जॉगिंग से करें वर्कआउट की शुरुआत

वर्कआउट की शुरुआत में ही हैवी एक्सरसाइज करना खतरनाक है। इससे मांसपेशियों में एकदम से खिंचाव होने से दर्द हो सकता है।

Vikas Gupta

October, 2205:15 PM

तन-मन

शरीर को स्वस्थ और फिट रखने में फिजिकल एक्टिविटी का अहम रोल है। लेकिन वर्कआउट की शुरुआत में ही हैवी एक्सरसाइज करना खतरनाक है। इससे मांसपेशियों में एकदम से खिंचाव होने से दर्द हो सकता है।

ध्यान रखें : 1-2 मिनट तेज दौड़ने के बाद वॉक कर एक्सरसाइज की शुरुआत करनी चाहिए। धीरे-धीरे इस समय अंतराल को बढ़ाना चाहिए। दूसरे हफ्ते में 3-4 मिनट और ऐसे ही धीरे-धीरे 20 मिनट तक ले आएं।

सीनियर फिजिशियन के अनुसार कई बार वर्कआउट के दौरान शुरुआती दिनों मेंं पैरों में दर्द की शिकायत रहती है। इसका कारण पैरों की पोजीशन सही न होना हो सकता है। ऐसे मेें पैरों की पोजीशन सही रखें। यदि सावधानी के बावजूद दर्द होता है तो ऐसा पैरों में किसी प्रकार के टेढ़ेपन के कारण हो सकता है। इसके लिए किसी हड्डी रोग विशेषज्ञ को जरूर दिखाएं।

पैरों में दर्द का एक कारण दौड़ते या एक्सरसाइज करने के दौरान खून की नस का मांसपेशियों के बीच दबना या कंपार्टमेंट सिंड्रोम (अंदरुनी कोशिकाओं में सूजन या रक्तस्त्राव) भी हो सकता है।

शुरुआत में बहुत तेज न दौड़ें वर्ना हड्डियों को जोड़कर रखने वाली मांसपेशियों में क्षति पहुंचने से दर्द और सूजन आ सकती है। ऐसे में रनिंग के बजाय जॉगिंग कर सकते हैं या फिर धीमी गति की दौड़ लगाएं।

स्पोट्र्स फुटवियर का खास खयाल रखें। ऐसे जूते पहनें जो दौड़ने या एक्सरसाइज करने में आरामदायक हों। साथ ही इस बात पर ध्यान दें कि फुटवियर का प्रेशर घुटनों पर नहीं पड़ना चाहिए।

Show More
विकास गुप्ता
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned