scriptCyber Crime: किसी को भी पर्सनल इनफार्मेशन देने से बचें, हो रहा ये स्कैम, जानिए डिटेल में… | Cyber Crime: Avoid giving personal information to anyone | Patrika News

Cyber Crime: किसी को भी पर्सनल इनफार्मेशन देने से बचें, हो रहा ये स्कैम, जानिए डिटेल में…

locationबिलासपुरPublished: Nov 23, 2023 01:00:15 pm

Cyber Crime: बढ़ते इंटरनेट और डिजिटल पेमेंट कनेक्शन के साथ ऑनलाइन ठगी के मामलों में भी तेजी देखी जा रही है।

Cyber Crime: किसी को भी पर्सनल इनफार्मेशन देने से बचें, हो रहा ये स्कैम, जानिए डिटेल में...

Cyber Crime: किसी को भी पर्सनल इनफार्मेशन देने से बचें, हो रहा ये स्कैम, जानिए डिटेल में…

बिलासपुर। Cyber Crime: बढ़ते इंटरनेट और डिजिटल पेमेंट कनेक्शन के साथ ऑनलाइन ठगी के मामलों में भी तेजी देखी जा रही है। बिलासपुर में ऑनलाइन पेमेंट का इस्तेमाल करने वालों की संख्या दिनों दिन बढ़ती जा रही है। इसके साथ ही जिले में आए दिन ऑनलाइन ठगी के मामले में भी देखने को मिल रहे हैं।
यह भी पढ़ें

DRG के जवान को जान से मारने की कोशिश… अबुझमाड़ के साप्ताहिक बाजार में दिनदहाड़े हुआ अटैक



आजकल साइबर ठगी का न्यू ट्रेंड दिख रहा है जिसे कॉल फॉरवार्डिंग स्कैम भी कहा जाता है। ऐसा ही मामला बिलासपुर राजकिशोर नगर के रहने वाले किशोर कश्यप के साथ देखने को मिला। लेकिन जागरुकता के चलते वह इसका शिकार होने से बच गए। किशोर ने बताया कि उन्हें ऑनलाइन प्रोडक्ट मंगाया था।
कुछ दिनों के बाद उनके फोन पर डिलीवरी कंपनी से फोन आया जिसने उनसे कहा कि डिलीवरी एजेंट आपको कॉल करने की कोशिश कर रहा है लेकिन आपका कॉल नहीं लग रहा है। इसके बाद ठगों ने उन्हें एक नंबर भेजते हुए कहा कि यह नंबर डिलीवरी एजेंट का है इस पर कॉल करने से पहले स्टार 401 स्टार डायल कर लें इसके बाद आपकी कॉल कनेक्ट हो पाएगी। जैसे ही ठग ने विशेष कोड लगाने की बात कही वैसे ही किशोर ने कॉल कट कर दिया।
यह भी पढ़ें

Tulsi vivah 2023: इस साल भी गन्नों के दाम महंगे, जानिए इतने रूपयों से है शुरुआत



साइबर ठग विदेश से गिफ्ट आया है, मैट्रोमोनियल साइट्स, ऑनलाइन नौकरी और सीम, आधार अपडेट आदि जैसे पैतरों का इस्तेमाल कर शहर व्वासियो को ठगी का शिकार बना रहे हैं। इसी बीच अब नया ठगी का तरीका देखने को मिल रहा है। जिसमें साइबर ठग आपको नंबर भेज कर उसके सामने विशेष कोड लगा कर कॉल करने को कहते हैं। कोड लगा कर ठगों द्वारा बताए गए नंबर पर कॉल करते ही आपके फोन का काल और मैसेज डाइवर्ट हो जाता है जिसके बाद ठग आपके नंबर पर ओटीपी भेज कर आपका अकाउंट खली कर देते हैं।
यह भी पढ़ें

मेरा बाल खींचकर मुझे बहुत मारा… दो बहनों के साथ 7 लोगों ने की मारपीट, FIR दर्ज



बचाव के लिए सतर्क रहना बेहद जरूरी

साइबर एक्सपर्ट तरुणधर दीवान कहते हैं कि साइबर ठगी के इस तरीके से सावधान रहें और किसी को भी ओटीपी देने से बचें। कोई पार्सल लेकर आए भी तो उसे लेने से इनकार कर दें और आगे किसी भी तरह की निजी जानकारी ना दें। कभी लोग बैंक कर्मचारी तो कभी एसएचओ बनकर भी लोगों को फोन करते हैं और किसी ना किसी बहाने से पैसे लूटने की कोशिश करते हैं। ऐसे में कॉल में किसी को भी निजी जानकारी देने से बचना चाहिए।
loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो