर डाउन है जिससे आवेदनों की जांच अटक रही है और आवेदनों की संख्या बढ़ती जा रही है।
सूचना सहायक दुष्यंत ने बताया कि गत वर्ष पांच अक्टूबर से आचार संहिता लगने और दिसम्बर में नई सरकार बनने के बाद भी इन बेरोजगारों के खातों में अक्टूबर से दिसम्बर यानि तीन माह का भत्ता नहीं मिला है। करीब 4000 बेरोजगारों तक इन तीन महीनों का 81 लाख रुपए का बेरोजगारी भत्ता नहीं पहुंचा है। माना जाता है कि विभाग को बजट नहीं मिलने से भत्ता पहुंचाने में देरी हो रही है।

अतिरिक्त प्रशासनिक अधिकारी रोजगार कार्यालय भरतपुर पप्पी राम यादव ने बताया कि गत वर्ष अक्टूबर से दिसम्बर तक का बेरोजगारी भत्ता आशार्थियों के खातों में नहीं पहुंचा है। वहीं बीस दिन से भत्ता के लिए आवेदनों में बढ़ोतरी हुई है। युवाओं को 3500 रुपए मिलने की आस है। इसलिए आवेदन ज्यादा हो रहे हैं, मगर विभाग के पास भत्ता राशि बढ़ोतरी के अभी तक सरकार की ओर से लिखित आदेश नहीं आए हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned