scriptUP Assembly Election 2022 Fourth Phase polling Lucknow Rajnath singh | UP Assembly Election 2022: गजक-रेवड़ी के लिए मशहूर लखनऊ में पार्टियां बांट रही जुबानी रेवड़ियाँ | Patrika News

UP Assembly Election 2022: गजक-रेवड़ी के लिए मशहूर लखनऊ में पार्टियां बांट रही जुबानी रेवड़ियाँ

नवाबों का शहर लखनऊ अब पहले जैसा नहीं रहा। जनता जागरुक भी हुई है और शिक्षित भी। पिछले दिनों यहां पूर्व मंत्री स्वाति सिंह और उनके पति दयाशकंर की चर्चाएं भी खूब जोरों पर रहीं। इनकी लड़ाई में यह टिकट 2 जी घोटाले में जांच करने वाले इडी के उपनिदेशक रहे तेज तर्रार ऑफिसर राजेश्वरसिंह को मिल गयी।

लखनऊ

Published: February 17, 2022 03:01:34 pm

UP Assembly Election 2022: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में इन दिनों रेवडिय़ां खूब बांटी जा रही हैं। सभी दलों के नेता मंच से जुबानी रेवडिय़ां दे रहे हैं। कोई विकास के दावे कर रहा है तो कोई शांति व्यवस्था बनाए रखने की। नवाबों का शहर लखनऊ अब पहले जैसा नहीं रहा। जनता जागरुक भी हुई है और शिक्षित भी। पिछले दिनों यहां पूर्व मंत्री स्वाति सिंह और उनके पति दयाशकंर की चर्चाएं भी खूब जोरों पर रहीं। इनकी लड़ाई में यह टिकट 2 जी घोटाले में जांच करने वाले इडी के उपनिदेशक रहे तेज तर्रार ऑफिसर राजेश्वरसिंह को मिल गयी। इधर, समाजवादी पार्टी से अभिषेक मिश्रा चुनाव मैदान में हैं, जो सपा की सरकार में मंत्री रह चुके है। जिससे यहां मुकाबला और भी रोचक हो गया। पिछले चुनावों में यहां भाजपा की स्वातिसिंह जीत कर सरकार में मंत्री बनी थी। लखनऊ से सांसद राजनाथ सिंह और दूसरी सीट मोहनलालगंज से केंद्रीय मंत्री कौशल किशोर सांसद हैं।
UP Assembly Election 2022: गजक-रेवड़ी के लिए मशहूर लखनऊ में पार्टियां बांट रही जुबानी रेवड़ियाँ
UP Assembly Election 2022: गजक-रेवड़ी के लिए मशहूर लखनऊ में पार्टियां बांट रही जुबानी रेवड़ियाँ
लखनऊ कैंट में कानून मंत्री मैदान में

लखनऊ कैंट में कभी कांग्रेस से आकर भाजपा से विधायक बनीं रीता बहुगुणा जोशी अब सांसद हैं। यहां मुकाबला योगी सरकार में कानून मंत्री बृजेश पाठक और सपा के राजू गांधी के बीच है। पाठक ने जहां अपनी सीट बदली है वहीं सपा के पार्षद राजू गांधी के अलावा कांग्रेस से दिलप्रीत और बसपा से अनिल पांडेय भी चुनावी मैदान में डटे हैं। लखनऊ उत्तरी सीट पर सपा से पूजा शुक्ला कड़ी टक्कर देती दिखाई दे रही हैं। मुस्लिम, यादव, महिला और ब्राह्मणों का गठजोड़ रहा तो पूजा को सल्तनत का सुख दे सकता है। लेकिन यहां नीरज बोरा भी अपने पिता और खुद की विरासत बचाने की जंग लड़ रहे हैं। इधर लखनऊ पूर्वी सीट पर नगरीय विकास मंत्री आशुतोष टंडन अपना दमखम दिखा रहे हैं। इन्हें सपा के अनुराग भदौरिया अच्छी टक्कर दे रहे हैं। इस सीट पर 1991 के बाद भारतीय जनता पार्टी का ही कब्जा रहा है। 2012 में कलराज मिश्र भी यहां से विधायक रह चुके हैं। जो वर्तमान में राजस्थान के राज्यपाल भी हैं।
यह भी पढ़ें

तीसरे चरण का रण - आलू, तंबाकू और गुलाब के आगे नहीं चल पा रहा हिजाब

भाजपा को अपनी सीट बचाने की चुनौती

लखनऊ मध्य मूल भाजपाई सीट है। यहां सपा को महज दो बार जीतने का मौका मिला है। इस बार भाजपा ने रजनीश गुप्ता को चेहरा बनाया है, जबकि इस सीट से पिछली बार बृजेश पाठक जीतकर मंत्री बने थे। समाजवादी पार्टी ने यहां 2012 में विधायक रह चुके रविदास मेहरोत्रा को प्रत्याशी बनाकर मैदान में उतारा है। बसपा ने आशीषचंद्र श्रीवास्तव को और कांग्रेस ने सदफ जफर को टिकट दिया है।
आम के कटोरे का स्वाद कौन चखेगा पता नहीं

लखनऊ पश्चिम में भाजपा ने वर्तमान विधायक का टिकट काट कर अंजनीकुमार श्रीवास्तव को टिकट दिया है वहीं समाजवादी पार्टी ने अरमान खान, बसपा ने कायमरजा खान, कांग्रेस ने शहाना सिद्दीकी को मैदान में उतारा है। मलिहाबाद सीट भी लखनऊ की महत्वपूर्ण सीट है। दशहरी आम के लिए मशहूर मलिहाबाद से 2017 में चुनाव जीतने वाली जयादेवी पर भाजपा ने दुबारा भरोसा जताया है। जबकि यहां भाजपा का भाजपा का मूल वोट बैंक नहीं था। इधर जयादेवी के सामने सपा ने सोनू कनौजिया को चुनाव मैदान में उतारा है। दोनों के बीच कड़ी टक्कर भी बताई जा रही है।
मोहनलालगंज में सपा बचा पाएगी सीट?

मोहनलालगंज ही ऐसी विधानसभा सीट है जहां पिछले विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने जीत हासिल की थी। मोदी लहर में भी भाजपा इस सीट को नहीं जीत सकी। यह विधानसभा सीट भी लखनऊ में है। यहां पर भाजपा ने अमरेशकुमार को टिकट दिया है वहीं समाजवादी पार्टी ने सुशीला सरोज को अपना उम्मीदवार बनाया है। कांग्रेस की टिकट पर यहां ममता चौधरी चुनाव लड़ रही है। लखनऊ की ही बख्शी का तालाब सीट पर भाजपा ने अपने मौजूदा विधायक का टिकट काटकर योगेश शुक्ला को दिया है। इधर समाजवादी पार्टी ने 2012 में विधायक रहे गोमती यादव, बसपा ने सलाउद्दीन सिद्दीकी व कांग्रेस ने ललनकुमार को अपना उम्मीदवार बनाया है।
यह भी पढ़ें

राजनाथ सिंह ने कहा अब कोई माई का लाल कट्टा नहीं बना पाएगा

वोटों का समीकरण-

विधानसभा चुनाव 2017

  • कुल 35 लाख 11 हजार 619 मतदाता
  • 68 .70 प्रतिशत पुरुष
  • 56. 49 प्रतिशत महिलाएं
  • 2017 में 58.45 प्रतिशत मतदान
विधानसभा चुनाव 2022

  • 38 लाख 4 हजार 114 मतदाता
  • 20 लाख 26 हजार 589 पुरुष
  • 17 लाख 77 हजार 319 महिलाएं
  • 206 थर्ड जेंडर वोटर्स

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

अनिल बैजल के इस्तीफे के बाद Vinai Kumar Saxena बने दिल्ली के नए उपराज्यपालISI के निशाने पर पंजाब की ट्रेनें? खुफिया एजेंसियों ने दी चेतावनीममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना, कहा - 'भाजपा का तुगलगी शासन, हिटलर और स्टालिन से भी बदतर'Haj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाWomen's T20 Challenge: पहले ही मैच में धमाकेदार जीत दर्ज की सुपरनोवास ने, ट्रेलब्लेजर्स को 49 रनों से हरायालगातार बारिश के बीच ऑरेंज अलर्ट जारी, केदारनाथ यात्रा पर लगी रोक, प्रशासन ने कहा - 'जो जहां है वहीं रहे'‘सिंधिया जिस दिन कांग्रेस छोडक़र गए थे, उसी दिन से उनका बुढ़ापा शुरू हो गया था’Asia Cup Hockey 2022: अब्दुल राणा के आखिरी मिनट में गोल की वजह से भारत ने पाकिस्तान के साथ ड्रा पर खत्म किया मुकाबला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.