महिला अधिकारी के खाते से उड़ा लिए 1 लाख रुपए, पेटीएम केवाइसी अपडेट के लिए आया था कॉल

साइबर फ्रॉड गैंग लोगों को फोन कर मांगते हैं जानकारी, फिर खाली कर देते हैं बैंक खाता...

By: Ashtha Awasthi

Published: 09 Jun 2021, 02:25 PM IST

भोपाल। मौलाना आजाद नेशनल इंस्टिट्यूट (मैनिट) कैंपस में रहने वाली महिला अधिकारी अरुणा सक्सेना के बैंक खाते से साइबर फ्रॉड गैंग ने 1 लाख रुपए निकाल लिए। महिला के मोबाइल पर अज्ञात तीन अलग-अलग लोगों ने फोन किया गया एवं उनके पेटीएम केवाइसी को अपडेट करने के लिए कुछ जानकारियां मांगी। यह मिलने पर आरोपियों ने उन्हें कुछ लिंक भरकर भेजने के लिए कहा। इसके भरते ही महिला के बैंक खाते से कई बार में एक लाख रुपए उड़ गए।

MUST READ:अब कॉलेज स्टूडेंट्स को पासपोर्ट बनावाने के लिए देना होगा ये डॉक्यूमेंट्स, जारी की गई नई एडवाइजरी

gettyimages-909244318-594x594.jpg

महिला अधिकारी ने यह जानकारी बैंक प्रबंधन को दी तो पता चला कि सभी ट्रांजेक्शन वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) बताने के आधार पर किए गए हैं, इसलिए बैंक की इसमें कोई गलती नहीं है। तब पीड़िता ने क्राइम ब्रांच और साइबर पुलिस में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कराया।

साइबर क्राइम पुलिस के मुताबिक महिला अधिकारी के बैंक खाते से रुपए निकालने के लिए आरोपियों ने तीन अलग-अलग सिम नंबर का इस्तेमाल किया था। यह नंबर अब बंद हो गए हैं। पीड़िता के बैंक खाते से राशि निकालकर जिन खातों में जमा करवाई गई है, उन्हें ट्रेस कर लिया गया है। उनके अकाउंट होल्डर का पता लगाकर जल्द ही आरोपियों को पकड़ लिया जाएगा।

अज्ञात फोन कॉल के झांसे में न आएं

पुलिस ने एक बार फिर लोगों से अपील की है कि कर्ज व नौकरी दिलाने, कैशबैक रिवॉर्ड एवं पेटीएम या बैंक खाता अपडेट करने के नाम पर कोई भी जानकारी अज्ञात मोबाइल धारक से साझा नहीं करें। किसी भी अंजान लिंक पर क्लिक न करें । वर्तमान में साइबर फ्रॉड गैंग लोगों को फोन कर व्यक्तिगत जानकारियां लेकर बैंक खाते से पैसा चोरी कर रहे हैं।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned