मानसून से पहले बारिश से छत्तीसगढ़ सराबोर, जानें प्रदेश में कब होगी मॉनसून की दस्तक

Monsoon in Chhattisgarh 2021 Forecast: अगले 2-3 दिनों में मानसून (Monsoon) छत्तीसगढ़ पहुंचने की संभावना है। प्रदेश में फिलहाल द्रोणिका के प्रभाव से कुछ स्थानों पर बारिश हो रही है।

By: Ashish Gupta

Updated: 10 Jun 2021, 12:42 PM IST

बिलासपुर. अगले 2-3 दिनों में मानसून (Monsoon) छत्तीसगढ़ पहुंचने की संभावना है। प्रदेश में फिलहाल द्रोणिका के प्रभाव से कुछ स्थानों पर बारिश हो रही है। प्रदेश में 10 जून को कई स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है।

प्रदेश के एक-दो स्थानों में गरज चमक के साथ भारी बारिश होने आकाशीय बिजली गिरने और अंधड़ चलने की संभावना है। प्रदेश में अधिकतम तापमान में भी गिरावट होने की संभावना है। इधर बुधवार को शहर में अचानक बादल घिर आए और बरसे इसके बाद देर रात तक ठंडी हवाएं चलने से गर्मी से राहत मिली।

यह भी पढ़ें: शनि जयंती और सूर्य ग्रहण एक साथ, 148 साल बाद बन रहा ऐसा संयोग, जानें इसके प्रभाव

मौसम वैज्ञानिक एके दास के अनुसार दक्षिण-पश्चिम मानसून (Southwest Monsoon) अरब सागर और महाराष्ट्र के बुलसर, मालेगांव, नागपुर, और शेष हिस्सों, गुजरात के कुछ और हिस्सों, तेलंगाना के शेष हिस्सों, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों और पूर्वी ओडिशा, पश्चिम, पूरे हिस्से में आगे बढ़ने की संभावना है। अगले 2-3 दिनों के दौरान बंगाल, झारखंड, छत्तीसगढ़ और बिहार में पहुँचने की संभावना है।

इसके अलावा एक द्रोणिका दक्षिण उड़ीसा से दक्षिण गुजरात तक 3.1 से 5.8 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। एक द्रोणिका उप हिमालयीन पश्चिम बंगाल से दक्षिण उड़ीसा तक 5.8 से 7.6 किलोमीटर ऊंचाई पर स्थित है। दक्षिण पूर्व उत्तर प्रदेश से उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी तक झारखंड, गंगेटिक पश्चिम बंगाल के दक्षिणी भाग होते हुए उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी तक स्थित है।

यह भी पढ़ें: मौसम अपडेट: तेजी से आगे बढ़ रहा दक्षिण-पश्चिम मानसून, जानिए छत्तीसगढ़ में कब देगा दस्तक

एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा पूर्व मध्य और उससे लगे उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी में 4.5 किलोमीटर से 5.8 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। इसके प्रभाव से एक निम्न दाब का क्षेत्र उत्तर बंगाल की खाड़ी में 11 जून को निम्न दाब का क्षेत्र बनकर और अधिक प्रबल होने की संभावना है। इसके आगे बढ़ने के पूर्व ही मानसून की सक्रियता मध्य और पूर्व के राज्यों में बढ़ने की संभावना है।

बारिश से गिरा तापमान, गर्मी से मिली राहत
बुधवार को मौसम में बदलाव हुआ और शाम को आसमान में काले बादल घिर आए। शाम करीब साढ़े 4 बजे तेज हवाओं के साथ बारिश हुई और तापमान में गिरावट आई। इसके बाद लोगों ने राहत महसूस की। देर रात तक ठंडी हवाएं चलती रही। बुधवार को शहर का अधिकतम तापमान 36.6 और न्यूनतम 25.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned