script BIG NEWS: सावधान...विश्वविद्यालय की परीक्षा में उत्तीर्ण कराने ठग ले रहे ठेका | BIG NEWS: Cheaters are taking contracts to pass university exams | Patrika News

BIG NEWS: सावधान...विश्वविद्यालय की परीक्षा में उत्तीर्ण कराने ठग ले रहे ठेका

locationछिंदवाड़ाPublished: Dec 28, 2023 12:42:16 pm

Submitted by:

ashish mishra

गल्र्स कॉलेज की कई छात्राएं ठगी का हुई शिकार, पुलिस से की शिकायत

First year Documents check in Government college
First year Documents check in Government college
छिंदवाड़ा. राजा शंकर शाह विश्वविद्यालय द्वारा घोषित किए जा रहे परीक्षा परिणाम से नाखुश विद्यार्थी ठगों के चंगुल में फंस रहे हैं। दरअसल विश्वविद्यालय की परीक्षा में उत्तीर्ण कराने को लेकर ठग गिरोह सक्रिय हो गया है। वे बकायदा विश्वविद्यालय की नकली मार्कशिट भी दे रहे हैं। अपराधी विद्यार्थियों का ग्रुप बनाकर उन्हें ठगी का शिकार बना रहे हैं। ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है। जिसमें काफी संख्या में छात्राओं को परीक्षा में उत्तीर्ण कराने के नाम पर ऑनलाइन माध्यम से लाखों रुपए ले लिए गए हैं। छात्राओं ने कोतवाली पुलिस को मामले की शिकायत कर मदद की गुहार लगाई है। ठगी का शिकार हुई एक छात्रा ने बताया कि लगभग छह माह पहले सोशल साइट्स पर मुकेश यादव नामक युवक ने ग्रुप बनाया। उसने खुद को राजमाता सिंधिया गल्र्स कॉलेज का स्टॉफ होना बताया था। ग्रुप में 140 से अधिक छात्राओं को जोड़ा गया। कुछ दिन बाद स्नातक प्रथम वर्ष का रिजल्ट आया जिसमें ग्रुप की कई छात्राएं दो से तीन विषय में फेल हो गई थी। आरोपी मुकेश ने ग्रुप में मैसेज डाला कि कॉलेज में अगर किसी की सप्लीमेंट्री आई है तो वह बिना परीक्षा दिए उत्तीर्ण हो सकती है। आरोपी ने बकायदा अपना एक अलग मोबाइल नंबर-9370452621 जारी किया और उसमें फेल होने वाली छात्राओं से उत्तीर्ण कराने के नाम पर प्रत्येक विषय के लिए 800 रुपए की डिमांड की।
पैसा देने के बाद बढ़ गई लालच
अनुत्तीर्ण छात्राओं ने आरोपी के बताए अनुसार प्रत्येक विषय के हिसाब से पैसे ऑनलाइन माध्यम से भेज दिए। इसके बाद आरोपी फिर से पैसे की डिमांड करने लगा। उसका कहना था कि मार्कशिट अपलोड करने सहित अन्य वजहों से पैसे चाहिए। ठगी का शिकार छात्रा ने बताया कि जब हमने पैसे देने से मना किया तो उसका कहना था कि तुम कभी उत्तीर्ण नहीं हो पाओगी। मैं तुम्हे फिर से फेल कर दुंगा। इसके बाद छात्राओं ने फिर से पैसे ऑनलाइन ट्रांजेक्शन कर दिए।
किसी ने चार तो किसी ने छह हजार रुपए दिए
ठगी का शिकार हुई एक छात्रा ने बताया कि हमारे कॉलेज की एक छात्रा को आरोपी युवक ने उत्तीर्ण होने की मार्कशिट दी थी। उसी पर विश्वास कर कॉलेज की 100 से अधिक प्रत्येक छात्राओं ने आरोपी को 5 से 6 हजार रुपए दे दिए हैं।
तुम परीक्षा मत दो, पास हो जाओगी
कुछ दिन पहले राजा शंकर शाह विश्वविद्यालय द्वारा स्नातक प्रथम वर्ष की सप्लीमेंट्री परीक्षा आयोजित गई थी। छात्राओं ने बताया कि आरोपी ने ग्रुप में पैसे देने वाली छात्राओं से कहा कि वे परीक्षा न दें उनका रिजल्ट बन चुका है। हालांकि कई छात्राओं ने परीक्षा दी तो कुछ छात्राएं आरोपी के बातों में आ गई और उन्होंने परीक्षा नहीं दी।
उठता है सवाल
राजा शंकर शाह विश्वविद्यालय को खुले हुए चार साल हो चुके हैं। सवाल यह है कि विश्वविद्यालय से मार्कशिट बनाकर छात्राओं को कैसे दिए गए। अगर मार्कशिट डुप्लीकेट बनाए गए हैं तो अब तक विश्वविद्यालय को इसकी भनक क्यों नहीं लगी। छात्राओं ने बहुत हिम्मत कर मामले की शिकायत कॉलेज और पुलिस से की है। संभवत: अभी और मामले उजागर हो सकते हैं।
इनका कहना है...
छात्राओं से ठगी का मामला प्रकाश में आया है। उन्होंने शिकायत दी है। मामले की जांच की जा रही है। इसके बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।
उमेश गोल्हानी, कोतवाली प्रभारी

ट्रेंडिंग वीडियो