सटटे्बाजी का आरोप के बावजूद TNPL को मिली चुनाव कराने की अनुमति, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश

सटटे्बाजी का आरोप के बावजूद TNPL को मिली चुनाव कराने की अनुमति, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश
Supreme court allows Tamilnadu -cricket-association-to-hold-elections

Purushotham Reddy | Updated: 20 Sep 2019, 06:01:21 PM (IST) Chennai, Chennai, Tamil Nadu, India

Supreme court allows TNPL cricket-association-to-hold-elections: आईपीएल की तर्ज पर शुरू हुई तमिलनाडु प्रीमियर लीग में बड़े पैमाने पर सटट़्ेबाजी का अंदेशा है। IPL TNPL Supreme Court Tamilnadu Premier League

चेन्नई.

वर्ष 2013 में इंडियन प्रीमियर लीग में फिक्सिंग ने भारतीय क्रिकेट जगत को हिला कर रख दिया था अब एक बार फिर फिक्सिंग का जिन्न बाहर आता दिख रहा है। आईपीएल की तर्ज पर शुरू हुई तमिलनाडु प्रीमियर लीग में बड़े पैमाने पर सटट़्ेबाजी का अंदेशा है।

 

इसके बावजूद सुप्रीम कोर्ट ने तमिलनाडु राज्य क्रिकेट संघ को राहत देते हुए पदाधिकारियों के चयन के लिए चुनाव कराने की अनुमति दे दी, लेकिन कोर्ट ने यह भी साफ कर दिया कि चुनाव का जो भी फैसला होगा वह कोर्ट के अधीन होगा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अयोग्यता केवल पदाधिकारियों तक ही सीमित रहेगी।

 

पक्षकार कानूनी मदद ले सकेंगे

न्यायमूर्ति एस ए बोबडे और न्यायमूर्ति एन नागेश्वर राव की पीठ ने कहा कि तमिलनाडु क्रिकेट संघ चुनाव करा सकता है, लेकिन वह परिणाम घोषित नहीं करेगा। परिणाम की घोषणा इस न्यायालय के आदेश के दायरे में आएगी और पक्षकार कानूनी मदद ले सकेंगे।

 

राज्य क्रिकेट संघ की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कहा कि संघ को कम से कम चुनाव कराने की अनुमति दी जाए जिसके बाद न्यायालय ने ये निर्देश दिए।

हालांकि बीसीसीआई के प्रशासकों की समिति के वकील ने आरोप लगाया कि तमिलनाडु क्रिकेट संघ उन कुछ अन्य संघों में शामिल है जिन्होंने बीसीसीआई के संविधान का पालन नहीं किया।

सट्टेबाजों का नियंत्रण
कई सट्टेबाजों ने तमिलनाडु प्रीमियर लीग की एक टीम पर अपना नियंत्रण बना लिया था। पुलिस सूत्रों के मुताबिक चंद्रशेखर के करीबी दोस्तों और क्रिकेटर्स से बातचीत के आधार पर पुलिस को जो जानकारियां मिली है, उससे साफ है कि टीएनपीएल में फिक्सिंग रैकेट सक्रिय था। पुलिस ने कुछ अहम तथ्यों को रिकॉर्ड कर मुंबई और दिल्ली पुलिस के साथ साझा किए हैं।

 

बीसीसीआई की एंटी करप्शन यूनिट ने इस मुद्दे पर शुरुआती जांच बिठाई है। ये जांच तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन के अधिकारियों को सट्टेबाजी के घोटाले से जुड़े कई गुमनाम खत के मिलने के बाद शुरू हुई।

 

तमिलनाडु पुलिस ने भी इन गुमनाम खतों के मिलने की पुष्टि की थी। बीसीसीआई की एंटी करप्शन यूनिट के अधिकारी ने अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया है कि इस लीग के कुछ खिलाडिय़ों से पूछताछ हुई है हालांकि अभी तक किसी टीम मालिक से पूछताछ नहीं हुई है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned