scriptvigilance investigation intensifies in dalit prerna sthal scam case | यूपी चुनाव आते ही मायावती पर फिर कसा शिकंजा, विजिलेंस ने तेज की स्मारक घोटाले की जांच | Patrika News

यूपी चुनाव आते ही मायावती पर फिर कसा शिकंजा, विजिलेंस ने तेज की स्मारक घोटाले की जांच

Uttar Pradesh Assembly Elections 2022 : यूपी विधानसभा चुनाव 2022 से पहले एक बार फिर बसपा सरकार में हुए 1400 करोड़ के स्मारक घाेटाले का जिन्न बोतल से बाहर आ गया है, जो मायावती (Mayawati) की राह में मुश्किलें खड़ी कर सकता है। 10 साल पुराने इस मामले में नोएडा प्राधिकरण (Noida Authority) अधिकारी फाइलों को लेकर विजिलेंस टीम के समक्ष पेश हुए, जिनमें से 23 फाइलों को विजिलेंस ने अपने पास रख लिया है।

नोएडा

Published: December 02, 2021 12:15:39 pm

नोएडा. यूपी विधानसभा चुनाव 2022 से पहले एक बार फिर बसपा सरकार में हुए 1400 करोड़ के स्मारक घाेटाले का जिन्न बोतल से बाहर आ गया है, जो मायावती के लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है। 10 साल पुराने इस मामले में लखनऊ में विजिलेंस ने जांच तेज करते हुए कुछ फाइल तलब की थीं। नोएडा प्राधिकरण अधिकारी फाइलों को लेकर विजिलेंस टीम के समक्ष पेश हुए, जिनमें से 23 फाइलों को विजिलेंस ने अपने पास रख लिया है। इसके साथ ही विजिलेंस ने 2009 से 2012 तक अथॉरिटी में पदस्थ सीईओ, एसीईओ और ओएसडी समेत अधिकारियों व कर्मचारियों की लिस्ट तलब की है।
mayawati.jpg
उल्लेखनीय है कि यूपी तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती के कार्यकाल में नोएडा के साथ ही लखनऊ में भी स्मारकों का निर्माण किया गया था। आरोप है कि दोनों स्मारकों के निर्माण में 1400 करोड़ का घाेटाला हुआ था। इस मामले की जांच करते हुए 2013 में लोकायुक्त ने रिपोर्ट सौंपी थी। जिसके बाद इसी वर्ष अप्रैल में पहली बार कार्रवाई करते हुए लखनऊ विजिलेंस ने उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम के 4 पूर्व अफसरों को गिरफ्तार किया गया। जबकि अन्य आरोपियों की जांच चल रही है। नोएडा अथॉरिटी के एक ओएसडी और वरिष्ठ प्रबंधक मंगलवार को लखनऊ में आयोजित बैठक में शामिल हुए। इस दौरान विजिलेंस अधिकारियों ने सवाल-जवाब किए। इसके बाद विजिलेंस ने 23 फाइलों को अपने पास रख लिया। अधिकारियों की मानें तो 2009 से 2012 तक जिस सीईओ की देखरेख में स्मारकों का निर्माण हुआ था। वह बसपा के करीबी अधिकारियों में से एक थे।
यह भी पढ़ें- केशव प्रसाद मौर्य ने किया अब मथुरा की तैयारी... का ऐलान तो अखिलेश समेत विपक्ष ने किया पलटवार

ऑडिट में हुआ था खुलासा

उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम ने ही नोएडा में दलित प्रेरणा स्थल का निर्माण किया था। समाजवादी पार्टी की सरकार आते ही दलित प्रेरणा स्थल का ऑडिट कराया गया था, जिसमें खुलासा हुआ कि दलित प्रेरणा स्थल के निर्माण के लिए महज 84 करोड़ रुपए का एमओयू साइन हुआ, लेकिन निर्माण पर हजारों करोड़ रुपए खर्च कर दिए गए। आरोप है कि स्मारकों में लगे पत्थरों की कीमत से लेकर पत्थरों धुलाई के अलावा कई मामलों में सरकारी धन का दुरुपयोग हुआ।
पानी की तरह बहाया गया पैसा

हैरार करने वाली बात ये है कि निर्माण कार्य में एक हजार करोड़ किसके आदेश पर खर्च हुए नोएडा अथॉरिटी में उसके कोई दस्तावेज नहीं मिले हैं। निर्माण निगम को अथॉरिटी अधिकारी एमओयू की तय राशि से अधिक रकम जारी करते रहे। 84 करोड़ रुपये का अनुबंध बावजूद पानी की तरह पैसा बहाया गया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

SC-ST को आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, राज्य तय करें प्रमोशन का पैमानामहाराष्ट्रः सुप्रीम कोर्ट ने बीजेपी के 12 विधायकों का निलंबन असंवैधानिक बताते हुए रद्द कियाBrahMos Missiles: भारत से ब्रह्मोस मिसाइल खरीद रहा फिलीपींस, 37.5 करोड़ डॉलर की डील पर लगी मुहरData Privacy Day: सस्ता स्मार्टफोन इस्तेमाल करना पड़ सकता है महंगा, एक्सपर्ट ने बताई वजहNeoCov: ओमिक्रॉन के बाद सामने आया कोरोना का नया वैरिएंट 'नियोकोव' और भी खतरनाकसुभासपा ने जारी की तीन उम्मीदवारों की लिस्ट, राजभर का दावा- हमारे निशान पर सपा प्रत्याशी लड़ेगा चुनावएनसीसी रैली में बोले पीएम मोदी- महिलाओं को सेना में मिल रही बड़ी जिम्मेदारियांUP Election 2022: नफरत फैलाने के आरोप में सपा प्रत्याशी पर मामला दर्ज
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.