ये कारोबार शुरु करने के लिए सरकार देगी आर्थिक मदद, इच्छुक व्यक्ति को ट्रेनिंग भी दी जाएगी

सरकार द्वारा कुछ कारोबार ऐसे भी चलाए जा रहे हैं, जिनकी शुरुआत करने के लिए सरकार आर्थिक मदद देने के साथ साथ उसकी ट्रेनिंग दे रही है।

By: Faiz

Published: 28 Sep 2020, 09:00 AM IST

भोपाल/ केंद्र सरकार ( Central government ) द्वारा मध्य प्रदेश ( madhya pradesh ) समेत देश के सभी राज्यों के लिए सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों को शुरु करने के लिए कई अभियान ( campaign ) चलाए जा रहे हैं। यही नहीं इसके अलावा कई तरह की फंडिंग स्कीम भी सरकार द्वारा चलाई जा रही हैं। हालांकि, देशभर में बहुत कम ही लोग ये बात जानते हैं कि, सरकार द्वारा कुछ कारोबार ऐसे भी हैं, जिनकी शुरुआत करने के लिए सरकार आर्थिक मदद ( finencial help ) देने के साथ साथ उसकी ट्रेनिंग दे रही है। यानी संबंधित कारोबार ( start business ) शुरु करने के लिए इच्छुक व्यक्ति को पैसों के साथ साथ जरूरी सामान और हुनर भी मुहैय्या कराया जाएगा। एमएसएमई मंत्रालय द्वारा सुचारू दो योजनाओं जिनमें मिट्टी के बर्तनों यानी Pottery और मधुमक्खी पालन के लिए नए दिशा निर्देश जारी किये हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ना अब व्यापारियों पर पड़ेगा भारी, 3 दिन के लिए सील होगी दुकान


योजना का उद्देश्य

मिट्टी के बर्तनों के कारोबार के लिए सरकार मिट्टी के बर्तनों बनाने के लिए व्हील या चाक (Pottery Wheel), मिट्टी को मिलाने वाला यंत्र और एक पीसने वाला यंत्र भी देगी।साथ ही, स्वयं सहायता समूहों में मिट्टी के बर्तनों के पारंपरिक कारीगरों और गैर-पोटरी कारीगरों को भी मिट्टी के बर्तन या आर्ट बनाने की ट्रेनिंग भी दी जाएगी। ये मिट्टी के बर्तनों के कारीगरों का उत्पादन और तकनीकी जानकारी को बढ़ाने के लिए किया जा रहा है। साथ ही, इस पहल का उद्देश्य कम लागत में नया उत्पाद शुरु करना है। प्रशिक्षण और आधुनिक/स्वचालित उपकरणों के माध्यम से मिट्टी के बर्तनों के कारीगरों की इनकम में बढ़ोतरी होगी।

 

पढ़ें ये खास खबर- बस ऑपरेटर्स के लिए खुशखबरी : 1 अप्रैल से 31 अगस्त तक का RTO टेक्स माफ


सरकार ही करेगी आर्थिक मदद

मध्य प्रदेश में कुल 6 हज़ार से अधिक पारंपरिक और गैर-पारंपरिक मिट्टी से बर्तन या अन्य कारीगरी करने वाले / ग्रामीण बेरोजगार युवा / प्रवासी मजदूर केन्द्र द्वारा चलाई जा रही इस योजना से लाभ उठा सकेंगे। साल 2020-21 के लिए वित्तीय सहायता के रूप में इन कारीगरों आर्थिक सहायता पहुंचाने के लिए करीब 19 करोड़ रुपए की राशि खर्च होगी।। मंत्रालय की स्फूर्ति योजना के तहत टेरकोटा, लाल मिट्टी पोटरी में क्लस्टर तैयार करने के लिए करीब 50 करोड़ रुपये की अतिरिक्त सहायता राशि का भी प्रावधान किया गया है। इससे क्रॉकरी/टाइल बनाने योग्य मिट्टी के बर्तन बनाने में नई वैल्यू वर्धित उत्पाद तैयार किये जा सकेंगे।

 

पढ़ें ये खास खबर- बिजली बिल नहीं आया तो न लें टेंशन, घर बैठे चैक करें और एक क्लिक से करें पेमेंट


इन लोगों को मिलेगा लाभ

मध्य प्रदेश समेत देश के अन्य राज्यों में मधुमक्खी पालन के लिए सरकार मधुमक्खी बक्से और टूल किट प्रदान करेगी। योजना के तहत मधुमक्खी के छत्तों के साथ मधुमक्खी बक्से दिए जाएंगे। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान जिलों में प्रवासी श्रमिकों को ये सहायता दी जाएगी। शुरुआती तौर पर योजना के तहत 2020-21 के दौरान कुल 2 हजार से अधिक मधुमक्खी पालनकर्ताओं, उद्यमी, किसान, बेरोजगार युवा आदिवासियों को कवर किया जाएगा। इन सभी को योजना का लाभ मिल सकेगा। इस उद्देश्य के लिए 2020-21 के दौरान केन्द्र सरकार की ओर से 13 करोड़ रुपए की वित्तीय सहायता का ऐलान किया गया है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned