जलभराव समस्या ऐसी कि कलक्टर ने दिए निर्देश, ऐसे क्षेत्र में भूखण्ड खरीदा तो नहीं मिलेगा बिजली-पानी कनेक्शन

जलभराव समस्या ऐसी कि कलक्टर ने दिए निर्देश, ऐसे क्षेत्र में भूखण्ड खरीदा तो नहीं मिलेगा बिजली-पानी कनेक्शन

rohit sharma | Publish: Sep, 09 2018 04:47:20 AM (IST) Bharatpur, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

भरतपुर.

बीते डेढ़ माह से जलभराव की समस्या से शहर की दो दर्जन से अधिक कॉलोनीयां जूझ रही हैं बनी हुई है। शहर के आसपास के जलभराव क्षेत्रों में प्लॉटिंग करने वाले ठेकेदारों पर लगाम लगाने के लिए जिला प्रशासन ने सख्त कदम उठाया है। यदि बिना कन्वर्जन वाली कॉलोनियों में जलभराव क्षेत्र में लोग भूखण्ड खरीदेंगे तो उन्हें बिजली व पेयजल कनेक्शन नहीं दिया जाएगा। शहर के आसपास कृषि भूमि में काटी गई कॉलोनियों में बरसाती पानी की समस्या से जूझ रहे लोगों की समस्या को देखते हुए जिला कलक्टर संदेश नायक ने शनिवार को नगर निगम आयुक्त व यूआईटी सचिव को ये निर्देश जारी किए।

नई खरीद-फरोख्त पर रोक लगाने के लिए भी कहा

जिला कलक्टर संदेश नायक ने जलभराव क्षेत्र में स्थित गिरीश विहार कॉलोनी में संचालित एक निजी शिक्षण संस्थान व तीन मैरिज होम को भी बंद कराने के निर्देश यूआईटी सचिव लक्ष्मीकांत बालोत को दिए। कॉलोनी में अब नई खरीद-फरोख्त पर रोक लगाने के लिए भी कहा। जलभराव की समस्या समाधान के लिए शनिवार को गिरीश विहार कॉलोनी के लोग जिला कलक्टर से मिले और समस्या समाधान के लिए ज्ञापन भी सौंपा। जिसके बाद समस्या से संबंधित निर्देश जारी किए गए।

समस्या इतनी विकट..
पार्षद संजय शुक्ला ने बताया कि कॉलोनी में करीब 125 मकान हैं। कॉलोनी में जलभराव की समस्या इतनी विकट बनी हुई है कि लोगों को कॉलोनी से बाहर निकलने के लिए ट्रैक्टर-ट्रॉली मंगाने पड़ते हैं। साथ ही बताया कि जलभराव की समस्या व घरों में सांप, बिच्छू आने की वजह से ही कॉलोनी के करीब आधे रहवासी पलायन कर अपने रिश्तेदारों के यहां रह रहे हैं।

इनका कहना है..
बिना एनओसी नहीं देंगे कनेक्शन
बिना कन्वर्जन वाली कॉलोनियों में भूखण्ड खरीदने वाले लोगों को बिना एनओसी के बिजली व पानी के कनेक्शन जारी नहीं किए जाएंगे। जलभराव वाले क्षेत्रों में भूखण्ड खरीदने वाले लोगों को कनेक्शन नहीं दिए जाएंगे।
- लक्ष्मीकांत बालोत, सचिव , यूआईटी, भरतपुर

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned