मंदिर के चढ़ावे के लिए पुजारी और उसकी बहन में होता था झगड़ा फिर कर दिया ऐसा काम

दोनों के बीच चढ़ावे को लेकर कहासुनी होने लगी। विवाद इतना बढ़ गया की मंदिर के पुजारी ने अपनी पत्नी के साथ मिलकर अपनी बहन के ऊपर चाक़ू से हमला कर दिया।

मुंगेली. दुनिया में पैसों के लिए लोग कुछ भी कर गुजरने को तैयार हैं। मंदिर में पूजा पाठ करने वाले पुजारियों को लोग बहुत ही श्रद्धाभाव से देखते हैं क्योंकि ऐसा माना जाता ही कि पुजारी विकारों से दूर हो गया है और ईश्वर के बेहद करीब है। लेकिन कुछ पुजारी सिर्फ धनलाभ के लिए पूजा करते हैं।

कलेक्टर ऑफिस के बाबू को रिटायर हुए हो गए दो साल लेकिन नहीं छूट रहा मलाइदार कुर्सी का मोह

बिलासपुर जिले के मुंगेली इलाके में एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहाँ मंदिर में लोगों के द्वारा चढ़ाये जाने वाले चढ़ावे के लिए पुजारी और उसकी बहन के बीच विवाद हो गया जीसके कारण पुजारी ने अपनी ही बहन को चाकू मार दिया।

जानकारी के अनुसार , मुंगेली के पंडरिया रोड पर स्थित शक्तिमाई मंदिर में नवरात्र के दौरान श्रद्धालुओं की काफी भीड़ होती है। मंदिर आने वाले लोग मंदिर में इक्षानुसार चढ़वा भी चढ़ाते हैं। इसी चढ़ावे को लेकर मंदिर के पुजारी शंकर साहू और उसकी छोटी बहन शारदा साहू के बीच विवाद होता रहता था।

कृषि एवं जल संसाधन मंत्री का विवादित बयान- भाजपा के राम मॉब लिंचिंग और चंदा बटोरने वाले राम हैं

शुक्रवार को भी दोनों के बीच चढ़ावे को लेकर कहासुनी होने लगी। विवाद इतना बढ़ गया की मंदिर के पुजारी ने अपनी पत्नी के साथ मिलकर अपनी बहन के ऊपर चाक़ू से हमला कर दिया। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गयी।

मंदिर की सीढ़ियां नहीं चढ़ पा रही वृद्ध को महिला आरक्षक ने गोद में उठाकर कराया दर्शन, चारो तरफ हो रही तारीफ

घटना की सूचना पर पुलिस ने आरोपी भाई और उसकी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं घायल बहन का इलाज जारी है। मामले मे अब तक पुलिस की तरफ से किसी तरह का आधिकारिक बयान नहीं आया है।

Karunakant Chaubey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned