भगवान कामतानाथ की मूर्ति से निकली दूध की धारा, दर्शन के लिए उमड़े श्रद्धालु

भगवान कामतानाथ की मूर्ति से दूध की धारा निकल रही है। आस्था में सराबोर आस्थावानों का हुजूम भगवान कामतानाथ के दर्शन के लिए उमड़ पड़ा।

By: shatrughan gupta

Published: 30 Aug 2017, 10:28 PM IST

चित्रकूट. चित्रकूट में बुधवार को उस समय श्रद्धालुओं के बीच कौतुहल उत्पन्न हो गया, जब ये खबर आग की तरह फैली की श्रद्धालुओं की आस्था व विश्वास के प्रमुख केंद्र भगवान कामतानाथ की मूर्ति से दूध की धारा निकल रही है। आस्था में सराबोर आस्थावानों का हुजूम भगवान कामतानाथ के दर्शन के लिए उमड़ पड़ा। भगवान के मुख से निकली हुई दूध की धारा को एकत्र करके प्रसाद के रूप में भक्तों को वितरित किया गया। मंदिर के पुजारी ने बताया की भोर में जब उन्होंने मंगला आरती के लिए मंदिर के कपाट खोले तो मूर्ति के मुख से दूध की धारा निकल रही थी। आश्चर्य से भक्तिभाव में सराबोर पुजारी ने शीघ्र भगवान कामतानाथ की मूर्ति के मुख के नीचे पात्र लगाकर निकलते हुए दूध को एकत्र किया। कुछ समय बाद दूध की धारा निकलनी बंद हो गई। एकत्र हुए दूध को दर्शनार्थियों के बीच प्रसाद के रूप में बांटा गया। इस बीच यह खबर जंगल में आग की तरह फैल गई और भारी संख्या में श्रद्धालु मंदिर पहुंचकर भगवान कामतानाथ के दर्शन के लिए उमड़ पड़े।

पुजारी ने बताया की इससे लगभग 46 वर्ष पहले इसी मूर्ति से दूध की धारा निकली थी, जिसे उस दौरान के तत्कालीन पुजारी श्रीकांत जी ने अपनी आंखों से देखा था और उस दौरान भी भक्तों के बीच यह घटना कौतुहल का विषय बनी थी। गौरतलब है की कामतानाथ भगवान की मूर्ति से अक्सर जलधारा निकलती रहती है, जो आस्थावानों के बीच में किसी चमत्कार से कम नहीं, जबकि दूध की धारा कभी-कभी कई वर्षों के अंतराल पर निकलती है, जिसके सामने आस्थावान नतमस्तक होकर कामतानाथ भगवान की जय जयकार करते हैं। चित्रकूट में पवित्र मंदाकिनी नदी में भी दूध की धारा निकलने की बात कही जाती है और लगभग दस वर्ष पहले मंदाकिनी नदी में दूध की धारा निकली भी थी, जो मीडिया की सुर्खियां बनी थी और भक्तों के बीच आश्चर्य।

उमड़ा श्रद्धालुओं का हुजूम
मंदिर में इस तरह का चमत्कार होने की खबर पूरे जनपद सहित आस पास के इलाकों में फैल गई और देखते ही देखते सुबह होने तक श्रद्धालुओं की भारी भीड़ मंदिर में दर्शन और दूध को प्रसाद के रूप में पाने के लिए उमड़ पड़ी। हर कोई भगवान कामतानाथ के इस चमत्कार नमस्कार करते हुए उनकी जय जयकार कर रहा था। आस्थावान इसे भगवान का प्रत्यक्ष चमत्कार मान रहे हैं। इस बारे में मंदिर के मुख्य पुजारी भरत शरण ने बताया की भोर में जब उन्होंने मंदिर के कपाट खोले तो भगवान की मूर्ति के मुख से दूध की धारा निकल रही थी। पुजारी ने बताया की इससे पहले इसी मंदिर के पुजारी श्रीकांत जी, जिनका तीन वर्ष पहले 90 वर्ष की आयु में निधन हो गया, उन्होंने अपने जीवनकाल में लगभग 46 वर्ष पहले भगवान की प्राचीन मूर्ति के मुख से दूध की धारा निकलते हुए देखी थी और इस चमत्कार का जिक्र वे अन्य पुजारियों के बीच अक्सर किया करते थे। कामतानाथ भगवान की प्राचीन मूर्ति के मुख से दूध की निकलना ये घटना विज्ञान की नजर में चाहे जो हो, परन्तु आस्थावानों की नजर में ये किसी चमत्कार से कम नहीं। चित्रकूट में ये कोई पहली घटना नहीं हुई है, इससे पहले भी कई पवित्र मंदाकिनी नदी में दूध की धारा निकलने की घटना हो चुकी है। श्रद्धालु भगवान की महिमा की चर्चा करते हुए उनके दर्शन को आतुर दिखे।

Show More
shatrughan gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned