जल्द सीएनजी कार बाजार में आग लगाने को तैयार है Skoda Rapid, रेंज सुनकर उड़ जाएंगे होश

  • स्कोडा रैपिड के सीएनजी वेरिएंट पर चल रहा है काम, कई बार नजर आई टेस्टिंग में।
  • कंपनी के निदेशक ने ट्विटर पर रैपिड के सीएनजी वेरिएंट पर काम किए जाने की पुष्टि की।
  • कंपनी अगले 12 महीनों में 4 नई कारें लॉन्च करेगी, जिसकी शुरुआत स्कोडा कुशक से होगी।

By: अमित कुमार बाजपेयी

Updated: 09 Mar 2021, 12:45 AM IST

नई दिल्ली। जल्द ही भारत में स्कोडा रैपिड कॉम्पैक्ट सेडान के सीएनजी वेरिएंट के बाजार में आने की संभावना है। इस जानकारी की घोषणा हाल ही में कंपनी के बिक्री और विपणन निदेशक जैक हॉलिस ने एक ट्विटर यूजर के प्रश्न का उत्तर देते हुए की। हॉलिस ने पुष्टि की है कि कंपनी वर्तमान में स्कोडा रैपिड सेडान के सीएनजी वेरिएंट का परीक्षण कर रही है और जब उनके पास शेयर करने के लिए अधिक जानकारी होगी, इसके विवरण की घोषणा की जाएगी।

Must Read: पेट्रोल के बढ़ते दामों के बीच सीएनजी बन सकती है गेम-चेंजर, एक नहीं कई हैं बड़ी वजह

अपने एक ट्वीट में हॉलिस ने यह भी पुष्टि की कि कंपनी अगले 12 महीनों में चार नए मॉडल लॉन्च कर रही है, जो कि स्कोडा कुशक से शुरू होते हैं, जिसे 18 मार्च 2021 को पेश किया जाना है।

बता दें कि CNG स्टेशन पर रैपिड की टेस्टिंग की जासूसी तस्वीरें पहले ही ऑनलाइन आ चुकी हैं। हालांकि, यह पुष्टि नहीं की गई है कि रैपिड सीएनजी चार नए लॉन्च का हिस्सा होगी या नहीं, लेकिन, इस संभावना से इनकार भी नहीं किया जा सकता है।

इस साल स्कोडा नई पीढ़ी की ऑक्टेविया को लॉन्च करने के साथ-साथ पर्फामेंस बेस्ड ऑक्टाविया आरएस सेडान भी लॉन्च करेगी। ट्विटर पर जैक हॉलिस द्वारा पूछे गए यूजर के प्रश्नों ने मुख्य रूप से भारत में बढ़ती पेट्रोल की कीमतों के बारे में अपनी चिंताओं पर अपनी आवाज उठाई, क्योंकि खासकर अब भारत में स्कोडा के डीजल मॉडल नहीं मिलते हैं।

Must Read: कार चालकों के लिए काम की वो 7 बातें, जिन्हें हमेशा करेंगे फॉलो तो हर सफर रहेगा सुहाना

इस प्रकार, रैपिड की तरह अपने अच्छी संख्या में बिकने वाले मॉडल में एक सीएनजी वेरिएंट जोड़ने से कंपनी के लिए एक स्मार्ट कदम बनने की संभावना है। वैश्विक स्तर पर स्कोडा यहां तक कि नई-पीढ़ी की ऑक्टेविया के सीएनजी संस्करण को पेश करती है, जिसे ऑक्टेविया जी-टेक नाम दिया गया है, हालांकि हम यह नहीं मानते हैं कि यह कार जल्द ही भारत आएगी।

यूरोपीय बाजारों में विशेष रूप से बेची जाने वाली ऑक्टेविया जी-टेक अंडरबॉडी में स्थापित तीन टैंकों के साथ आता है जो कुल 17.33 किलोग्राम सीएनजी और 9-लीटर पेट्रोल टैंक के लिए काफी हैं और कुल मिलाकर 690 किमी की संयुक्त रेंज पेश करती है।

रैपिड के रूप में सीएनजी ट्रिम को एक 1.0-लीटर, तीन सिलेंडर TSI टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन मिलने की संभावना है। पेट्रोल वर्जन में इंजन को 175 Nm का पीक टॉर्क और अधिकतम 108 bhp की ताकत पैदा करने के लिए तैयार किया गया है, हालांकि, सीएनजी ट्रिम द्वारा इससे कम आउटपुट की पेशकश करने की संभावना है। इसके ट्रांसमिशन विकल्प में 6-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स शामिल है, साथ ही वैकल्पिक 6-स्पीड टॉर्क कन्वर्टर ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन भी है।

Must Read: पेट्रोल या डीजल में कौन से फ्यूल वाली कार रहेगी आपकी जेब पर हल्की, ऐसे जानें

वहीं, आगामी स्कोडा कुशक के रूप में यह कंपनी के MQB-A0 IN प्लेटफ़ॉर्म पर स्थानीयकृत होने वाला पहला मॉडल है। कॉम्पैक्ट एसयूवी को विशेष रूप से भारतीय बाजारों के लिए डिज़ाइन किया गया है, और यह दो टर्बोचार्ज्ड इंजन में आएगा- रैपिड से मिला 1.0-लीटर यूनिट और कारोक से 1.5-लीटर, चार-सिलेंडर टीएसआई इंजन। बाद वाले मॉडल को मानक के रूप में 7-स्पीड डीएसजी यूनिट मिलेगी।

Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned