ग्राहक बनकर बाजार में पहुंचे अफसर, 4 दुकानों को किया सील, केस दर्ज

- मुनाफाखोरी पर लगाई फटकार

By: Amiruddin Ahmad

Published: 22 Apr 2021, 11:03 AM IST

बुरहानपुर. कोरोना कफ्र्यू में बाजार के दुकानदारों द्वारा मुनाफाखोरी और कोविड गाइडलाइन का पालन नहीं करने की शिकायतें मिलने के बाद प्रशासनिक अफसर ग्राहक बनकर दुकानों पर पहुंचे। 4 दुकानों को सील करने की कार्रवाई की गई।
नायब तहसीलदार मंजू डावर, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी भूपेंद्र चोपड़ा ग्राहक बनकर बरकत ट्रेडिंग दुकान पर पहुंचे। 5 लीटर सोयाबीन तेल, एक किलो तुअर दाल को खरीदा गया।सोयाबीन तेल की कीमत 715 होने के बाद भी 750 रुपए में बेचा गया। तुअर दाल 100 रुपए प्रति किलो होने पर 105 रुपए में दी गई। दोनों सामान का दुकानदार द्वारा अफसरों को कच्चा बिल बनाकर दिया गया। एमआरपी रेट से अधिक कीमत में सामान बेचने और मुनाफाखोरी होने पर एसडीएम काशीराम बड़ोल पुलिस बल के साथ कार्रवाई करने के लिए दुकान पर पहुंचे। मुनाफाखोरी करने पर दुकानदार को टीआइ ने फटकार भी लगाई।
पुलिस ने दर्ज किया केस
कोतवाली थाना प्रभारी गिरवरसिंह जलोदिया ने बताया कि बरकत टे्रडिंग संचालक मोहम्मद याकूब पिता इस्माइल के खिलाफ धारा 188, 51 आपदा अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।मुनाफाखोरी और कालाबाजारी की धाराएं खाद्य विभाग से जांच प्रतिवेदन मिलने के बाद शामिल किया जाएगा।इस तरह के मामले में आवश्यक वस्तु अधिनियम, बीसी एक्ट सहित अन्य खाद्य वस्तु एक्ट के तहत भी प्रकरण दर्ज किया जा सकता है।
किराना, अनाज और मसाला दुकान सील
प्रशासनिक टीम ने दुकानों पर ग्राहकों की भीड़ लगाकर सामान देने, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने पर तीन दुकानों को भी सील किया। जिसमें अमित सालवानी किराना, अनिस मसाला और गोपीनाथ पोंगा पपड़ी विक्रेता की दुकान शामिल है। धारा 188 एवं 51 आपदा अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई।

Show More
Amiruddin Ahmad
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned