युवकों ने छात्रा का अपहरण कर भरी मांग, क्या है वजह जानें

युवकों ने छात्रा का अपहरण कर भरी मांग, क्या है वजह जानें

Anil Kumar Srivas | Publish: Jan, 14 2018 11:59:23 AM (IST) Bilaspur, Chhattisgarh, India

11 जनवरी को सुबह 9 बजे छात्रा कॉलेज जाने घर से निकली थी।

बिलासपुर . छेड़खानी के पुराने मामले में समझौता नहीं करने पर आरोपी ने साथी के साथ छात्रा को बेहोश करने के बाद उसका अपहरण कर बलौदा स्थित ग्राम बिरगहनी ले गया। वहां उसके साथ छेड़खानी कर जान से मारने की धमकी दी। घटना बंधवापारा सरकण्डा में 11 जनवरी को हुई थी। परिजनों ने देर रात छात्रा को आरोपी के चंगुल से छुड़ाया। शिकायत पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है। सरकण्डा पुलिस के अनुसार इमलीभाठा निवासी 25 वर्षीय एक युवती कॉलेज की छात्रा है। कुछ महीने पूर्व मोहल्ले में रहने वाले राजा सोनी पिता देवीदयाल सोनी ने उसके साथ छेड़खानी की थी। शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ अपराध दर्ज करने के बाद जेल भेज दिया था। 11 जनवरी को सुबह 9 बजे छात्रा कॉलेज जाने घर से निकली थी। वह बंधवापारा पहुंची थी, तभी पीछे से बाइक में आरोपी राजा सोनी अपने एक अन्य साथी के साथ पहुंचा। उसने छात्रा को बाइक में जबरदस्ती बैठा लिया। उसने शोर मचाने का प्रयास किया तो राजा ने उसके मुंह और नाक में दवा सुंघाकर बेहोश कर दिया।

READ MORE : रेडक्रास के लिए 7 लाख देने में कर रहे आनाकानी, कलेक्टर ने जताई नाराजगी, जानें क्या है मामला

दोनों बाइक से उसे बलौदा के ग्राम बिरगहनी स्थित बहन लाली पति सूर्या के घर ले गए थे। पीडि़त छात्रा ने पुलिस को बताया कि वहां आरोपी राजा ने उसकी मांग भरी और चूड़ी पहना दी। छात्रा के होश में आने के बाद उसने पुराने छेड़खानी के मामले में समझौता नहीं करने पर जान से मारने और कोठे में बेच देने की धमकी दी। इधर देर शाम छात्रा के घर नहीं लौटने पर परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की। परिजनों को पता चला कि राजा उसको लेकर सीपत की ओर जाते देखा गया था। परिजन ग्राम बिरगहनी पहुंचे और उसको आरोपियों के चंगुल से छुड़ाया। वहीं दोनों आरोपी मौका पाकर फरार हो गए थे। शनिवार को छात्रा की शिकायत पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 365, 354, 294, 506, 34 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।

READ MORE : एटीआर में बने रहे मकानों के मामलों में हाईकोर्ट ने दो सप्ताह में मांगा जवाब

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned