scriptTibetan Spiritual Leader Will Released Music Album His 85th Birthday | 84 साल के तिब्बती धर्मगुरू Dalai Lama ने बनाया म्यूजिक एल्बम, अपने 85वें जन्मदिन पर करेंगे लॉन्च | Patrika News

84 साल के तिब्बती धर्मगुरू Dalai Lama ने बनाया म्यूजिक एल्बम, अपने 85वें जन्मदिन पर करेंगे लॉन्च

locationनई दिल्लीPublished: Jun 11, 2020 02:59:16 pm

Submitted by:

Shweta Dhobhal

  • धर्म गुरु दलाई लामा ( Dalai Lama ) ने अपने मंत्रों पर बनाई म्यूजिक एल्बम ( Mantra's music album )
  • अपने 85वां जन्मदिन ( Dalai lama's birthday ) पर करेंगे लॉन्च

Tibetan Spiritual Leader Will Released Music Album
Tibetan Spiritual Leader Will Released Music Album

नई दिल्ली। तिब्बत धर्मगुरू दलाई लामा ( dalai lama ) ज्ल्द ही एक म्यूजिक एल्बम लॉन्च ( Music Video ) करने जा रहे हैं। 1 ट्रेक वाला यह एल्बम उनके 85वां जन्मदिन ( Dalai lamba Birthday ) पर रिलीज़ होगा यानी छह जुलाई को इनर वर्ल्ड ( Inner World ) नाम की यह एल्बम लोगों तक पहुंचेगी। इस एल्बम में दलाई लामा द्वारा बनाए गए मंत्रों ( Dalai Lama's Mantra) को सुना जाएगा। लेकिन आपको बताते हैं कि इस म्यूजिक एलब्म को बनाने की प्रेरणा आखिर उन्हें कहां से मिली।

दरअसल, दलाई लामा को न्यूजीलैंड के एक बैंक काम करने वाली कर्मचारी जुनेल कुनिन ( Junel Kunin ) ने यह सुझाव दिया था। कुनिन का मनाना है कि वह काफी समय से खुद को शांत रखने के लिए और अपने जीवन पर ध्यान देने के लिए दलाई लामा द्वारा बनाए गए मंत्रों की खोज कर रही थीं। उन्होंने इंटरनेट ( Internet ) पर भी काफी खोज की लेकिन हर बार उनके हाथ निराशा लगी। फिर उन्होंने दलाई लामा से मिलने की बहुत कोशिश की। कुनिन ने मिलते ही दलाई लामा ( Kunin Met Dalai Lamba ) से अपनी समस्या का समाधान करने की बात की। अब पांच साल बाद दलाई लामा अपने मंत्रों की एल्बम के साथ जल्द ही उसे लॉन्च करने वाले हैं।

'इनर वर्ल्ड' एल्बम को बनाने में कुनिन और उनके पति का बहुत बड़ा हाथ भी है। कुनिन भी एक गायिका हैं और उनके पति संगीतकार ( Kunin husband ) और निर्माता हैं। इस एल्बम जहां उनके पति ने कई म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट ( Played Musical Instrument) बजाए हैं। वहीं कुनिन ने एलब्म में लगभग तीन गीतों ( Kunin Sing three songs ) को अपनी आवाज़ दी है। दलाई लामा के बारें में बात करें तो उन्हें दुनिया के अधिकांश लोग जानते हैं। वह पूरी दुनिया में घूमकर लोगों को शांति का संदेश देते हैं। वह 81 साल के तिब्बती आध्यात्मिक नेता है। 1409 में जे सिखांपा ( J Sikhampa ) ने 'जेलग स्कूल' ( Jelag School ) की स्थापना की थी। इस स्कूल के माध्यम से ही उन्होंने बौद्ध धर्म ( Buddhism ) का प्रचार करना शुरू किया था।

ट्रेंडिंग वीडियो