नौकरी दिलाने का नौकरी दिलाने का झांसा, ड्राइवर से हजारों रुपए की ठगी

Amil Shrivas

Publish: Nov, 14 2017 01:05:43 (IST)

Bilaspur, Chhattisgarh, India
नौकरी दिलाने का नौकरी दिलाने का झांसा, ड्राइवर से हजारों रुपए की ठगी

जमीन का अधिग्रहण करने के बाद उसके परिवार के 4 सदस्यों को नौकरी दी जाएगी।

बिलासपुर . मध्यप्रदेश के उमरिया निवासी एक युवक को एसईसीएल में नौकरी दिलाने का झांसा देकर तीन युवकों ने शहर बुलाया और उससे 90 हजार रुपए ठग लिए। शिकायत पर सिविल लाइन पुलिस ने अपराध दर्ज कर लिया है। आरोपियों के बारे में पतासाजी की जा रही है। सिविल लाइन पुलिस के अनुसार, मध्यप्रदेश उमरिया अंतर्गत ग्राम मेढकी पाली निवासी सलीम पिता कादिर खान (43) ड्राइवरी करता है। 4 नवंबर को उसके मोबाइल पर अनजान नंबर से कॉल आया। कॉल करने वाले व्यक्ति ने अपना एमपी मरावी और खुद को एसईसीएल मनेन्द्रगढ़ कॉलरी एरिया का मैनेजर बताया। उसने सलीम को बताया कि उसके दादा और परदादा के नाम पर मनेन्द्रगढ़ कॉलरी एरिया में जमीन है। जमीन का नामांतरण नहीं हुआ है। जमीन खदान के दायरे में आ रही है। जमीन का अधिग्रहण करने के बाद उसके परिवार के 4 सदस्यों को नौकरी दी जाएगी। अनजान व्यक्ति ने उसे सोमवार को जमीन की रजिस्ट्री के लिए 1 लाख 30 हजार रुपए लेकर संभागायुक्त कार्यालय आने के लिए कहा था। झांसे में आकर सलीम 90 हजार रुपए लेकर बिलासपुर पहुंचा।

READ MORE : स्मार्ट कार्ड में हुई भारी गड़बड़ी, 71 हजार परिवार के लोग भटक रहे इलाज के लिए

सोमवार दोपहर ढाई बजे कमिश्नर ऑफिस के सामने कॉल करने वाला युवक अपने 2 अन्य साथियों के साथ खड़ा था। सलीम को उसने बताया कि उसके जमीन की रजिस्ट्री एसईसीएल के नाम पर की जानी है। इसके लिए 1 लाख 30 हजार रुपए का स्टांप लगेगा। सलीम ने उन्हें 90 हजार रुपए ही होने की जानकारी दी। इसके बाद तीनों ने उससे पैसे लिए और स्टांप पेपर खरीदकर आने की बात कहकर चले गए। वे एक घंटे तक नहीं लौटे तो सलीम ने उसी अनजान नंबर पर कॉल किया। लेकिन मोबाइल बंद हो चुका था, तब सलीम को ठगे जाने का एहसास हुआ। इसके बाद उसने सिविल लाइन थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई।

READ MORE : शहर में ऐसे बर्बाद हो रहा पेयजल, देखें वीडियो

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned