सुनील दत्त Birth Anniversary: जब नरगिस को पहली बार देख सुनील दत्त की हो गई थी सिट्टी पिट्टी गुम, जानिए फिर क्या हुआ!

By: Amit Singh
| Updated: 06 Jun 2018, 04:41 PM IST
सुनील दत्त Birth Anniversary: जब नरगिस को पहली बार देख सुनील दत्त की हो गई थी सिट्टी पिट्टी गुम, जानिए फिर क्या हुआ!
sunil dutt

आज हम आपको इस दिग्गज अभिनेता की जिंदगी से जुड़े ५ दिलचस्प पहलुओं का जिक्र करने जा रहे हैं।

6 जून 1929 को पंजाब राज्य के झेलम जिले में अभिनेता सुनील दत्त का जन्न हुआ था। लेकिन अब यह इलाका पाकिस्तान में है। उनका असली नाम बलराज दत्त था। उन्होंने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत फिल्म 'मदर इंडिया' से की। उसी फिल्मी ने उन्हें आसमान की बुलंदियों पर चढ़ा दिया। उनकी पहली फिल्म 'मदर इंडिया' को दर्शकों ने खूब सराहा और उसे काफी पसंद किया। सुनीत दत्त ने रेडियो सिलोन में बतौर अनाउंसर काम किया है। वहां से शुरु हुआ उनका सफर जिस मुकाम तक पहुंचा वो काफी प्रेरक हैं। अपने 40 साल के लंबे करियर के दौरान सुनील दत्त ने 20 से ज्यादा फिल्मों में विलेन के किरदार को किया है। आज हम आपको इस दिग्गज अभिनेता की जिंदगी से जुड़े ५ दिलचस्प पहलुओं का जिक्र करने जा रहे हैं।

 

Sunil Dutt

बाल-बाल बचे थे प्लेन क्रेश में
सन् २००१ में मुंबई लौटने के दौरान नासिक के करीब सुनील दत्त का विमान हादसे की चपेट में आ गया था। इस हादसे में सुनील दत्त के कंधे और पैर चोटिल हो गए थे। लेकिन किस्मत से सुनील दत्त को कुछ भी नहीं हुआ और वह बाल- बाल बच गए थे।

मुंबई से अमृतसर की पैदल शांति यात्रा
सुनील को अपने शांति के प्रयासों के लिए भी जाना जाता हैं। उन्होंने १९८७ को दौरान महाशांति पदयात्रा का आयोजन किया था। इस दौरान उन्होंने ७८ दिनों में अपनी बेटी प्रिया और ८० अन्या लोगों के साथ करीब २००० किलोमीटर की यात्रा तय की थी। यह पदयात्रा में पंजाब में खलिस्तान आंदोलन के कारण उपजे हालात को शांत करने के लिए किया गया था।

 

Sunil Dutt

१९९४ के मुंबई बम बलास्ट में लिया स्टैंड
सुनील दत्त ने ना सिर्फ पंजाब बल्कि मुंबई में भी शांति स्थापित करने का प्रयास किया था। बाबरी मस्जिद विध्वंश और मुंबई बम ब्लॉस्ट के बाद सुनील दत्त अकेले ऐसे राजनेता थे जो हिदूं और मुस्लिम दोनों के ही घर गए थे। इस दौरान उन्हें जान से मारने के भी काफी धमकियां दी गई लेकिन वह लोगों की मदद करने से पीछे नहीं हटे।

बेस्ट सर्विसेज में की नौकरी
मुंबई लौटने के बाद सुनील दत्त ने हिंदू कॉलेज से जुड़े और मुंबई बेस्ट बेस्ट ट्रासपोर्ट डिवीजन में काम करने लगे। वहां पर वो क्लर्क के तौर पर काम करते थे और करीब १०० रुपए मेहनताना पाते थे।

Sunil Dutt

नरगिस से उनका इंटरव्यू
सुनील दत्त मुंबई के जय हिंदू कॉलेज से पढ़े हैं। अपने कॉलेज फेयरवेल के दौरान उन्हें एंकर कार्यक्रम की एंकर की जिम्मेदारी निभानी थी। कार्यक्रम के दौरान उनकी बोलने की स्टाइल और प्रेजटेंशन स्किल से प्रभावित होकर उन्हें Director DJ Keymer ने रेडियो जॉकी की जॉब भी ऑफर कर दी थी। रेडियो में उन्हें अपना शो भी मिल गया था जहां वो बॉलीवु़ड सितारो के साक्षात्कार लिया करतेे थे। इसी दौरान उन्हें नरगिस का इंटरव्यू भी लेना था। लेकिन नरगिस को देखते ही वो उनकी खूबसूरती पर ऐसे फिदा हुए की वह एक शब्द भी नहीं बोल पाए और वो साक्षात्कार कैंसल कर दिया गया। उसके बाद फिल्मों में डेब्यू करने के बाद सुनील दत्त ने नरगिस के साथ काम भी किया और फिर उन्हीं से उनकी शादी भी हो गई।