विराट कोहली को लेकर VVS Laxman ने कह दी ये बड़ी बात, यकीन कर पाना मुश्किल

-विराट कोहली ( Virat Kohli) ने वर्ष 2008 में वनडे में पर्दापण किया था। वे लगातार तेज गति से रना बना रहे हैं।
- कोहली ने 251 वनडे मैचों की 242 पारियोंम में पूरे कर लिए सबसे तेज 12000 रन।
-सचिन तेंदुलकर (Sahin tendulkar) ने 12000 रन बनाने के लिए कोहली से 58 पारी ज्यादा खेली।
-लक्ष्मण (VVS Laxman ) ने कहा कि दबाव में बेहतर प्रदर्शन करने की कोहली की खास बात है।

By: भूप सिंह

Updated: 04 Dec 2020, 08:22 AM IST

 

नई दिल्ली। पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण (Former Indian Crickter VVS Laxman) ने भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) की तारीफ की है, जिन्होंने हाल में वनडे क्रिकेट (ODI Cricket) में अपने 12000 रन पूरे किए हैं। लक्ष्मण (VVS Laxman) ने कहा कि भारतीय कप्तान (Indian Captain Kohli) ने जिस तीव्रता के साथ 2008 में पदार्पण किया था, उसी तीव्रता के साथ उनमें खेलने की क्षमता है।

कैनबरा टी-20 : आखिरी वनडे में जीत से बढ़ा भरोसा, अतीत के दम पर उतरेगी भारत

कोहली (Kohli) हाल ही में वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 12000 रन बनाने वाले बल्लेबाज बने हैं। उन्होंने बुधवार को ही आस्ट्रेलिया (Australia) के खिलाफ खेले गए तीसरे वनडे में यह उपलब्धि हासिल की है। कोहली ने 251 वनडे मैचों की 242 पारियों में 12000 रन पूरे किए हैं, जबकि सचिन ने 12000 रन बनाने के लिए कोहली से 58 पारी ज्यादा लिए थे।

B’day Special: डांस की दीवानी मिताली ने गेंदबाजों का कराया तांडव, क्रिकेट जगत में सालों तक किया राज, बनाए ये रिकॉर्ड्स

लक्ष्मण ने एक शो में कहा, हां, मुझे लगता है कि जिस तरह से वह प्रत्येक सीरीज में खेले हैं और जिस तरह की तीव्रता के साथ उन्होंने प्रत्येक दिन रन बनाए हैं, वह अविश्वसनीय है, क्योंकि किसी समय मैंने सोचा था कि विराट कोहली के लिए यह सबसे बड़ी चुनौती होगी और वह समय पर जल जाएंगे। लेकिन एक बार भी हमने यह नहीं देखा कि जब विराट क्रिकेट मैदान पर होते हैं तो उनकी ऊर्जा कम होती है, चाहे वो बल्लेबाजी कर रहे हों या फील्डिंग।

ऐसे 5 मौके जब एक साथ खेले पिता-पुत्र, एक मैच में पुत्र पर भारी पड़े पिता, एक भारतीय जोड़ी भी शामिल

कोहली ने 86 टेस्ट में अब तक 7240 और 82 टी20 में 2794 रन बनाए हैं। उनके अब तक 70 अंतर्राष्ट्रीय शतक है, जिसमें 27 टेस्ट में और 43 वनडे में है। लक्ष्मण ने कहा कि दबाव में बेहतर प्रदर्शन करने की कोहली की खास बात है। उन्होंने कहा, अगर आप उनके वनडे रिकॉर्ड को देखें तो पता चलता है कि उन्होंने रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए कितने शतक लगाए हैं। उनपर हमेशा दबाव में स्कोरबोर्ड को चलाते रहने का दबाव रहता है। लेकिन वह उस जिम्मेदारी को निभाते हैं और बेहतर तरीके से बाहर आते हैं।

Show More
भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned