सनबाथ के लिए सुबह और शाम की धूप है बेहतर

विटामिन डी का बेहतरीन स्त्रोत माना जाता है सूर्य की किरणों को। मौसम चाहे कोई भी हो अक्सर लोग सूरज की तपती धूप से बचने का प्रयास करते हैं। दोपहर की तुलना में सुबह और शाम के समय की धूप शरीर के लिए बहद फायदेमंद होती है। धूप सेकने की प्रक्रिया को सनबाथ कह सकते हैं।

Divya Sharma

December, 0702:04 PM

सूर्य की किरणें हमारे नाड़ीतंत्र या स्नायुमंडल का संचालन करके आवश्यक ऊर्जा प्रदान करती है। सनबाथ के फायदे कई हैं। त्वचा के अलावा बाल भी इससे सेहतमंद रहते हैं। खास बात है कि सनबाथ का सबसे ज्यादा फायदा तब होता है जब किरणों का संपर्क रीढ़ की हड्डी पर ज्यादा हो। जानें इसके विभिन्न फायदों के बारे में -

इस तरह लें सनबाथ
-सनबाथ के दौरान सिर छांव में होना चाहिए। चाहें तो इसे ढक लें। ऐसा इसलिए जरूरी है, क्योंकि सूर्य स्नान करते समय सूर्य की किरणें सीधे सिर पर नहीं पडऩी चाहिए।
-सुबह या शाम की सूरज की किरणों के संपर्क मेंं 10 मिनट से लेकर आधे घंटे तक कर सकते हैं। शुरुआत 10 मिनट से करें। सूर्य स्नान के बाद थोड़ी देर छांव में टहलना या फिर पानी से स्नान करना सही होता है।
-सूर्य स्नान करते समय शरीर की मालिश भी की जा सकती है। हफ्ते में एक दिन सूर्य की किरणों के नीचे बैठकर सरसों के तेल से पूरे शरीर की मालिश करें। मालिश करने के बाद गुनगुनी धूप में सूर्य स्नान लेकर सूर्य की किरणों का अधिक लाभ उठाएं।

फायदे
* गर्भवती महिला नियमित रूप से सनबाथ ले सकती है। इससे शारीरिक थकान, पीठ में दर्द में आराम मिलेगा। इससे प्रतिरक्षा प्रणाली दुरुस्त रहती है और तनाव भी नहीं रहता। हाई कोलेस्ट्रॉल की शिकायत भी दूर होती है।
* गुनगुनी धूप के त्वचा पर पडऩे से हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत नहीं रहती है।
* सुबह के समय धूप सेकने से शरीर को विटामिन डी मिलता है जिससे हड्डियां और दांत मजबूत रहते हैं।

Divya Sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned