निवेशकों पर असर नहीं छोड़ पाए अंबानी, कंपनी का शेयर 3% टूटा, 2 दिन में डूबे सवा लाख करोड़

 

 

मुकेश अंबानी की घोषणा के बाद कल रिलायंस का शेयर टूटा था। कंपनी का शेरूर आज फिर 3 फीसदी टूट गया। दो दिन में रिलायंस में निवेश करने वालों को करीब 1.3 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है।

By: Dhirendra

Updated: 25 Jun 2021, 06:41 PM IST

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी द्वारा गुरुवार को एजीएम में की गई ताबड़तोड़ कारोबारी घोषणा का बुरा असर आज बाजार पर साफ दिख रहा है। कल कंपनी का शेयर लगभग डेढ़ पर्सेंट तक टूटने के बाद आज कंपनी का शेयर 3% तक टूट गया। इसका परिणाम यह हुआ कि दो दिन में रिलायंस में निवेश करने वालों को करीब 1.3 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हो चुका है।

तेजी से गिरी मार्केट कैप
दो दिन में रिलायंस का शेयर करीब 100 रुपये टूट चुका है। इसके चलते कंपनी की मार्केट कैप में 1.3 लाख करोड़ रुपए की भारी गिरावट आ चुकी है। वित्तीय बाजार के जानकारों की राय है कि निवेशक रिलायंस से और बड़े ऐलानों की उम्मीद लगा रहे थे।


एजीएम के बाद से जारी है मार्केट कैप में गिरावट

शुक्रवार सुबह से ही रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर टूट रहा है। इस समय 2,081 रुपए पर कारोबार कर रहा है। इसका मार्केट कैप 13.25 लाख करोड़ रुपए हो गया है। कल बाजार बंद होते समय शेयर 2,153 रुपए पर जबकि मार्केट कैप 13.65 लाख करोड़ रुपए था। यानी दो दिनों में अंबानी के शब्दों से 70 हजार करोड़ मार्केट कैप में गिरावट आई है।

Read More: Reliance AGM 2021: मुकेश अंबानी बोले- कंपनी का रिटेल कारोबार कुछ सालों में हो जाएगा तीन गुना

निवेशकों पर असर नहीं डाल पाए अंबानी

गुरुवार को रिलायंस इडस्ट्रिज की एजीएम के दौरान मुकेश अंबानी ने ढेर सारी घोषणाएं की थी। इसमें 90 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का विभिन्न परियोजनाओं में निवेश, जियो के नए फोन और रिटेल पर ग्रोथ जैसी बातें कीं। साथ ही सउदी अरामको के साथ दो साल से अटकी डील को भी उन्होंने पूरा करने का संकेत दिया। बाजार के निवेशकों पर उनकी इन बातों का कोई असर नहीं हुआ। AGM के पहले से ही शेयरों में गिरावट थी। हालांकि, उम्मीद थी कि अंबानी कुछ अच्छी घोषणाएं कर सकते हैं। लेकिन उन्होंने जो घोषणाएं की बाजार ने उसे गंभीरता से नहीं लिया। दरअसल, 2019 की एजीएम में मुकेश अंबानी ने सउदी अरामको के साथ 20 पर्सेंट हिस्सेदारी की डील की घोषणा थी। 2 साल बाद एक बार फिर से वही बात उन्होंने कही है कि जल्द ही इसे फाइनल किया जाएगा। निवेशकों को इस पर भी कोई स्पष्ट पिक्चर नहीं दिखी।

आउटस्टैंडिंग शानदार

मुकेश अंबानी ने कहा कि रिलायंस का प्रदर्शन लगातार आउटस्टैंडिंग रहा है। इसका कुल रेवेन्यू 5.40 लाख करोड़ रुपए रहा है। देश की बड़ी कंपनी के रूप में रिलायंस का देश की इकोनॉमी में योगदान अच्छा रहा है। 75 हजार नया रोजगार दिया है। हमारा ऑयल टू केमिकल बिजनेस इकोनॉमी में गिरावट के कारण चुनौतियों से जूझता रहा। अभी भी ग्लोबल लेवल पर रिलायंस ही एकमात्र कंपनी है जो पूरी क्षमता के साथ अपना ऑपरेशन चला रही है और हर तिमाही में फायदा कमा रही है।

कंपनी ने शेयरहोल्डर्स की वैल्यू में 90 अऱब डॉलर का किया निवेश

बता दें कि पिछले 10 सालों में रिलायंस ने देश और शेयरहोल्डर्स की वैल्यू में 90 अऱब डॉलर का निवेश किया है। आने वाले दशक में रिलायंस 200 अरब डॉलर का डायरेक्टली और पार्टनर्स के साथ निवेश करेगा। रिलायंस ने पिछले साल 3 लाख 24 हजार 432 करोड़ रुपए जुटाया था। यह रकम जियो टेलीकॉम, रिटेल और राइट्स इश्यू के साथ अन्य तरीकों से जुटाई गई थी।

Read More: Gold and Silver Rate: 3 दिन बाद फिर गिरा सोना, चांदी की भी चमक हुई फीकी

Web Title: Ambani Could Not Leave Impact On Investors RIL Reliance Industries Market Cap Decreased By 40000 Crores

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned