script कृषि मेले की सार्थकता खेतों में नजर आनी चाहिए: अर्जुन मुंडा | The Significance Of Agricultural Fair Should Be Visible In The Field | Patrika News

कृषि मेले की सार्थकता खेतों में नजर आनी चाहिए: अर्जुन मुंडा

locationचाईबासाPublished: Feb 03, 2024 07:06:12 pm

Submitted by:

Devkumar Singodiya

केंद्र सरकार की कोशिश है कि हर राज्य खेती में आत्मनिर्भर बने और किसानों की आय बढ़े। हम मजबूत है और किसी के मोहताज नहीं है। हमारे माध्यम से हमारा देश भी सशक्त है।

कृषि मेले की सार्थकता खेतों में नजर आनी चाहिए: अर्जुन मुंडा
कृषि मेले की सार्थकता खेतों में नजर आनी चाहिए: अर्जुन मुंडा

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण व जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा ने खूंटी, झारखंड में पूर्वी क्षेत्र कृषि मेले का शुभारंभ किया। इस मौके पर मुंडा ने कहा कि यह मेला देश के पूर्वी क्षेत्र के किसानों के लिए काफी लाभदायक होगा, जिसकी सार्थकता खेतों में नजर आएगी। केंद्र सरकार की कोशिश है कि हर राज्य खेती में आत्मनिर्भर बने और हमारे किसानों की आय बढ़े। किसानों को गर्व से यह कहने का मौका मिले कि हम किसी के मोहताज नहीं हैं, बल्कि हम मजबूत हैं और हमारे माध्यम से हमारा देश भी सशक्त है।


किसानों की आय बढ़ाकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाएंगे

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के अंतर्गत राष्ट्रीय कृषि उच्चतर प्रसंस्करण संस्थान, रांची के तत्वावधान में कृषि विज्ञान केंद्र, तोरपा, खूंटी में आयोजित इस मेले में पूर्वी राज्यों के हजारों किसान शामिल हुए हैं। यहां मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय मंत्री मुंडा ने कहा कि पूर्वी क्षेत्र में किसानों को परंपरागत खेती के साथ तकनीक से कैसे जोड़ा जाए, उनकी आय बढ़ाते हुए उन्हें आत्मनिर्भर कैसे बनाएं, कृषि संबंधी विभिन्न मुद्दों का समाधान कैसे हो, इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए इस वृहद मेले का आयोजन किया गया है।

ट्रेंडिंग वीडियो