संकट में पाकिस्तान किक्रेट, मिस्बाह ने मुख्य चयनकर्ता पद से इस्तीफा देने का किया ऐलान

मुख्य चयनकर्ता (Chief Selector) और मुख्य कोच (Head Coach) की दोहरी भूमिका निभा रहे मिस्बाह उल हक (Misbah-Ul-Haq) ने मुख्य चयनकर्ता पद से इस्तीफा देने की घोषणा की है...

By: भूप सिंह

Published: 15 Oct 2020, 10:33 AM IST

नई दिल्ली। पाकिस्तान क्रिकेट (Pakistan Cricket) टीम के मुख्य चयनकर्ता (Chief Selector) और मुख्य कोच (Head Coach) की दोहरी भूमिका निभा रहे मिस्बाह उल हक (Misbah-Ul-Haq) ने मुख्य चयनकर्ता पद से इस्तीफा देने की घोषणा की है। हालांकि वह मुख्य कोच के पद पर बने रहेंगे। मिस्बाह (Misbah) सितंबर 2019 से ही दोनों पदों पर अपनी भूमिका निभा रहे हैं। मिस्बाह ने कहा है कि उन्होंने अगले दो साल में आगे आने वाले काम के दबाव को देखते हुए मुख्य चयनकर्ता के पद से हटने का फैसला किया है और अब वह मुख्य कोच की भूमिका पर अधिक ध्यान लगाना चाहते हैं।

RCB vs KXIP Match Preview : पंजाब को अब क्रिस गेल का सहारा, बेंगलुरु से होगी भिड़ंत

मिस्बाह ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'कोचिंग मेरा जुनून है और मेरा अंतिम उद्देश्य खिलाड़ियों के विकास में योगदान देना और टीम को बड़ी सफलता हासिल करने में मदद करना है। जब मुझे पिछले साल नियुक्त किया गया था, तो मुझे पहले कोचिंग की भूमिका की पेशकश की गई थी और फिर चयन समिति के प्रमुख का भी विकल्प दिया गया था, जिसे मैंने विनम्रतापूर्वक स्वीकार कर लिया था।'

टी20 में 100 स्टंपिंग करने वाले दुनिया के पहले विकेटकीपर बने कामरान

एक भूमिका पर केंद्रित होने की जरूरत
उन्होंने कहा, 'पूर्ण प्रवाह में नई क्रिकेट एसोसिएशन प्रणाली के साथ, मुख्य चयनकर्ता को जितना संभव हो उतना घरेलू क्रिकेट देखने में सक्षम होना चाहिए। 24 महीने के बाद अब बड़े होने के साथ, हम पारस्परिक रूप से सहमत हुए हैं कि अब मेरे लिए पूरी तरह से एक भूमिका पर केंद्रित होने की जरूरत है। मिस्बाह हालांकि एक दिसंबर से नए मुख्य चयनकर्ता के कार्यभार संभालने तक अपनी भूमिका को जारी रखेंगे।'

DC vs RR: राजस्थान के खिलाफ मैच में दिल्ली के स्टार खिलाड़ी श्रेयस चोटिल

दोहरी भूमिका का लिया आनंद
मिस्बाह ने कहा, 'मैंने इस दोहरी भूमिका का बखूबी आनंद लिया, लेकिन पिछले 12 महीने की समीक्षा के बाद और अगले 24 महीने के अपने कार्यकाल को देखते हुए मैंने यह फैसला लिया है।' इस बीच, पीसीबी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वसीम खान ने कहा कि बोर्ड मिस्बाह के फैसले का तहे दिल से सम्मान करता है।

पीसीबी ने एक बयान में कहा, जब उन्होंने राष्ट्रीय मुख्य कोच की भूमिका निभाई, तो उस समय की परिस्थितियों के कारण हमें मुख्य चयनकर्ता की भूमिका निभाने की भी जरूरत थी। बोर्ड ने कहा, पाकिस्तान के पास तीन वैश्विक कार्यक्रम हैं, जिनमें दो एशिया कप और आईसीसी टी 20 विश्व कप 2021 हैं। साथ ही अगले 24 वर्षो में 10 फ्यूचर टूर प्रोग्राम प्रतिबद्धताएं हैं। राष्ट्रीय टीम के मुख्य कोच के रूप में उन्होंने अपनी प्राथमिकताओं पर भरोसा किया है कोचिंग पर पूरी तरह से ध्यान केंद्रित करके वांछित परिणाम उत्पन्न करने का एक बेहतर मौका। हम इस पर उनकी सोच का समर्थन करके बहुत खुश हैं।

धोनी ने की सैम कुरैन की जमकर तारीफ, बोले-'वह एक संपूर्ण क्रिकेटर हैं'

मिस्बाह के मुख्य चयनकर्ता और मुख्य कोच रहते पाकिस्तान ने सिर्फ दो सीरीज खेली है जहां उसे मिलीजुली सफलता मिली थी। पाकिस्तान ने इस साल जनवरी में बांग्लादेश के साथ सीरीज खेली थी, जहां उसे तीन टी-20 मैचों की सीरीज में 2-0 से हार का सामना करना पड़ा था, जबकि पहले टेस्ट मैच के बाद कोरोना के कारण यह सीरीज बीच में ही रोकनी पड़ी थी। पहले टेस्ट में हालांकि पाकिस्तान को जीत मिली थी।

Show More
भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned