WTC Final: कॅरियर के अंतिम टेस्ट मैच में वॉटलिंग ने कैच लेने के मामले में तोड़ा धोनी का रिकॉर्ड

टेस्ट चैंपियनशिप के छठे दिन लंच से पहले बीजे वॉटलिंग की उंगली में चोट लग गई। फीजियो ने उनकी जांच की तो पता चला की उनकी उंगली डिसलोकेट हो गई है। हालांकि इसके बाद भी वह मैदान पर ही डटे रहे।

By: Mahendra Yadav

Updated: 24 Jun 2021, 09:32 AM IST

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मुकाबले को न्यूजीलैंड टीम ने जीत लिया। बुधवार को खेले गए इस खिताबी मुकाबले के आखिरी दिन कुछ रिकॉर्ड भी बने। न्यूजीलैंड टीम के विकेटकीपर बीजे वॉटलिंग (BJ Watling) के लिए उनके करियर का यह आखिरी टेस्ट मैच था। अंतिम मैच में कुछ कर गुजरने का जज्बा लेकर मैदान पर उतरे वॉटलिंग ने चोट लगने के बावजूद मैदान नहीं छोड़ा और एक बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम किया। वॉटलिंग ने भरतीय टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी का भी रिकॉर्ड तोड़ दिया। टेस्ट चैंपियनशिप के छठे दिन लंच से पहले बीजे वॉटलिंग की उंगली में चोट लग गई। कप्तान विलियमसन का थ्रो पकड़ने के चक्कर में उनकी दाएं हाथ की उंगली में चोट लगी। फीजियो ने उनकी जांच की तो पता चला की उनकी उंगली डिसलोकेट हो गई है। हालांकि इसके बाद भी वह मैदान पर ही डटे रहे।

तोड़ा धोनी का रिकॉर्ड
अपने कॅरियर के अंतिम टेस्ट मैच में न्‍यूजीलैंड के विकेटकीपर बल्‍लेबाज बीजे वॉटलिंग ने महेंद्र सिंह धोनी का टेस्‍ट क्रिकेट में कैच लेने का रिकॉर्ड तोड़ दिया। धोनी ने अपने टेस्‍ट कॅरियर में बतौर विकेटकीपर 166 पारियों में 256 कैच लिए थे। अब यह रिकॉर्ड वॉटलिंग के नाम हो गया है। उन्होंने टेस्‍ट क्रिकेट में 257 कैच पकड़े। वॉटलिंग ने यह रिकॉर्ड मात्र 127 टेस्‍ट मैचों में कर दिखाया है। वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के अंतिम दिन वॉटलिंग ने रवींद्र जडेजा का कैच पकड़ा, यह उनके टेस्ट कॅरियर का 257वां कैच था। वॉटलिंग ने इस पारी में कुल तीन कैच पकड़े।

यह भी पढ़ें— न्यूजीलैंड ने जीता आईसीसी वर्ल्ड चैंपियनशिप का खिताब, टीम इंडिया ने किया निराश

bj_watling_.png

फाइनल मुकाबले से पहले किया सन्यास का ऐलान
भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेन्द सिंह धोनी ने वर्ष 2014 में टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लिया था। वहीं वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मुकाबले से पहले बीजे वॉटलिंग ने इस बात का ऐलान कर दिया था कि यह उनके इंटरनेशनल कॅरियर का अंतिम मैच होने वाला है। मैच के छठे दिन रिजर्व डे पर जब वॉटलिंग बल्‍लेबाजी के लिए आए तो भारतीय कप्‍तान विराट कोहली ने उन्‍हें बधाई दी। साथ ही कोहली ने उन्‍हें अच्‍छे भविष्‍य के लिए शुभकामनाएं दी।

यह भी पढ़ें— WTC Final: तौलिया लपेटकर मैदान पर उतरे मोहम्मद शमी, तस्वीर देख लोग रह गए हैरान

सोशल मीडिया पर वॉटलिंग के जज्बे की तारीफ
मैच के दौरान जब वॉटलिंग की उंगली में चोट लग गई और इसके बावजूद उन्होंने मैदान में ही डटे रहने का फैसला किया तो लोगों ने उनके इस फैसले की तारीफ की। सोशल मीडिया पर वॉटलिंग के इस जज्बे की हर कोई तारीफ कर रहा है। वॉटलिंग 12 साल से न्यूजीलैंड क्रिकेट में सक्रिय रहे हैं।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned