कैनबरा टी-20 : आखिरी वनडे में जीत से बढ़ा भरोसा, अतीत के दम पर उतरेगी भारत

-आखरी और तीसरे वनडे में जीत के चलते टीम इंडिया के हौसले बुलंद। शुक्रवार खेला जाएगा पहला टी20 मैच।
-सिर्फ टी20 के लिए चुने गए खिलाड़ी ही खेलेंगे सीरीज।
-टी20 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत का पलड़ा भारी। 9 नौ में से 5 मैचों में मिली जीत।

By: भूप सिंह

Published: 03 Dec 2020, 07:55 PM IST

कैनबरा। तीसरे और आखिरी वनडे में सम्मानजनक जीत हासिल करने बाद भारतीय टीम शुक्रवार को मनुका ओवल मैदान (Manuka Oval Ground) से आस्ट्रेलिया (australia) के खिलाफ तीन मैचों की टी-20 सीरीज (t20 Series) का आगाज करेगी। आस्ट्रेलिया ने वनडे सीरीज पर 2-1 से कब्जा किया। शुरुआती दो मैचों में जीत हासिल करने के बाद आस्ट्रेलिया को मनुका ओवल मैदान पर खेले गए तीसरे वनडे में हार मिली थी। भारत ने आस्ट्रेलिया को 13 रनों से हराया था और इस जीत से उसका आत्मविश्वास ऊपर होगा।

B’day Special: डांस की दीवानी मिताली ने गेंदबाजों का कराया तांडव, क्रिकेट जगत में सालों तक किया राज, बनाए ये रिकॉर्ड्स

टीम की जीत में अपने प्रदर्शन से प्रभावित करने वाले शार्दूल ठाकुर (shardul thakur) हालांकि इस मैच में नहीं खेलेंगे। टीम प्रबंधन ने साफ कर दिया है कि जो खिलाड़ी सिर्फ टी-20 सीरीज के लिए चुने गए हैं, वही इस सीरीज में खेलेंगे। इसका मतलब है कि ठाकुर के अलावा 57 रन देकर एक विकेट लेने वाले स्पिनर कुलदीप यादव (Kuldeep Yadav) और बतौर सलामी बल्लेबाज 39 गेंदों पर 33 रन बनाने वाले शुभमन गिल भी इस सीरीज में तब तक नहीं खेल पाएंगे, जब तक कोई खिलाड़ी चोटिल न हो। ठाकुर, कुलदीप और गिल वनडे टीम में चुने गए थे।

ऐसे 5 मौके जब एक साथ खेले पिता-पुत्र, एक मैच में पुत्र पर भारी पड़े पिता, एक भारतीय जोड़ी भी शामिल

आस्ट्रेलिया में हालांकि भारत का टी-20 रिकार्ड अच्छा है। भारत ने अभी तक आस्ट्रेलिया में नौ मैच खेले हैं, जिसमें से पांच बार भारत को जीत मिली है। आस्ट्रेलिया तीन बार जीती है, जबकि एक मैच का परिणाम नहीं निकल सका था। एक अहम बात यह है कि भारत ने आस्ट्रेलिया में कभी भी टी-20 सीरीज नहीं गंवाई है।

फैंस ने इन मजेदार Memes के जरिए मनाया जीत का जश्न, गंभीर की लगाई क्लास, हार्दिक-जडेजा बने हीरो

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने पहले वनडे में मिली हार के बाद भारतीय खिलाड़ियों की टी-20 मोड से वनडे मोड में न आने को लेकर आलोचना की थी। ठाकुर ने भी बुधवार को माना कि दोनों प्रारूप काफी अलग हैं। आस्ट्रेलिया और भारत दोनों खिलाड़ियों के लिए सबसे बड़ी चुनौती यही है कि खिलाड़ी 48 घंटों के भीतर कैसे वनडे से अपने आप को टी-20 प्रारूप के ढालते हैं।

विश्व के नंबर-1 बल्लेबाज ने खुद का उड़ाया मजाक बोले-'मुझे मैथ्स की क्लास में लौटना होगा', जानिए क्यों

खिलाड़ियों ने हालांकि एक महीने पहले ही आईपीएल का लंबा सीजन खेला था, लेकिन तीन मैचों की वनडे सीरीज ने उन्हें 50 ओवरों के प्रारूप में ढाल दिया। ठाकुर ने अलग-अलग प्रारूपों में रमने को लेकर आने वाली मुश्किलों के बारे में कहा था,'निश्चित तौर पर यह मुश्किल है। यह अलग प्रारूप है और 50 ओवरों में अलग तरह की क्रिकेट खेली जाती है। खेल काफी तेजी से शुरू होता है। 10 ओवर का पावरप्ले होता है। फिर यह मध्य में धीमा होता जाता है इसके बाद आप फिर 35-40 ओवरों में बल्लेबाजी तेजी से रन बनाते हुए देखते हैं। 40 ओवरों के बाद पाबंदियां खत्म हो जाती हैं और आपके पास घेरे के बाहर एक और फील्डर होता है। इसलिए मैच ऊपर-नीचे होता रहता है।'

भारत के पास हालांकि टी-20 के लिए अलग टीम है, लेकिन 16 में से 14 खिलाड़ी वही हैं जो वनडे टीम में थे। दीपक चहर और वॉशिंगटन सुंदर टी-20 टीम का हिस्सा हैं। आस्ट्रेलिया की वनडे और टी-20 टीम एक ही हैं।

टीमें :

भारत : विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, मयंक अग्रवाल, लोकेश राहुल (उप-कप्तान, विकेटकीपर), श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, हार्दिक पांड्या, संजू सैमसन (विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, वॉशिंगटन सुंदर, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, नवदीप सैनी, दीपक चहर, टी.नटराजन।

आस्ट्रेलिया : एरॉन फिंच (कप्तान), सीन एबॉट, एश्टन एगर, एलेक्स कैरी, पैट कमिंस (उप-कप्तान), कैमरून ग्रीन, जोश हेजलवुड, मोइजेज हेनरिक्स, मार्नस लाबुशैन, ग्लेन मैक्सवेल, डेनियल सैम्स, एंड्रयू टाई, स्टीव स्मिथ, मैथ्यू वेड, मिशेल स्टार्क, एडम जाम्पा।

Show More
भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned