Immunity Health: कमजोर इम्यूनिटी के हैं ये लक्षण, मजबूती के लिए अपनाएं ये टिप्स

Immunity Health: बदलते मौसम में या सामान्य तौर पर बार-बार किसी न किसी तरह के संक्रमण या एलर्जी की चपेट में आना रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने का संकेत है। इम्यूनिटी आपके शरीर में मौजूद विषैले पदार्थो से लड़ने की क्षमता होती है...

By: युवराज सिंह

Published: 27 Mar 2020, 08:50 PM IST

Immunity Health In Hindi: बदलते मौसम में या सामान्य तौर पर बार-बार किसी न किसी तरह के संक्रमण या एलर्जी की चपेट में आना रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने का संकेत है। इम्यूनिटी आपके शरीर में मौजूद विषैले पदार्थो से लड़ने की क्षमता होती है। शरीर के आसपास बहुत सारे बैक्टीरिया और वायरस मौजूद होते हैं, जो आपको कई तरह की बीमारियों से ग्रसित कर देते हैं। इन बीमारियों से दूर रहने के लिए इम्यूनिटी सिस्टम का मजबूत होना जरूरी है। अगर आपकी इम्यूनिटी मजबूत है, तो आप न केवल बदलते मौसम में होने वाली सर्दी, खांसी जैसी समस्या से बचे रहते हैं, बल्कि इसकी वजह से आप हेपेटाइटिस, फेफड़े के संक्रमण, किडनी के संक्रमण जैसी गंभीर बीमारियों से भी बचे रहते हैं। आइए जानते हैं कमजाेर इम्यूनिटी के लक्षण और इसे दुरुस्त रखने के टिप्स के बारे में:-

कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता के लक्षण
1. मौसम बदलने के साथ सर्दी-जुकाम हो जाना।
2. हर समय सुस्ती-सी महसूस होना।
3. बीमार होने पर जल्दी ठीक न हो पाना।
4. थोड़ा काम करने पर भी थक जाना।

ऐसे बढ़ाए रोग प्रतिरोधक क्षमता
हेल्दी लाइफस्टाइल फाॅलाे करें
अपनी लाइफस्टाइल और खानपान में थोड़ा बदलाव कर आप खुद को स्वस्थ रखने के साथ-साथ अपनी इम्यूनिटी को भी सुधार सकते हैं। नियमित व्यायाम और खानपान में सजगता बरतने के अलावा अपने आहार में उन चीजों को शामिल करना भी जरूरी है, जो आपके शरीर को पोषण प्रदान करने के साथ-साथ रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली हों। इसके लिए आप किसी डाइटीशियन से सलाह भी ले सकते हैं।

नाश्ते पर जाेर दें
सुबह के नाश्ते की अनदेखी करना बहुत सारे लोगों की आदत होती है। इससे न केवल ऐसे लोगों की सेहत खराब होती है, बल्कि इसका असर उनकी इम्यूनिटी पर भी पड़ता है। अगर आप अपनी इम्यूनिटी को सुधारना चाहते हैं, तो चाहे आप कितनी भी जल्दी में क्यों न हों, सुबह का नाश्ता जरूर करें। सुबह के नाश्ता प्रोटीन से भरपूर होना चाहिए। इसके लिए आप उबले अंडे, मौसमी ताजे फल, दलिया, नट्स, अंकुरित अनाज के साथ जूस या लस्सी लें सकते हैं। जब आपके दिन की शुरुआत सही नाश्ते से होती है, तो इससे आपके शरीर और दिमाग दोनों को पोषण मिलने के साथ आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।

माेटापा रखें दूर
मोटापा कई बीमारियों को जन्म देता है। इसकी वजह से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कम होने लगती है। मोटापे की वजह से सफेद कोशिकाएं बनने में दिक्कत होती है। जब शरीर में सफेद कोशिकाएं कम होने लगती हैं, तो प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है।

एक्टिव रहें
मजबूत इम्यूनिटी के लिए एक्टिव रहना बहुत जरूरी है। शारीरिक निष्क्रियता आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी प्रभावित करती है। इससे बचने के लिए नियमित व्यायाम को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं। जब आप व्यायाम करते हैं, तो आपका स्टेमिना बढ़ता है। आप जो एनर्जी लेते हैं, वो पच जाने से आपकी पाचन क्षमता मजबूत होती है। इसके लिए आप अपने व्यायाम में योग और मेडिटेशन के साथ सैर को भी शामिल करें।

अच्छी नींद है जरूरी
सेहतमंद रहने के लिए भरपूर नींद लेना बहुत जरूरी है। विशेषज्ञों के अनुसार सेहतमंद रहने के लिए आठ घंटे की गहरी नींद जरूरी है। नींद पूरी नहीं होने की वजह से कई तरह की मानसिक और शारीरिक समस्याएं पैदा हो जाती हैं। अगर आप खुद को स्वस्थ रखने के साथ अपनी इम्यूनिटी को सुधारना चाहते हैं, तो इसके लिए यह बेहद जरूरी है कि आप खुद को अनावश्यक तनाव से दूर रखें और गहरी नींद सोएं।

नशे से परहेज करें
नशे से दूरी सेहतमंद रहने का मंत्र है। अगर नशे के आदी है तो जल्द से जल्द इसे छोड़ दें। क्योंकि ये आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को दोगुने स्तर पर खराब करती है।

Show More
युवराज सिंह Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned