चश्मा खरीदने के बहाने आए दुकान पर, गल्ले में नकदी देखकर बिगड़ी नीयत, दो लाख चुराने वाले चढ़े हत्थे

भीमगंज थाना पुलिस ने मियाचंद जी बावड़ी के निकट २३ दिन पूर्व खरीदारी के बहाने चश्मे की दुकान से दो लाख रुपए की नकदी चुराने के मामले का शुक्रवार को खुलासा कर दिया। चोरी के आरोप में दो जनों को गिरफ्तार किया।

By: Akash Mathur

Updated: 26 Dec 2020, 11:54 AM IST

भीलवाड़ा. भीमगंज थाना पुलिस ने मियाचंद जी बावड़ी के निकट २३ दिन पूर्व खरीदारी के बहाने चश्मे की दुकान से दो लाख रुपए की नकदी चुराने के मामले का शुक्रवार को खुलासा कर दिया। चोरी के आरोप में दो जनों को गिरफ्तार किया। आरोपियों से नकदी बरामद करने का प्रयास किया जा रहा है। पूछताछ में सामने आया कि दोनों आरोपी चश्मा खरीदारी के लिए दुकान पर गए थे। वहां गल्ले में नकदी देकर नीयत बिगड़ गई।
थानाप्रभारी प्रकाश भाटी ने बताया कि २ दिसम्बर को शास्त्रीनगर निवासी राजकुमार केसवानी ने मामला दर्ज कराया। परिवादी ने बताया कि उसकी मियाचंद जी की बावड़ी के निकट डीके ऑप्टीकल्स नाम से चश्मे की दुकान है। शाम चार बजे दुकान पर महिला कर्मचारी थी। दो जनें चश्मा खरीदने के लिए आए। खरीदारी के दौरान एक व्यक्ति ने दो हजार कर नोट निकाला और महिला कर्मचारी से उसके खुल्ले मांगे। महिला कर्मचारी ने गल्ला खोलकर देखा। उसमें दो-दो लाख के दो बण्डल थे। महिला कर्मचारी ने खुल्ले होने से मना कर दिया। इस दौरान आरोपियों की गल्ले में नकदी देकर नीयत बिगड़ गई।
एक ने बातों में उलझाया, दूसरा गल्ले के पास बैठा
इस दौरान एक युवक ने महिला कर्मचारी को बातों में उलझाया और दूसरा गल्ले के पास आकर बैठ गया। तरकीब से एक व्यक्ति ने गल्ले से एक बण्डल निकाल कर जेब में रख लिया और चश्मा पसंद नहीं आने की बात कहकर निकल गए। कुछ देर बाद महिला कर्मचारी की गल्ले पर नजर पड़ी तो उसमें दो लाख रुपए कम देखकर उसके होश उड़ गए। उसने तत्काल दुकान मालिक राजकुमार को बताया। दुकान मालिक की सूचना पर पुलिस वहां पहुंची। पुलिस ने अनुसंधान के बाद दुकान से दो लाख रुपए चोरी के आरोप में पीसांगन (अजमेर) हाल सिकरानी थाना बिजयनगर निवासर गगन मेघवाल तथा निम्बाहेड़ा (चित्तौडग़ढ़) हाल किराएदार रामनगर निवासी मुकेश माली को गिरफ्तार किया।
साथी के पिता को देखने आया, साथी बैठकर पी शराब
बिजयनगर निवासी गगन अपने एक साथी के पिता के अस्पताल में भर्ती होने से उनकी कुशलक्षेम पूछने आया था। गगन और मुकेश साथ मिलने अस्पताल गए। वहां से वापस लौटकर दोनों ने शराब पी और बाद में चश्मे की दुकान पर गए। गगन कबाड़ी का धंधा करता और टैक्सी भी चलाता है जबकि मुकेश फैक्ट्री में काम करता है।
तीसरी आंख ने करवाई पहचान, मोबाइल लोकेशन से चढ़े हत्थे
दुकान में लगे सीसी कैमरों से उनकी पहचान की गई। सीसी टीवी फुटेज में उनका चेहरा नजर आ रहा था। पुलिस ने दुकान के बाहर खड़ी की गई बाइक और मोबाइल लोकेशन से आरोपियों का पता करके उनको गिरफ्तार किया। दोनों शराब पीने के आदि है। चोरी की गई रकम से कुछ राशि मौज शौक में खर्च कर दी।

Akash Mathur Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned