दीप्ति का खुलासा, इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने हमारा ध्यान भटकाने की कोशिश की

इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए एकमात्र टेस्ट को ड्रॉ कराने में अहम भूमिका निभाने वाली बल्लेबाज दीप्ति शर्मा ने बताया कि हर ओवर और हर गेंद के बाद इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने हमारा ध्यान भटकाने की कोशिश की।

By: भूप सिंह

Published: 21 Jun 2021, 02:37 PM IST

नई दिल्ली। भारतीय महिला टीम (Indian women Cricket Team) की बल्लेबाज दीप्ति शर्मा (Deepti Sharma) का कहना है कि इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने एकमात्र टेस्ट के अंतिम दिन भारतीय टीम के खिलाड़ियों का ध्यान भटकाने की पूरी-पूरी कोशिश की, लेकिन हम अपने लक्ष्य पर अडिग रहे। दीप्ति ने दूसरी पारी में अर्धशतक जड़ा था और अपनी टीम को हार के मुंह से निकालने में अहम भूमिका अदा की थी। भारत और इंग्लैंड के बीच यह मुकाबला ड्रॉ पर समाप्त हुआ था।

यह भी पढ़ें:—FTC Final: अश्विन का बड़ा बयान बोले-'जिस दिन सीखने की ललक कम हो जाएगी क्रिकेट छोड़ दूंगा'

गेम पर पूरी तरह किया फोकस
दीप्ति ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच ड्रॉ होने के बाद अपने एक इंटरव्यू में कहा, इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने हर गेंद और हर ओवर के बाद ध्यान भटकाने की कोशिश, लेकिन मैंने इसे ज्यादा तूल नहीं दिया। उन्होंने कहा, वे लगातार हमारे करीब आ रहे थे और हमारा ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे थे। मैंने स्नेह राणा के साथ हर गेंद के बाद चर्चा की जिससे मैच पर ध्यान केंद्रित कर सकें।

यह भी पढ़ें:-WTC Final: इशांत ने तोड़ा कपिल देव का रिकॉर्ड, इंग्लैंड की सरजमीं पर अपने नाम किया एक नया रिकॉर्ड

टेस्ट मैच संयम का खेल है
दीप्ति ने कहा, जब मैंने पहली पारी में बल्लेबाजी की तो इससे मेरा मनोबल बढ़ा। टेस्ट मैच संयम का खेल है। आपको बल्लेबाजी या गेंदबाजी करते वक्त गुणवत्ता के साथ खेलना पड़ता है। गौरतलब है कि दीप्ति शर्मा ने पहली पारी में 73 बॉल पर 29 रन की पारी खेली थी तो दूसरी पारी में उन्होंने 168 गेंदों में 54 रन की महत्वपूर्ण पारी खेली। इस मैच में भारत की और से शेफाली वर्मा सबसे ज्यादा रन बनाने वाली खिलाड़ी रही। उन्होंने पहली पारी में 96 और दूसरी पारी में 63 रनों की मैच बचाने वाली पारी खेली।

भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned