Remdesivir: कोरोना संक्रमितों को बड़ी राहत, रेमडेसिविर इंजेक्शन की तीसरी खेप मध्यप्रदेश पहुंची

remdesivir injections: कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए पहुंचा रेमडेसिविर इंजेक्शन...।

By: Manish Gite

Published: 20 Apr 2021, 04:31 PM IST

 

भोपाल। मध्यप्रदेश के कई शहरों में कोरोना के संक्रमितों को लगने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन की तीसरी खेप पहुंच गई है। मंगलवार को सबसे पहले बैंगलुरू से इंदौर में इंजेक्शन (remdesivir injections) के बॉक्स पहुंचे। यहां से मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल जबलपुर, ग्वालियर समेत अन्य शहरों में भेज दिए गए हैं।

रेमडेसिविर इंजेक्शन की मंगलवार को तीसरी खेप इंदौर में लैंड हुई। बैंगलुरू से 312 बॉक्स में करीब 15 हजार इंजेक्शन लेकर प्रदेश सरकार का प्लेन इंदौर पहुंचा।

 

यह भी पढ़ेंः जान बचाने रेमडेसिविर इंजेक्शन की खेप पहुंची, हेलीकॉप्टर से कई जिलों में हुई सप्लाई

 

remdesivir_1.png

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी ट्वीट करके इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 312 बॉक्स में से 57 बॉक्स भोपाल, 26 बॉक्स सागर, 50 बॉक्स ग्वालियर, 32 बॉक्स रीवा, 50 बॉक्स जबलपुर और 41 बॉक्स उज्जैन पहुंचाए जायेंगे। इंदौर को 56 बॉक्स प्राप्त होंगे, जिनमे से 17 बॉक्स इंदौर मेडिकल कॉलेज, 5 बॉक्स खंडवा मेडिकल कॉलेज व 34 बॉक्स इंदौर स्वास्थ्य विभाग को दिए जायेंगे।

 

यह भी पढ़ेंः Real Hero: कोरोनाकाल में फिर आगे आए एक्टर सोनू सूद, इंदौर के लोगों को देंगे 'ऑक्सीजन'

04_remdesivir.png

हेलीकाप्टर से भोपाल पहुंचे इंजेक्शन

इधर, थोड़ी देर बाद ही इंदौर से उड़ा हेलीकॉप्टर भोपाल पहुंच गया। इसमें रेमडेसिविर इंजेक्शन के 32 बॉक्स पहुंचे। भोपाल स्टेट हेंगर पर एडीएम उमराव मरावी और एसडीएम मनोज उपाध्याय ने रेमडेसिविर इंजेक्शन को खाद्य सुरक्षा विभाग के अधिकारियों की निगरानी में रवाना कराया।

यह भी पढ़ेंः covid 19 vaccination: एक मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र वालों को भी लगेगी वैक्सीन

05_remdesivir.png

बाकी जिलों में हेलीकाप्टर से भेजा

संभागायुक्त डॉ. पवन शर्मा के मुताबिक पहले की तरह मप्र शासन के स्टेट प्लेन और हेलीकॉप्टर से रेमडेसिविर की खेप को इंदौर के बाद बाकी शहरों में पहुंचा दिया गया है। इंदौर को 56 बॉक्स मिले हैं। इनमें से 17 बॉक्स इंदौर मेडिकल कॉलेज, 5 बॉक्स खंडवा मेडिकल कॉलेज और 34 बॉक्स इंदौर स्वास्थ्य विभाग दे दिए गए हैं। इधऱ, जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने इंजेक्शन के बंटवारे के संबंध में बताया कि प्रदेश को रेमडेसिविर की खेप मिली है, जिसे 7 संभागों के मेडिकल कॉलेज और स्वास्थ्य विभाग में जरूरत के हिसाब से वितरित किया गया है।

 

यह भी पढेंः कोविड के लिए शुरू होंगे सेना के अस्पताल, पीएम मोदी और रक्षामंत्री ने दी सहमति

 

 

क्या होता है रेमडेसिविर इंजेक्शन से

  • संक्रमित व्यक्ति को शुरुआत में गले और फेफड़ों में सूजन आती है।
  • फिर बुखार के साथ लक्षण दिखने लगते हैं। यह कोरोना की मॉडरेट स्टेज है।
  • इस स्टेज में मरीज को स्टेरॉयड दवा दी जाती है। यदि स्टेरॉयड के साथ रेमडेसिविर इंजेक्शन दिया जाता है तो मरीज की सेहत में तेजी से सुधार होने लगता है।
  • नतीजतन, सिर्फ स्टेरॉयड दवा लेने वाले मरीज की तुलना में ज्वाइंट डोज लेने वाला मरीज 2 से 4 दिन पहले स्वस्थ हो जाता है।
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned