निरीक्षण करने पहुंचे मंत्री लखमा तो सुरक्षा गार्ड खोल ही नहीं रहा था गेट, पुलिस बोली मंत्री जी आए हैं

Saurabh Tiwari | Updated: 11 Jul 2019, 05:37:00 PM (IST) Bilaspur, Bilaspur, Chhattisgarh, India

मंत्री (chhattisgarh minister kawasi lakhma) पहुंचे निरीक्षण में तो कहीं गेट नहीं खुला तो कहीं बुलाने पर भी नहीं आए प्रबंधन वाले (kawasi lakhma video)

बिलासपुर. प्रदेश के उद्योग व आबकारी मंत्री कवासी लखमा मंगलवार को बिलासपुर दौरे पर थे। लंबा कार्यक्रम तय था। लेकिन हद तो तब हो गई जब मंत्री सिरगिट्टी स्थित इंडस्ट्रीयल एरिया का निरीक्षण करने पहुंचे। आलम यह था कि एक फैक्ट्री के बाहर गेट पर मंत्री जी की कार का हूटर बजता रहा लेकिन गेट नहीं खोला गया। वहीं कोलवाशरी की जांच करने पहुंचे तो वहां वाशरी प्रबंधन का कोई आया ही नहीं। अंत में लखमा (kawasi lakhma minister) ने अपने अधिकारियों को इन पर कार्रवाई करने की सख्त हिदायत दी और इसके बाद ही रायपुर लौटने को कहा है। दूसरी ओर प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने शराबबंदी पर कहा कि नोट बंदी की तरह शराबबंदी नहीं की जा सकती है।

 

gate not opened by security guard for Minister Kawasi Lakhma

बुलाया मालिक और मैनेजर को पर कोई नहीं आया (kawasi lakhma ministry)
महेश्वरी कोल माइंस अनिल मुंदडा फैक्ट्री के अन्दर कार को आखिरी छोर तक ले गए। कोयला को हाथ से उठाकर देखा और पूछा ये पत्थर है कि कोयला है तब कांग्रेसियों ने बताया कोयला है। आसपास डस्ट देखने के बाद उद्योग अफसरों को डांट-डपट लगाई। फैक्ट्री के मालिक या मैनेजर को बुलाने के लिए कहा 10 मिनट तक मंत्री जांच करते रहे लेकिन कोई नहीं आए। अधिकारियों से कहा फैक्ट्री की पूरे जमीन और कोयले की जांच करने का निर्देश दिए इसके अलावा सडक़ का उपयोग किया जा रहा है उसकी भी जांच करने के लिए कहा गया है।

नहीं खुला गेट, खटखटाते रहे दरवाजा (kawasi lakhma ka video)
उद्योग मंत्री कवासी लखमा सिरगिट्टी क्षेत्र में संचालित राजश्री गुटखा फैक्टी के पास पहुंचे। मंत्री का काफिला को देखने के बाद भी गेट नहीं खोला जा रहा था कांग्रेस कार्यकर्ता दरवाजा को खटखटा रहे थे, जोर से चिल्लाकर बोले उद्योग मंत्री कवासी लखमा जी आए हैं दरवाजा खोलो। तब भी गेट को नहीं खोले। तब मंत्री का गार्ड और पुलिस वाले फैक्ट्री के अन्दर बैठे सुरक्षा कर्मी को डांट डपट लगाई इसके बाद गेट को खोला गया। मंत्री ने गुटखा बनाने का लाइसेंस पूछा। यहां काम करने वाले मजदूरों से बात की छग से तीन चार कर्मचारी थे शेष बाहर के थे। स्थानीय लोगों को रोजगार में बढ़ावा देने का निर्देशा दिए। वहीं फैक्ट्री के पूरे दस्तावेज की जांच करने का निर्देश दिए हैं। और रिपोर्ट रायपुर लेकर आने का निर्देश दिए गए हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned