script मंच पर भिड़े कांग्रेस विधायक और भाजपा जिलाध्यक्ष, महिला ने उछाली चप्पल | Congress MLA and BJP District President clashed on the stage | Patrika News

मंच पर भिड़े कांग्रेस विधायक और भाजपा जिलाध्यक्ष, महिला ने उछाली चप्पल

locationछिंदवाड़ाPublished: Jan 20, 2024 11:04:52 am

Submitted by:

prabha shankar

- छिंदवाड़ा के ग्राम झुर्रे का मामला
- विकसित भारत संकल्प यात्रा के कार्यक्रम में हुआ विवाद
- एक-दूसरे पर लगाए आरोप
- देर रात तक होता रहा थाने का घेराव

Congress MLA and BJP District President clashed on the stage
Congress MLA and BJP District President clashed on the stage

छिंदवाड़ा। परासिया विकासखंड के ग्राम झुर्रे में शुक्रवार को विकसित भारत संकल्प यात्रा कार्यक्रम के दौरान राजनीतिक टिप्पणी से कांग्रेस विधायक सोहन बाल्मीक व भाजपा जिलाध्यक्ष विवेक बंटी साहू समर्थकों के साथ आपस में भिड़ गए। दोनों ने एक-दूसरे पर तीखे शब्दों में आरोप लगाए। इस दौरान एक महिला जनप्रतिनिधि ने चप्पल भी उछाली। इसके बाद भाजपा नेता व कांग्रेस नेता एक के बाद एक शिवपुरी थाने पहुंच गए। देर रात तक प्रदर्शन का सिलसिला चलता रहा।
इस कार्यक्रम में विधायक बाल्मीक व भाजपा जिलाध्यक्ष साहू मंच पर साथ बैठे थे। साहू के उद्बोधन की बारी आई तो उन्होंने कांग्रेस पर आरोपों की झड़ी लगा दी। इससे विधायक बाल्मीक ने मंच पर माइक पकड़ते हुए इसका विरोध शुरू कर दिया। यहीं से विवाद की शुरुआत हुई। दोनों नेता समर्थकों के साथ बहस करने लगे। माइक पर आरोप प्रत्यारोप लगाने लगे। इस दौरान जनपद अध्यक्ष आशा आम्रवंशी ने अपशब्द बोलने का आरोप लगाते हुए भाजपा जिला अध्यक्ष से माइक छीनने का प्रयास किया। धक्का लगने से नीचे गिर गईं।
इस घटनाक्रम में मामला काफी गर्मा गया। दोनों पक्ष के समर्थक नारेबाजी करने लगे। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के अनुसार इस दौरान महिला जनप्रतिनिधि चप्पल उछालते हुए दिखाई दी। स्थिति को संभालने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। इसके बाद भाजपा जिला अध्यक्ष बंटी साहू अपने सहयोगियों के साथ पुलिस थाना शिवपुरी में कार्यवाही की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। इधर कांग्रेस नेता भी लामबंद हुए।


विधायक की गुंडागर्दी, हमले का प्रयास- बंटी साहू

भाजपा जिलाध्यक्ष विवेक बंटी साहू ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि झुर्रे के कार्यक्रम में मैं मंच से अपनी बातें रख रहा था, तभी विधायक सोहन बाल्मीक ने रोका। गुण्डागर्दी करते हुए हमले का प्रयास किया। फिर जनता और बच्चों को गाली देते हुए उन्हें भगाया। यह बदतमीजी उनकी संस्कृति और संस्कार दिखाती है। इसकी शिकायत पुलिस थाने में की गई है। उन्होंने जनपद अध्यक्ष आशा आम्रवंशी के लगाए आरोप के सवाल पर कहा कि अगर उन्होंने कहीं कुछ गलत व्यवहार किया है, तो उसकी वीडियो दिखाएं। जबकि उन्होंने ऐसा कृत्य नहीं किया है।

एससी की महिला जनप्रतिनिधि के साथ अभद्रता- ओक्टे
कांग्रेस जिलाध्यक्ष विश्वनाथ ओक्टे ने कहा कि भाजपा जिलाध्यक्ष ने एक बार फिर अपने चरित्र का परिचय देते हुए मंच से महिला जनप्रतिनिधि से विवाद व परासिया विधायक से बदसलूकी करते हुए उन्हें जाति ***** शब्द से अपमानित किया है। इनकी दो दफा विधानसभा चुनाव में करारी हार हो चुकी है। वर्तमान में किसी भी संवैधानिक पद पर नहीं हैं। इसके बावजूद वे ग्राम झुर्रे में आयोजित शासकीय आयोजन में किस हैसियत से सम्मिलित हुए। सत्ता के मद में आकर परासिया जनपद अध्यक्ष के साथ मंच से अभद्रता की। जिन्हें जनता ने अपना प्रतिनिधि चुनने लायक भी नहीं समझा, वह उन्हें सरेआम अपमानित कर रहे हैं। भाजपा जिस चाल, चरित्र और चेहरे का ढिंढोरा पीटती है, उसका प्रत्यक्ष उदाहरण है।

परासिया विधायक समेत अन्य पर प्रकरण दर्ज
विवाद के बाद मामला शिवपुरी थाना पहुंच गया। थाने के सामने भाजपा जिलाध्यक्ष धरने पर बैठ गए। शासकीय कार्य में व्यवधान होने पर पुलिस ने शिकायत पर विधायक, जनपद अध्यक्ष व अन्य के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है। उद्यानिकी विभाग के उपसंचालक मिहपलाल उइके ने पुलिस को शिकायत की है कि झुर्रे में विकसित भारत संकल्प यात्रा कार्यक्रम चल रहा था। इस दौरान दोनों दलों के नेता मंचासीन थे। मंच पर भाजपा जिलाध्यक्ष बंटी साहू का उद्बोधन चल रहा था तथा वह कांग्रेस पर आरोप प्रत्यारोप लगा रहे थे। इसी दौरान मंच पर बैठे परासिया विधायक सोहन बाल्मीक खड़े हो गए तथा कहा कि यह राजनीतिक मंच नहीं है। इस बात को लेकर कांग्रेस व भाजपा पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच विवाद होने लगा था। इस दौरान वहां उपस्थित अधिकारियों व शासकीय कर्मचारियों ने सभी को विवाद न करने को लेकर समझाया था। इसी दौरान मंच से नीचे खड़ी जनपद अध्यक्ष आशा आम्रवंशी ने चप्पल उतारकर मंच की ओर फेंक दिया था। इस दौरान वहां उपस्थित कर्मचारियों व सुरक्षा बलों के कारण चप्पल किसी को नहीं लगी। इसके बाद विधायक सोहन बाल्मिक, जनपद अध्यक्ष आशा आम्रवंशी, कृपाल शाह मर्सकोले तथा अन्य लोगों ने सभी को कार्यक्रम से जाने के लिए कहने लगे थे, इससे कार्यक्रम बाधित हो गया। शिकायत पर पुलिस ने धारा 353, 355 व 186 का प्रकरण दर्ज किया है।

कांग्रेसी भी पहुंचे थाना
जनपद अध्यक्ष आशा आम्रवंशी के साथ दुव्र्यवहार करने को लेकर विधायक सोहन बाल्मीक के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कांग्रेसी थाना पहुंचे। उन्होंने विवेक बंटी साहू के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करने की मांग की। देर रात को विधायक सहित जनपद अध्यक्ष आशा आमवंशी, सभापति कृपाल शाह मर्सकोले, पांढुर्ना विधायक निलेश उइके, छिंदवाड़ा महापौर विक्रम अहके एवं परासिया विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस नेता व कार्यकर्ता थाना परिसर में डटे रहे।

ट्रेंडिंग वीडियो