scriptRaja bhaiya Vijay Mishra Atiq winning independents election Know Histo | राजाभैया, विजय मिश्रा, अतीक ने निर्दलीय जीत कर कायम की अपनी धमक, जानें इतिहास | Patrika News

राजाभैया, विजय मिश्रा, अतीक ने निर्दलीय जीत कर कायम की अपनी धमक, जानें इतिहास

यूपी की सियासत में राजा-रजवाड़ों की बड़ी भूमिका रही है। इनमें से कुछ की छवि अब दबंग राजनेता के रूप में हो गयी है। इनका दबदबा आज भी कायम है। इसी तरह एक और बाहुबली हैं अतीक अहमद जो पांच बार विधायक रहे और अब जेल में हैं। सुशाील सिंह और विजय मिश्र भी अपने दमखम के आधार पर ही राजनीति में अपनी धमक बना रखी है।

लखनऊ

Updated: December 27, 2021 03:54:34 pm

वाराणसी. यूपी की सियासत में राजा-रजवाड़ों की बड़ी भूमिका रही है। इनमें से कुछ की छवि अब दबंग राजनेता के रूप में हो गयी है। इसी तरह के एक नेता हैं प्रतापगढ़ की कुंडा विधानसभा सीट से पिछले 29 साल से लगातार जीत रहे रघुराजप्रताप सिंह उर्फ राजाभैया। इनका दबदबा आज भी कायम है। इसी तरह एक और बाहुबली हैं अतीक अहमद जो पांच बार विधायक रहे और अब जेल में हैं। सुशाील सिंह और विजय मिश्र भी अपने दमखम के आधार पर ही राजनीति में अपनी धमक बना रखी है।
राजाभैया, विजय मिश्रा, अतीक ने निर्दलीय जीत कर कायम की अपनी धमक, जानें इतिहास
राजाभैया, विजय मिश्रा, अतीक ने निर्दलीय जीत कर कायम की अपनी धमक, जानें इतिहास
प्रतिष्ठित राजपरिवार से ताल्लुक है राजाभैया

कुंडा के विधायक रघुराज प्रताप सिंह ऊर्फ राजा भैया के दादा राजा बजरंग बहादुर सिंह, पंत नगर कृषि विश्वविद्यालय के उपकुलपति (वाइसचांसलर) थे। बाद में यह हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल बने। राजा भैया के पिता राजा उदय प्रताप सिंह विश्व हिंदू परिषद और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मानद पदाधिकारी रह चुके हैं। खुद राजा भैया विधि स्नातक हैं। आज इनकी पूर्वांचल की सियासत में अच्छी खासी दखलंदाजी हैं। राजा भैया पहली बार 1993 में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में कुंडा विधानसभा से जीत हासिल की। अब तक यह 6 बार विधायक रह चुके हैं। यह 1993 और 1996 का विधानसभा चुनाव बीजेपी समर्थित, 2002 और 2007, 2012 का चुनाव एसपी समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में जीते। यूपी की दो सरकारों में यह मंत्री भी बने।
यह भी पढ़ें

यूपी की सड़कों पर अचानक चलने लगी नाव, हैरत में पड़ गई जनता

पांच बार के विधायक अतीक अहमद

पूर्वांचल के ही एक और बाहुबली विधायक हैं अतीक अहमद। 1989 में यह इलाहाबाद पश्चिम विधानसभा सीट से विधायक बने। इसके बाद 1989,1991, 1993,1996 और 2002 में विधायक निर्वाचित हुए। तीन बार निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में जीते। 1996 में सपा और 2002 में अपना दल से जीते। सपा से यह फूलपुर से सांसद भी निर्वाचित हुए।
योगी आदित्यनाथ सरकार में उनके खिलाफ दर्ज मामलों में कार्रवाई चल रही है। सरकार अब तक करीब 355 करोड़ की संपत्ति जब्त कर ली है। इस बार औवेसी ने उन्हें प्रयागराज से टिकट देने की घोषणा की है। इनके पिता फिरोज इलाहाबाद रेलवे स्टेशन पर तांगा चलाते थे। पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक अतीक अहमद पर करीब 80 मामले दर्ज हैं।
यह भी पढ़ें

यूपी के सभी जिलों में 5 सितारा भाजपा कार्यालय कहां से बना, भाजपा से ओम प्रकाश राजभर का सवाल

सुशील सिंह को विरासत में मिली राजनीति

एमएलसी बृजेश सिंह के भतीजे और दो बार एमएलसी रहे उदयनाथ सिंह उर्फ चुलबुल सिंह के पुत्र सुशील सिंह ने 2002 में बसपा के टिकट पर धानापुर विधानसभा सीट से राजनीतिक सफर शुरू किया पर हार गए। लेकिन पांच साल बाद 2007 में चंदौली की धानापुर विधानसभा से निर्वाचित हुए। उस दौरान दाखिल शपथ पत्र के अनुसार सुशील सिंह के खिलाफ 14 मुकदमे दर्ज थे। 2017 के मोदी लहर में सुशील सैयदराजा विधानसभा से दोबारा विधायक बने। तब उनके शपथ पत्र के अनुसार नई दिल्ली, भदोही, चंदौली और वाराणसी जिले में पांच मुकदमे दर्ज रहे।
विजय मिश्र जो थे कमलापति के शिष्य

विजय मिश्र पूर्वांचल के दिग्गज राजनेता रहे पंडित कमलापति त्रिपाठी के शिष्य रहे हैं। बाद में वह सपा से जुड़ गए। सपा के टिकट पर तीन बार विधायक बने। 2017 में विजय को बाहुबली मानते हुए अखिलेश ने उनका टिकट काट दिया। वे निषाद पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़े और जीते। मायावती सरकार में नंद कुमार नंदी पर हुए जानलेवा हमले में सबसे पहले विजय मिश्र का नाम आया। जेल में रहते हुए सपा के टिकट पर चुनाव लड़ा और जीत भी गए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

India-Central Asia Summit: सुरक्षा और स्थिरता के लिए सहयोग जरूरी, भारत-मध्य एशिया समिट में बोले पीएम मोदीAir India : 69 साल बाद फिर TATA के हाथ में एयर इंडिया की कमानयूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रUP Election 2022: भाजपा सरकार ने नौजवानों को सिर्फ लाठीचार्ज और बेरोजगारी का अभिशाप दिया है: अखिलेश यादवतमिलनाडु सरकार का बड़ा फैसला, खत्म होगा नाईट कर्फ्यू और 1 फरवरी से खुलेंगे सभी स्कूल और कॉलेजपीएम नरेंद्र मोदी कल करेंगे नेशनल कैडेट कॉर्प्स की रैली को संभोधित, दिल्ली के करियप्पा ग्राउंड में होगा कार्यक्रम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.