मधुबाला को अपनी आंखों के सामने मरता देखने के लिए मजबूर थे किशोर कुमार

By: Sunita Adhikari
| Published: 04 Aug 2021, 08:02 PM IST
मधुबाला को अपनी आंखों के सामने मरता देखने के लिए मजबूर थे किशोर कुमार
Kishore Kumar Madhubala

किशोर कुमार और मधुबाला एक-दूसरे से प्यार करने लगे। ऐसे में एक दिन किशोर ने उनसे शादी के लिए पूछा तो उन्होंने तुरंत हां कर दी। साल 1960 में दोनों ने शादी कर ली। उस वक्त मधुबाला की उम्र 27 साल की थी।

नई दिल्ली। बॉलीवुड के दिग्गज सिंगर-एक्टर किशोर कुमार की आवाज और एक्टिंग के लाखों दीवाने थे। उन्होंने अपने काम से हर किसी का दिल जीता था। उनका जन्म 4 अगस्त 1929 को हुआ था। हिंदी सिनेमा में वह बहुत बड़ा नाम हैं। उन्हें इंडस्ट्री में तमाम तरह के किरदारों को बखूबी निभाने के लिए जाना जाता है। हालांकि, फिल्मों से ज्यादा उनकी पर्सनल लाइफ ने सुर्खियां बटोरीं।

दरअसल, किशोर कुमार ने चार शादियां की थीं। जिसमें एक एक्ट्रेस मधुबाला थीं। किशोर कुमार से मिलने से पहले मधुबाला दिलीप कुमार के प्यार में गिरफ्त थीं। दोनों 9 साल तक साथ रहे थे। दोनों शादी करना चाहते थे लेकिन एक्ट्रेस के परिवार वाले इस रिश्ते के खिलाफ थे। जिसके बाद दोनों अलग हो गए। फिर मधुबाला की मुलाकात किशोर कुमार से हुई। तब तक किशोर कुमार का भी उनकी पहली पत्नी रूमा देवी से तलाक हो गया था। ऐसे में दोनों एक-दूसरे के करीब आ गए।

ये भी पढ़ें: बॉलीवुड के इन सेलेब्स को पहली शादी में नहीं मिली खुशी, दूसरी शादी करने का लिया फैसला

kishore_kumar_madhubala.jpg

किशोर कुमार और मधुबाला एक-दूसरे से प्यार करने लगे। ऐसे में एक दिन किशोर ने उनसे शादी के लिए पूछा तो उन्होंने तुरंत हां कर दी। साल 1960 में दोनों ने शादी कर ली। उस वक्त मधुबाला की उम्र 27 साल की थी। शादी के बाद दोनों लंदन गए। यहां एक दिन अचानक मधुबाला की तबीयत खराब हो गई। डॉक्टर को दिखाने पर पता चला कि मधुबाला के दिल में छेद है। डॉक्टरों ने साफ कह दिया था कि वह बस दो साल तक जिंदा रहेंगी। शादी के कुछ वक्त बाद ही मधुबाला और किशोर कुमार को बड़ा झटका लग गया था।

ये भी पढ़ें: सैफ अली खान ने क्यों की थी 10 साल छोटी करीना कपूर से शादी?

ऐसा भी कहा जाता है कि जब किशोर कुमार को मधुबाला की बीमारी का पता चला तो उन्होंने मुंबई में एक घर लेकर नर्स और ड्राइवर के साथ उन्हें वहां छोड़ दिया। हालांकि, मधुबाला की बहन मधुर ने एक इंटरव्यू में बताया था कि किशोर कुमार ने उन्हें उनके मायके छोड़ा था। उनका कहना था कि वह अक्सर काम के सिलसिले में बाहर रहते हैं। ऐसे में वह उनका अच्छे से ख्याल नहीं रख पाएंगे। किशोर कुमार ने मधुबाला का आखिरी वक्त तक खर्च उठाया। वह उनसे हर एक-दो महीने में मिलने आया करते थे। 9 साल तक लगातार मधुबाला का ख्याल रखते रहे। दिन पर दिन उनकी हालत खराब होती जा रही थी। उनके नाक और मुंह से उन्हें खून की उल्टियां होने लगी थी। आखिरकार, 23 फरवरी 1969 को मधुबाला ने दुनिया को अलविदा कह दिया।