गजब: गाजियाबाद के बाद बुलंदशहर में फहराया गया सबसे ऊंचा तिरंगा

69वां गणतंत्र दिवस पर बुलंदशहर की पुरानी जेल परिसर में 125 फीट ऊंचा राष्ट्रध्वज फहराया गया।

By: lokesh verma

Updated: 26 Jan 2018, 05:46 PM IST

बुलंदशहर. 69वां गणतंत्र दिवस उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में धूमधाम व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर आजादी के दिवानों की स्थली यानी बुलंदशहर की पुरानी जेल परिसर में 125 फीट ऊंचा राष्ट्रध्वज फहराया गया। इस दौरान शासन के प्रतिनिधि व बुलंदशहर नगर सीट से सांसद भोला सिंह ने ध्वजारोहण करते हुए नमन राष्ट्रध्वज को नमन किया। उन्होंने इस मौके पर कहा कि बुलंदशहर के लोग हवा में लहराते 125 फीट ऊंचे तिरंगे झंडे को देखकर गौरवान्वित महसूस करेंगे।

यह भी पढ़ें- गजब: सीएम योगी के नाम सुसाइड नोट छोड़ गंगा में कूदने वाली महिला चंडीगढ़ में मिली

बुलंदशहर की पुरानी जेल परिसर में आयोजित कार्यक्रम में स्कूल बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर शहीदों को याद किया तो सभी की आंखों में गर्व मिश्रित अश्रु की धारा बह गई। जिलाधिकारी डॉ. रोशन जैकब ने शहीदों के परिजनों को राहत देने के लिए इस अवसर पर एक कोष की घोषणा भी की। इस कोष में जनपद के प्रशासनिक अधिकारियों व कर्मचारियों ने एक दिन का वेतन देने की घोषणा की है। साथ ही कार्यक्रम में आए सभी अतिथियों ने सहयोग राशि के रूप में राहत कोष में धनराशि भेट की।

बता दें कि पुरानी जेल स्थित पार्क में राष्ट्रीय ध्वज लगाने पर 15 लाख रुपए का खर्चा आया है। पहले झंडे की ऊंचाई को 150 फीट तय किया गया था, लेकिन बाद में इसकी ऊंचाई को कम करते हुए 125 फीट कर दिया गया।

यह भी पढ़ें- सगा भाई बोला- तू अपना है, इतनी जमीन का क्या करेगा और मार दी गोली

गाजियाबाद का सबसे ऊंचा तिरंगा

यह भी बता दें कि 69वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर गाजियाबाद के मुखर्जी पार्क में यूपी का सबसे ऊंचा तिरंगा 205 फीट पर फहराया गया है। इस झंडे को लगाने में 22.73 लाख रुपए का खर्चा आया है। बता दें कि इससे पहले झंडे की ऊचांई 180 फीट तय की गई थी, लेकिन बाद में इसकी ऊंचाई को बढ़ाकर 205 फीट कर दिया गया था।

यह भी पढ़ें- योगीराज में तड़प-तड़पकर मर गई बेजुबान गाय, लेकिन नहीं पहुंचे गो रक्षा दल के सदस्य

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned