scriptMalaika reveals what it means to be a judge on the reality show - | मलाइका ने बताए रियलिटी शो - इंडियाज़ बेस्ट डांसर 2 में जज होने के मायने! | Patrika News

मलाइका ने बताए रियलिटी शो - इंडियाज़ बेस्ट डांसर 2 में जज होने के मायने!

एक्ट्रेस एवं फिटनेस प्रेमी मलाइका अरोड़ा निश्चित रूप से भारतीय टेलीविजन पर सबसे पसंदीदा जजों में से एक हैं। उन्हें इस बात की खुशी है कि इंडियाज़ बेस्ट डांसर के पहले सीजन की जोरदार सफलता के बाद भी इस फ्रैंचाइजी के साथ...

जयपुर

Published: October 29, 2021 08:11:11 pm

एक्ट्रेस एवं फिटनेस प्रेमी मलाइका अरोड़ा निश्चित रूप से भारतीय टेलीविजन पर सबसे पसंदीदा जजों में से एक हैं। उन्हें इस बात की खुशी है कि इंडियाज़ बेस्ट डांसर के पहले सीजन की जोरदार सफलता के बाद भी इस फ्रैंचाइजी के साथ उनका संबंध जारी है। अब इस फ़ेस्टिव सीजन में, सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन अपना सबसे बड़ा डांस रियलिटी शो 'इंडियाज़ बेस्ट डांसर - सीजन 2' लेकर आया है! जहां ये शो इस वीकेंड शुरू होने जा रहा है वहीं, मलाइका अरोड़ा इस सीज़न की थीम, शो के टैलेंट और अपने को-जजेस के साथ अपने शानदार तालमेल के बारे में चर्चा करती हैं।

प्रस्तुत हैं इस चर्चा के कुछ अंश।

dance_show.png

1. आप मुख्यधारा के दो रियलिटी शोज़ की जज हैं - एक फैशन के इर्द-गिर्द घूमता है और दूसरा शो है इंडियाज़ बेस्ट डांसर। आपके अनुसार इन दो रियलिटी शोज़ को जज करने में मुख्य अंतर क्या है?

मुख्य अंतर निश्चित रूप से कला है। एक तरफ कंटेस्टेंट अपने डांसिंग स्किल्स को निखारने की कोशिश कर रहे हैं तो दूसरी तरफ अपने मॉडलिंग एटिकेट्स को। लेकिन एक जज के रूप में मैं कहूंगी कि दोनों में समान बात यह है कि आपको दोनों शो के प्रतियोगियों के साथ जुड़ना होता है। यदि उनसे जुड़ाव नहीं है तो जज करना और उन्हें यह बताना मुश्किल हो जाता है कि उन्हें अपनी परफॉर्मेंस के साथ आगे क्या करना है।

यह भी पढ़ें

जब एक सीन के लिए आशुतोष गोवारिकर ने लिया था 100 हथिनियों का ऑडिशन

2. आपका फीडबैक देने का तरीका बहुत ही विनम्र और शालीन है। हालांकि, जहां सख्ती की जरूरत होती है, वहां आप पीछे नहीं रहतीं। क्या ये एक सोची-समझी कोशिश है?

हां, मुझे लगता है, जैसे यदि मुझे अपने बच्चे को या अपनी बहन के बच्चों को कुछ बताना है। मुझे लगता है कि मैं ऐसा ही करूंगी। मैं प्रतियोगियों के साथ वैसा ही व्यवहार करती हूं जैसा मैं अपने बच्चों के साथ करती हूं। अगर कड़ी डांट की भी जरूरत हो, तो मैं करूंगी लेकिन वो भी प्यार के के साथ। मैं असल में बहुत सख्त हो सकती हूं, लेकिन मैं कोशिश करती हूं कि वैसी ना रहूं।

3. हमने सुना है कि इस बार इंडियाज़ बेस्ट डांसर के जजों को ज्यादा डांस और कम स्टंट की तलाश है। हालांकि ये स्टंट्स और लिफ्ट्स अपने आप में डांस का ही एक रूप है। आप प्रतियोगियों को यह कैसे कहते हैं?

मुझे लगता है कि अगर आपको अपने बेस्ट मूव्स दिखाने के लिए 2 मिनट का समय दिया गया है और आप केवल लिफ्ट्स और स्टंट्स करते हैं, तो यह सही नहीं है। लेकिन उन 2 मिनटों में अगर आप हमें कुछ स्टंट और लिफ्ट के साथ अपना सर्वश्रेष्ठ नृत्य कौशल दिखा सकते हैं, तो क्यों नहीं। तब यह बिल्कुल ठीक रहेगा। मुझे इससे कतई ऐतराज नहीं है। लेकिन निश्चित रूप से डांस आपका प्रमुख हिस्सा होना चाहिए। लेकिन मैं ये भी कहूंगी मुझे मनोरंजन चाहिए, और मैं कुछ अलग और नया देखना चाहती हूं। तो थोड़ा-थोड़ा सबकुछ चलता है।

यह भी पढ़ें

क्या सबके सामने यूलिया वंतूर ने की सलमान खान की बेईज्जती, वीडियो देख खुद करें फैसला

4. आपको क्लासिकल डांस का शौक रहा है। आप इसे कितना पसंद करती हैं और क्या आप इसे और सीखना चाहेंगी?

जब मैं छोटी थी, तब मैं क्लासिकल डांस सीखती थी। हालांकि मैंने ट्रेनिंग पूरी नहीं की। तो हां, मैं हमारे शो में कुछ क्लासिकल डांस परफॉर्मेंस देखने के लिए वाकई उत्सुक हूं, क्योंकि मुझे लगता है कि युवा पीढ़ी इन डांस फॉर्म्स को भूल रही है। आजकल हर कोई हिप-हॉप, ब्रेक डांसिंग आदि में लगा हुआ है, और लगता है कि शास्त्रीय नृत्य थोड़ा पीछे है। लेकिन जब कोई थोड़ा-सा फ्यूजन करता है यानी शास्त्रीय और पश्चिमी डांस फॉर्म्स को मिलाता है, तो मुझे ये बहुत पसंद आता है। मुझे लगता है कि आपको उस नएपन को भी स्वीकार करना चाहिए और सिर्फ पुराने फॉर्म्स पर नहीं अटकना चाहिए।

5. आप ऐसे पेशे का हिस्सा हैं, जिसमें आपसे बहुत ज्यादा उम्मीदें की जाती हैं। ऐसे में आप अपनी निजी और पेशेवर जिंदगी के बीच कैसे संतुलित बनाती हैं?

मुझे लगता है कि इस पेशे की यही खूबी मुझे आगे बढ़ाए रखती है! मैं हमेशा नई चीजें करना चाहती हूं, और हर बार नई उपलब्धि हासिल करना चाहती हूं। मैं खाली रहकर या एक जैसी चीज़ें करके खुश नहीं रह सकती हूं। मैंने अपने करियर की शुरुआत मॉडलिंग से की, फिर मैं टेलीविज़न में आई, टेलीविज़न से फ़िल्मों में और अब फ़िल्मों से अपना व्यवसाय शुरू करने में सक्षम हुई हूं। इसलिए, मुझे लगता है कि मैं हमेशा नई चीजों की खोज करना चाहती हूं और कभी भी एक ढर्रे पर नहीं रहना चाहती। मैं ज़िंदगी को हर तरह से एंजॉय करना चाहती हूं और मुझे इससे जो भी हासिल हो, उसे खुली बाहों से स्वीकार करना चाहती हूं।

यह भी पढ़ें

इस भयानक हादसे ने रवीना टंडन को बना दिया 'मोहरा' में अक्षय की हीरोइन, वरना नजर आती ये एक्ट्रेस

6. जैसा कि आपने कहा आप बहुत-सी चीजों में सक्रिय हैं - फिटनेस, फैशन, फूड, अलग-अलग बिजनेस और बहुत कुछ। आपके लिए आत्मनिर्भर होना कितना महत्वपूर्ण है?

मेरा मानना है कि आत्मनिर्भरता मेरे अस्तित्व का मूल मंत्र है! इसके अलावा, अपने काम के क्षेत्र में, मैं ऐसे लोगों से मिलकर बहुत खुश और भाग्यशाली महसूस करती हूँ।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयशरीयत पर हाईकोर्ट का अहम आदेश, काजी के फैसलों पर कही ये बातUP Election 2022: आगरा कैंट सीट से चुनाव लड़ेंगी एक ट्रांसजेंडर, डोर-टू-डोर अभियान शुरूछत्तीसगढ़ में 24 घंटे में 19 मरीजों की मौत, जनवरी में ये आंकड़ा सबसे ज्यादा, इधर तेजी से बढ़ रही एक्टिव मरीजों की संख्याRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोRepublic Day 2022: परेड में इस बार नहीं होगी दिल्ली-बंगाल की झांकी, सिर्फ 12 राज्यों ही होंगे शामिलगणतंत्र दिवस को लेकर कितनी पुख्ता राजधानी में सुरक्षा? हॉटस्पॉट्स पर खास सिस्टम से होगी निगरानी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.