कांग्रेस बोली- सड़क की हालत सबसे बड़ी समस्या, भाजपा ने कहा-हो रहा विकास

कांग्रेस बोली- सड़क की हालत सबसे बड़ी समस्या, भाजपा ने कहा-हो रहा विकास

rafi ahmad Siddqui | Publish: Oct, 13 2018 02:35:54 PM (IST) Chhatarpur, Madhya Pradesh, India

मेरा शहर, मेरा मुद्दा- छतरपुर विधानसभा इलाके में सड़क के मुद्दे पर लोगों की मिलीजुली राय
- सड़क चौड़ीकरण और रिंग रोड बना अह्म मुद्दा

धर्मेंद्र सिंह. छतरपुर। 2 लाख 4 हजार 107 मतदाताओं वाले विधानसभा क्षेत्र छतरपुर में सड़क एक अह्म चुनावी मुद्दा है। वोटर इस मुद्दे पर पक्ष और विपक्ष में खड़े हैं। वहीं पार्टियां भी इसे मुख्य चुनावी मुद्दा मान रही हैं। शहर के अंदर प्रमुख रोड का चौड़ीकरण और शहर के बाहर रिगंरोड का मुद्दा पार्टी और वोटर के लिए महत्वपूर्ण दिखाई दे रहा है। मतदाता सड़क के मुद्दे पर कहीं खुश तो कहीं नाराज नजर आ रहे हैं। सत्ताधारी पार्टी बीजेपी सड़क की बात आते ही विकास का दावा करती हैं, कांग्रेस इसी विकास को छलावा बताकर सड़क को सबसे बड़ी समस्या बता रही है। सड़क का एक मुद्दा, लेकिन इस पर राजनेताओं के अपने-अपने दावे-प्रतिदावे हैं। इस मुद्दे को दोनों पार्टी अपने प्रतिस्पर्धी पर भारी बता रहीं हैं। एक विकास पर जनता के विश्वास तो दूसरा विकास के नाम पर छलावा का हवाला दे रही है।
विकास और परेशानी दोनों बढ़े :
छतरपुर विधानसभा इलाके में सड़क का मुद्दा आते ही वोटर तत्काल प्रतिक्रिया देते हैं, जो खुश हैं और जो नहीं हैं। दोनों अपनी राय बेबाकी से रखते हैं। युवा वोटर एवं लॉ ग्रेजुएट सपना सिंह का कहना है कि शहर में सड़क चौड़ीकरण किया गया, जिससे शहर का मुख्य मार्ग एक आधुनिक शहर जैसा लगने लगा है। लेकिन चौड़ीकरण के काम की लेटलतीफी और भर्राशाही ने परेशान कर दिया है। जितने इलाके में चौड़ीकरण डेढ़ साल पहले हो गया, वहां आज भी बिजली के खंभे सड़क पर खड़े होकर विकास को मुंह चिढ़ा रहे हैं। बाकी बचे जितने इलाके में चौड़ीकरण का काम चल रहा है। वह भी समय पर हो जाता तो विकास का दावा सही है। लेकिन लेटलतीफ के चलते विकास कार्य राहत तो बाद में देता है,आफत पहले होती है। कारोबारी आशीष श्रीवास्तव का कहना है कि सड़क चौड़ीकरण के रूप में शहर का विकास तो हुआ है, विकास हुआ है तो थोड़ा परेशानी तो होती ही है। शहर की सड़कें चौड़ी होना आवश्यक हो गया था। वाहनों की संख्या इतनी बढ़ गई है कि चौड़ीकरण नहीं होता तो जाम से परेशान हो जाते। पेशे से शिक्षिका पूनम जगधारी का कहना है कि शहर में बड़े वाहनों का आना-जाना ,छोटे वाहन चालकों के लिए मुसीबत बन गया था,रिंग रोड बन रहा है। जिस दिन काम पूरा होगा,तब हमें राहत मिलेगी। अभी तो सड़क पर चलने में भारी मालवाहकों का डर सताता रहता है। पेशे से ठेकेदार आरबी रिछारिया का कहना है कि सड़क पर शहर में काम तो हुआ है, लेकिन पेयजल की पाइप लाइन के लिए पुरानी सीसी रोड खोद दी गईं,जिससे समस्या खड़ी हो गई है। कही सड़क सुधारी,तो कही खोद डाली, कुल मिलाकर मिलाजुला कामकाज बीजेपी का रहा है। रिटायर्ड शिक्षक नंदकिशोर सर्राफ का कहना है कि पानी की लाइन के लिए शहर की हर गली की सीसी रोड खोदकर छोड़ दी गई, जिससे लोग पिछले एक साल से परेशान हैं। विकास कार्य के नाम पर जनता की पेरशानी को नजरअंदाज करने से प्लस प्वॉइंट भी माइनस हो रहा है। सड़क के मुद्दे पर किसान बीरेन्द्र सिंह का कहना है कि शहर में चौड़ीकरण, रिंग रोड जैसे बड़े काम बीजेपी करवा रही है। विकास तो हो रहा है, गति कम ज्यादा हो सकती है, लेकिन विकास का दावा गलत नहीं है।
पेट्रोल देश का और सड़क छतरपुर का सबसे बड़ा मुद्दा
जिला कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी जिला अध्यक्ष अनीस खान का आरोप है कि छतरपुर विधानसभा इलाके में सड़क सबसे बड़ी मुद्दा है। पेट्रोल-डीजल के दाम देश की और सड़क छतरपुर विधानसभा की सबसे बड़ी परेशानी है। शहर की मेन रोड का चौड़ीकरण किया गया, 4 फीट का डिवाइडर बना दिया, जिससे चौड़ीकरण का फायदा ही नहीं हुआ। ऊपर से डामर सड़क के किनारे सीसी रोड डाल दी। लेवल भी ठीक नहीं रखा, जिससे दुर्घटनाएं हो रहीं है। शहर के अंदर हर वार्ड, हर गली में पानी की पाइप लाइन बिछाने के लिए सीसी रोड को काटकर यूं ही छोड़ दिया गया, गलियों में सीसी रोड खेदने से वहां रहने वाले लोगों की जिंगदी दुस्वार हो गई। रही बात रिंग रोड की तो नेशनल हाइवे प्रोजेक्ट के तहत बाईपास बनना तय है। लेकिन जिम्मेदारों ने केन्द्रीय सड़क मार्ग एवं परिवहन मंत्री नितिन गड़क री से बातचीत का हवाला देकर रिंगरोड निर्माण का ढिंढोरा पीट दिया। सवाल ये उठता है कि एनएच पहले से बाईपास बना रहा है तो रिंग रोड कहां से आया और आया तो उसका काम क्यों नहीं दिखाई दे रहा। भारतीय जनता पार्टी के नेता जनता के साथ विकास के नाम पर छलावा कर रहे हैं। शहर की जनता चुनाव में इन्हें बताएगी। सड़क के नाम पर किसका विकास हुआ,जनता ने जो परेशानी झेली है,वो भूली नहीं है। चुनाव में विकास के दावों की पोल खुल जाएगी।
विकास किया है, दोबारा बनेगी सरकार :
सड़क के मुद्दे पर भाजपा के जिला महामंत्री जयराम चतुर्वेदी का कहना है कि शहर के बाहरी हिस्से में रिंगरोड का प्रस्ताव राज्यमंत्री ललिता यादव द्वारा भेजा गया था। केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी से छतरपुर में ही बात की गई। उन्होंने रिंग रोड की सहमति दी थी। रही बात काम की तो झांसी और महोबा रोड जुड गए हैं। सागर से नौगांव रोड का सर्वे हो चुका है। सागर से पन्ना रोड और पन्ना रोड से महोबा रोड का प्रस्ताव और काम चल रहा है। एनएच केन्द्र सरकार का हिस्सा है। केन्द्र में भाजपा की सरकार है तो एनएच पर रिंग रोड का काम भाजपा ही तो करा रही है। शहर के अंदर चौड़ीकरण का काम किया गया है। बिजली के खंभे भी पहले चरण के शिफ्ट हो चुकें हैं। दूसरे चरण का काम होना है, जो जल्द ही हो जाएगा। शहर के विकास के लिए भाजपा ने काम किए हैं और कर भी रही है। भारतीय जनता पार्टी की राज्य और केन्द्र, दोनों सरकार ने विकास के कार्य किए हैं। यह जनता को भी पता है। विकास के दम पर ही हमें विश्वास है कि बीजेपी की सरकार दोबारा बनेगी। छतरपुर में कब्जा बना रहेगा।

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned