scriptTarget of 846 MW in Bhopal, Rs 36000 subsidy up to 2 kW | भोपाल में 846 मेगावाट का लक्ष्य, 2 किलोवाट तक 36000 सब्सिडी | Patrika News

भोपाल में 846 मेगावाट का लक्ष्य, 2 किलोवाट तक 36000 सब्सिडी

locationभोपालPublished: Feb 03, 2024 06:48:34 pm

Submitted by:

jitendra yadav

सोलर सिटी परियोजना के तहत बिजली कंपनी ने अधिकृत किए वेंडर

भोपाल में 846 मेगावाट का लक्ष्य, 2 किलोवाट तक 36000 सब्सिडी
भोपाल में 846 मेगावाट का लक्ष्य, 2 किलोवाट तक 36000 सब्सिडी
भोपाल. बिजली कंपनी ने भोपाल को सोलर ऊर्जा से रोशन करने के लिए 846 मेगावॉट सौर ऊर्जा जेनरेशन का लक्ष्य तय किया है। कंपनी से बताया कि दो किलोवाट का सोलर प्लांट लगाते हैं तो हर माह 240 यूनिट बिजली का उत्पादन होगा। दो किलोवाट सोलर प्लांट लगाने की लागत 01 लाख 30 हजार रुपए आएगी। इस पर प्रति किलोवाट 18 हजार के हिसाब से कुल 36 हजार रुपए की सब्सिडी आपको अपने बैंक खाता में वापस मिल जाएगी। बिजली कंपनी ने सोलर प्लांट लगवाने के लिए वेंडर्स अधिकृत किये हैं।
उपभोक्ता कैसे करें ऑनलाइन आवेदन
सोलर प्लांट लगवाने के लिए नेशनल पोर्टल सोलर रूफ टॉप डॉट जीओवी डॉट इन पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा।
रजिस्ट्रेशन के बाद वेंडर का चयन कर ऑनलाइन आवेदन जमा करना होगा।
नेट मीटर लगने के बाद डिस्कॉम के अधिकारी इंस्टालेशन डिटेल्स को अप्रूव करेंगे।
नेशनल पोर्टल पर टीएफआर अप्रूवल के बाद रजिस्टर्ड वेंडर के साथ अनुबंध होगा। आवेदक को वेंडर्स की सूची यहीं डिस्प्ले हो जाएगी। प्लांट इंस्टालेशन की प्रक्रिया होगी। अगले चरण में हितग्राही सब्सिडी क्लेम कर सकेगा। इसके लिए बैंक डिटेल्स सहित अन्य खानापूर्ति करना होगी। डिटेल्स सही पाई जाने पर सरकार द्वारा सीधे उपभोक्ता के बैंक खाते में सब्सिडी जमा कराई जाएगी। प्लांट इंस्टाल होने के बाद उसकी डिटेल सबमिट होगी। प्लांट के साथ आवेदक को स्वयं का फोटो पोर्टल पर अपलोड होगा।
100 वर्गफीट छत पर दो किलोवॉट का प्लांट
दो किलोवाट क्षमता का सोलर प्लांट लगाने के लिए 100 वर्गफीट छत की जरूरत होती है। जिसमें सोलर पैनल, इनवर्टर, एसडीसी बॉक्स, केबल व मीटर लगता है। सोलर रूफटॉप प्लांट वेण्डर इसे अधिकतम 3 दिन के भीतर लगा देगा। सब्सिडी 30 दिन में आपके बैंक खाते में आएगी।

ट्रेंडिंग वीडियो