scriptOmprakash Rajbhar is king maker in UP politics from tempo driver | टेम्पो चालक से यूपी की सियासत में किंग मेकर हैं ओमप्रकाश राजभर | Patrika News

टेम्पो चालक से यूपी की सियासत में किंग मेकर हैं ओमप्रकाश राजभर

ओमप्रकाश राजभर अब तक लंबे समय तक किसी दल के साथ नहीं रहे, कब तक करेंगे साइकिल की सवारी यह बड़ा सवाल। पूर्वांचल की राजनीति में सुभासपा की अच्छी दखल है। कांशीराम से सीखा था राजनीति का ककहरा। बसपा, कांग्रेस,भाजपा के बाद अब समाजवादी पार्टी के साथ हैं।

वाराणसी

Updated: December 27, 2021 10:33:15 pm

वाराणसी. टेम्पो चालक से यूपी की सियासत में किंग मेकर तक की भूमिका अदा करने वाले ओमप्रकाश राजभर आज राजभर समाज के बड़े नेताओं में शुमार हैं। कांशीराम से राजनीति का ककहरा सीखने वाले राजभर के बारे में यह सच है कि ज्यादा दिनों तक उनकी किसी से नहीं निभी। बसपा, कांग्रेस, अपना दल से होते भाजपा तक से जुड़े पर उनके बागी तेवर के आगे किसी से उनकी दोस्ती लंबी नहीं खिंची। अब 2022 के यूपी विधानसभा चुनाव के लिए उन्होंने समाजवादी पार्टी का दामन थामा है। आइए जानते हैं ओपी राजभर और उनकी पार्टी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के बारे में...
टेम्पो चालक से यूपी की सियासत में किंग मेकर हैं ओमप्रकाश राजभर
टेम्पो चालक से यूपी की सियासत में किंग मेकर हैं ओमप्रकाश राजभर
पूर्वांचल के कई जिलों में है राजभर का वर्चस्व

सुभासपा के साथ पूर्वांचल के करीब 18-20 फीसद राजभर मतदाता जुड़े होने का दावा है। वाराणसी, देवीपाटन, गोरखपुर व आजमगढ़ मंडल की विधानसभा सीटों पर राजभर जातियों का प्रभाव है। पूर्वांचल के वाराणसी, मिर्जापुर, गाजीपुर, बलिया, मऊ, आजमगढ़, चंदौली, और भदोही में राजभर वोटरों की संख्या 22 फीसदी तक है।
सुभासपा का सफरनामा...

राजा सुहेलदेव राजभर के नाम पर 2002 में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी का गठन हुआ। ओमप्रकाश 1981 में बसपा संस्थापक कांशीराम के आंदोलन से जुड़े और 1996 में कोलअसला (अब पिंडरा) से बसपा के टिकट पर चुनाव लड़े। लेकिन हार गए और बसपा छोड़ दिया। फिर सोनेलाल पटेल की पार्टी अपना दल से जुड़े।
2014 के लोकसभा चुनाव में बढ़ा कद

2007 के विधानसभा चुनाव में राजभर ने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रत्याशी उतारे लेकिन सफलता नहीं मिली। उसके बाद 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में सुभासपा ने कुल 13 उम्मीदवार उतारे। ओमप्रकाश खुद सलेमपुर लोकसभा सीट से चुनाव लड़े। इस चुनाव में पार्टी को कुल 118,947 वोट मिले जिससे ओपी राजभर का कद बढ़ा तो 2017 के चुनाव में सुभासपा ने भाजपा के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ा और चार सीटों पर जीत हासिल की, जबकि इस चुनाव में बीजेपी ने सुभासपा संग मिल कर सूबे में 300 प्लस सीटें जीती थीं। ऐसे में ओपी राजभर योगी सरकार में मंत्री बनाए गए। लेकिन पिछड़ा वर्ग कल्याण और दिव्यांग जन कल्याण मंत्री रहते हुए भी इस समाज के लिए कुछ न कर पाने का आरोप लगाते हुए मंत्री पद छोड़ दिया।
यह भी पढ़ें

राजाभैया, विजय मिश्रा, अतीक ने निर्दलीय जीत कर कायम की अपनी धमक, जानें इतिहास

अब 'भाजपा साफ' का नारा

सुभासपा अब समाजवादी पार्टी से मिलकर चुनाव लड़ेगी। उधर भाजपा राजभरों पर डोरे डालने की जुगत में है। शिवपुर विधानसभा क्षेत्र से अनिल राजभर, राज्यसभा सदस्य सकल दीप राजभर और पूर्व सांसद हरिनारायण राजभर के जरिए भाजपा राजभर वोट पाने की कोशिश में है।
यह भी पढ़ें

यूपी के सभी जिलों में 5 सितारा भाजपा कार्यालय कहां से बना, भाजपा से ओम प्रकाश राजभर का सवाल

बेटे अरविंद के साथ जुटे ओमप्रकाश

Uttar Pradesh Assembly Election 2022 ओम प्रकाश राजभर के बेटे अरविंद राजभर सुभासपा में महासचिव हैं। उन्होंने बलिया जिले की बांसडीह सीट से बीजेपी-सुभासपा के संयुक्त प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ा था। लेकिन चुनाव हार गए थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहकर्नाटक में कोरोना की रफ्तार तेज, 47  हजार से अधिक नए मामलेरामगढ़ पचवारा में बरसे टिकैत, कहा किसानों की जमीन को छीनने नहीं दिया जाएगाप्रदेश के डेढ़ दर्जन जिलों में रेत का अवैध परिवहन जारी, सरकार को करोड़ों का नुकसान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.