scriptrajasthani folk singer mame khan | Mame Khan: फिर लौट आया फोक संगीत का दौर, युवा भी करते हैं बेहद पसंद | Patrika News

Mame Khan: फिर लौट आया फोक संगीत का दौर, युवा भी करते हैं बेहद पसंद

भोपाल आए जाने-माने लोक गायक मामे खान ने की पत्रिका से खास बातचीत...। कहा- आज के युवा भी पसंद करते हैं लोक गीत...।

भोपाल

Updated: November 30, 2021 05:41:52 pm

भोपाल। मैंने कसम खाई थी कि फोक आर्ट को लोगों के मुंह से डाइंग (मरा हुआ) नहीं कहने दूंगा...। इसलिए मैं अपने देसी अंदाज में ही अपना संगीत प्रस्तुत करता हूं और करता रहूंगा। मुझे खुशी है कि फोक संगीत का वापस दौर लौटा है। खासकर कोविड में लोगों ने शांति की तलाश में लोक संगीत ही सुनना पसंद किया है।

mame1.png

यह कहना है राजस्थानी लोक गायक (rajasthani folk singer) मे खां का। मामे खान ने पत्रिका से बातचीत में कहा कि लोकगीत हो या शास्त्रीय संगीत, जो फिल्मों में भी गाए जाते हैं उन्हें यूथ सुनते हैं और पसंद भी करते हैं। इसलिए मुझे नहीं लगता कि यूथ फोक म्यूजिक पसंद नहीं करता। बल्कि कुछ ज्यादा ही पसंद करता है।

तरक्की के बावजूद मेरा म्यूजिक वही है

उन्होंने कहा कि तरक्की के बाद जीवन में बदलाव आया है लेकिन मेरा म्यूजिक वही है। हां पहनावा जरूर बदल गया है। स्टेज पर परफॉर्म करते समय राजस्थानी पहनावे में पगड़ी पहन कर ही प्रस्तुति देता हूं, लेकिन अब मीडिया की मेहरबानी से कुछ लोग मुझे जानने लगे हैं इसलिए बाकी समय में साधारण रूप में ही रहता हूं।

फिल्म लक बाय चांस से इंडस्ट्री में संगीत की दुनिया में कदम रखने वाले मामे खान का कहना है कि रियालिटी शो में जरूरी नहीं कि विनर ही सबसे उम्दा गायक हो। कई बार जो जीत नहीं पाते वो काफी ज्यादा मंजे हुए कलाकार होते हैं। मामे खान रविवार को रबींद्र नाथ टैगोर यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित विश्वरंग उत्सव में प्रस्तुति देने आए थे।

शंकर महादेवन ने मौका दिया

उन्होंने कहा कि मैं ईला अरुण की बेटी की शादी में गाना गा रहा था। तभी शंकर महादेवन ने मुझे सुना और फिर कुछ दिनों बाद मुझे अपने स्टूडियो बुलाया। तब उन्होंने लक बाय चांस फिल्म के लिए मुझे बुलाया। मैं अपने देसी अंदाज में ही गया, वहां जोया अख्तर भी बैठी थीं और उन्होंने गाने को कहा, तो मैंने अपने देसी अंदाज में बावरे... गाया, मेरे गाने को वे सुनते रह गए। रिकार्ड करना भूल गए, फिर दोबारा मुझसे वो गाना गवाया। फिर कुछ सालों बाद उसी फिल्म के लिए पेपर में मेरा नाम आया, जिसे मेरे दोस्त ने घर आकर दिखाया।

म्यूजिक में बदलाव आटे में नमक के सामान है

उन्होंने कहा कि म्यूजिक में बदलाव आटे में नमक के सामान है। मैंने भी राजस्थानी म्यूजिक में कुछ बदलाव किया है। जैसे रूट तो वही रहती है, लेकिन शाखाओं में बदलाव आ सकता है। जैसे मैंने केसरिया बालम आयो रे ... जिसमें 6 से 7 बीट थे। जिसे मैंने 2015 में कुछ नया करके प्रस्तुत किया था, इसके लिए अवार्ड भी जीता।

mame11.jpg

25 वर्षों से मेरा भोपाल से नाता है

25 साल से भोपाल से कनेक्शन के बारे में उन्होंने कहा कि मेरे पिताजी वालिद साबह भोपाल के ड्रामा इंस्टिट्यूट से जुड़े थे और उन्हीं के साथ मेरा आना-जाना लगा रहा। इसलिए 25 वर्षों से मेरा भोपाल से नाता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

देशभर में नकली नोट व नकली सोना चलाने वाला गिरोह पकड़ा, एक महिला सहित पांच गिरफ्तारराष्ट्रीय युद्ध स्मारक में विलय की गई अमर जवान ज्योति की लौ; देखें VIDEO'हिजाब' पर कर्नाटक के शिक्षा मंत्री के बयान पर बवाल! जानिए क्या है पूरा मामलादिल्ली उपराज्यपाल ने आप सरकार के प्रस्ताव को किया खारिज, वीकेंड कर्फ्यू हाटने और प्रतिबंधों में ढील से इनकारMizoram Earthquake: मिजोरम में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर रही 5.6 तीव्रताCovid-19 Update: दिल्ली में आज आए कोरोना के 10756 नए मामले, संक्रमण दर हुआ 18.4%लापरवाही या साजिश : CBI के आने से पहले ही मिटा दिए सबूत, तिजारा फाटक ओवरब्रिज पर कराई सफाई, पुलिस ने घटनास्थल को नहीं रखा सुरक्षितIndian Army Recruitment 2022: बिना एग्जाम भारतीय सेना में भर्ती का सुनहरा मौका, ऐसे करें आवेदन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.