कभी पाई पाई को मोहताज थे टी नटराजन, अब ऑस्ट्रेलिया धुरंधरों को दिखाएंगे अपना दमखम, जानिए खाक से खास तक का सफर

-टी20 के बाद तमिलनाडु के होनहार गेंदबाज टी नटराजन की वनडे टीम में हुई एंट्री।
-किंग्स इलेवन पंजाब ने पहली बार नटराजन पर जताया था भरोसा। 2017 में 3 करोड़ में खरीदा।
-सनराजइर्स हैदराबाद ने दिया पहला मैच खेलने का मौका। डेथ ओवर में यॉर्कर फेंकने के बने एक्सपर्ट।
-नवदीप सैनी के बैकअप के तौर पर हुई नटराजन की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे टीम में एंट्री।

By: भूप सिंह

Published: 28 Nov 2020, 08:43 AM IST

नई दिल्ली। भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच वनडे सीरीज शुरू हो चुकी है। शुक्रवार को हुए पहले वनडे में गेंदबाज और टॉप बल्लेबाजों के निराशाजनक प्रदर्शन के चलते ऑस्ट्रेलिया (Australia) ने भारत (India) को 66 रनों से करारी मात दी। शिखर धवन (Shikhar Dhawan) और हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) के बजाय कोई भी भारतीय बल्लेबाज नहीं चला और गेंदबाजी में भी खूब रन लुटाए। आखिरकार मैच पूरा होने के बाद कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने गेंदबाजों की क्लास लगाते हुए हार का जिम्मेवार ठहराया।

 

टी नटराजन की वनडे टीम में एंट्री
आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) की और से खेलने वाले युवा क्रिकेटर टी नटराजन (T Natarajan) की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे टीम में एंट्री हुई है। बीसीआई की सलेक्शन कमेडी ने यह फैसला लिया है। हालांकि, उन्हें 27 नवंबर को खेले गए मैच में चांस नहीं मिला। नटराजन को नवदीप सैनी (Navdeep Saini) के बैकअप के तौर पर रखा गया है। वहीं सैनी ने पहले वनडे मैच कोई खास प्रदर्शन नहीं किया। वे सस्ते में आउट होकर पैवेलियन लौट गए। बता दें कि नटराजन पहले से ही टी20 टीम में भारत का हिस्सा है।

India vs Australia: वनडे में सबसे महंगे भारतीय स्पिनर बने युजवेंद्र चहल

डेथ ओवर में यॉर्कर डालने में एक्सपर्ट हैं नटराजन
नटराजन को डेथ ओवर्स में यॉर्कर डालने के लिए पहचाना जाता है। उन्होंने आईपीएल में डेथ ओवर्स में यॉर्कर गेंदबाजी करते हुए लगातार बेस्ट बल्लेबाजों को आउट किया है। वह बेहद ही गरीब परिवार से आते हैं। उनके पिता एक मजदूर हैं और उनकी मां सड़क किनारे चिकन बेचती हैं। नटराजन ने आईपीएल में खेलने का मौका मिलने के बाद फीस के तौर पर मिले पैसे से अपने परिवार का दुख दूर करने का प्रयास किया है। पहले माता-*पिता के लिए घर बनाया, अपनी बहनों की पढ़ाई की व्यवस्था की। तमिलनाडु के सलेम जिला स्थित अपने गांव चिन्नापामपट्टी में एकेडमी शुरू की और अपने साथियों को खेल नहीं छोड़ने के लिए प्रेरित किया। यह सब उन्होंने तमिलनाडु की गेंदबाजी विभाग की जिम्मेदारियों को संभालते हुए किया।

डेब्यू मैच में 0 पर आउट हुए थे Suresh Raina, ऐसे बनाए कई सारे रिकॉर्ड्स, हुई नाइंसाफी तो लिया संन्यास

नटराजन का खाक से खास तक का सफर
गौरतलब है कि टी नटराजन को वर्ष 2017 में किंग्स इलेवन पंजाब की और से आईपीएल में खेलने का मौका मिला। पंजाब ने उन्हें 3 करोड़ रुपए में खरीदा। लेकिन 2017 में वह अपने खेल से प्रभावित नहीं कर पाए। इसके बाद नटराजन को वर्ष 2018 में सनराइजर्स ने खरीदा और उन्हें अपना पहला मैच खेलने का मौका मिला। उन्होंने एसआएएच की तरफ से खेलते हुए 16 मैचों में 16 विकेट चटकाए। दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ हैदराबाद की जीत में नटराजन ने अहम भूमिका निभाई थी। उन्होंने 14वें और 18वें ओवर्स में यॉर्कर करके बल्लेबाजों की नाक में दम कर दिया। उन्होंने 4 ओवर में केवल 21 रन ही दिए।

धोनी ने पत्नी साक्षी और बेटी जीवा के साथ लगाए जोरदार ठुमके, वीडियो हुआ वायरल

मां आज भी बेचती हैं चिकन
अपनी यॉर्कर गेंदबाजी की बदौलत क्रिकेट में अपनी खास पहचान बनाने वाले नटराजन ने अपने परिवार के लिए सबकुछ किया, लेकिन उनकी मां आज भी सड़क किनारे चिकन बेचती हैं। लाख कोशिशों के बावजूद नटराजन अपनी मां का सड़क किनारे चिकन बेचना नहीं छूड़ा पाए।

करीब साढ़े 3 महीने बाद पत्नी और बेटियों से मिले डेविड वार्नर, दिल छू लेने वाला वीडियो वायरल

Show More
भूप सिंह
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned