यूपी के फतेहपुर में छेड़खानी से तंग आकर किशोरी ने खुद को जलाया, पुलिस बोली मां-बेटी में अनबन थी

यूपी के फतेहपुर में छेड़खानी से तंग आकर किशोरी ने खुद को जलाया, पुलिस बोली मां-बेटी में अनबन थी
छेड़खानी से तंग लड़की ने खुद को जलाया

Mohd Rafatuddin Faridi | Updated: 15 Jul 2019, 11:48:45 AM (IST) Fatehpur, Fatehpur, Uttar Pradesh, India

  • मृत किशोरी के परिजनों ने कहा शिकायत लेकर गए तो पुलिस ने थाने से भगा दिया।
  • पुलिस अधीक्षक ने कहा मां-बेटी में अनबी थी, इसलिये उठाया ऐसा कदम।

फतेहपुर . इनकाउंटर कॉप वाली यूपी के फतेहपुर में छेड़खानी से तंग किशोरी की पुलिस के पास भी सुनवायी न होने के बाद उसने तंग आकर खुद को आग के हवाले कर दिया। मरने वाली किशोरी के परिजनों का दावा है कि वह दो बार शिकायत लेकर थाने गई, लेकिन दोनों बार पुलिस ने उसे भगा दिया। इसके बाद तंग आकर किशोरी ने उस वक्त खुद को मिट्टी का तेल डालकर जला लिया जब घर के लोग खेत पर गए हुए थे। परिजनों की मानें तो करीब एक महीना पहले इन्हीं आरोपियों ने किशोरी को अगवा करने की कोशिश भी की थी, जिस पर पुलिस ने आरोपियों को एक दिन थाने में रखकर बिना कार्रवाई के छोड़ दिया था। उधर इस मामले में पुलिस जो कहानी बता रही है वह इससे बिल्कुल उलट है। पुलिस अधीक्षक के मुताबिक स्थानीय लोगों ने पुलिस को बताया कि मां-बेटी में कोई अनबन के चलते उसने यह कदम उठाया। हालांकि एसपी ने मामले की जांच सीओ जाफरगंज को सौंप दी है।

इसे भी पढ़ें

दलित महिला से एसपी के गनर ने किया रेप! शिकायती पत्र से नंबर चुराकर करता था फोन

 

 

मामला फतेहपुर के गाजीपुर थानाक्षेत्र के मोबीन नगर इलाके की है। परिजनों के मुताबिक इलाके के ही तीन युवक साबिर, ताहिर और बुदुल उनकी 13 साल की बेटी को आए दिन परेशान करते थे। बीते जून महीने की 14 तारीख को आरोपियों ने उनकी बेटी को अगवा करने की कोशिश की थी। 16 जून को परिजनों ने इसके खिलाफ एक तहरीर पुलिस को दी, जिसके बाद पुलिस आरोपियों को पकड़कर थाने ले आयी। आरोप है कि पुलिस ने आरोपियों को एक रात रखने के बाद बिना कार्रवाई किये छोड़ दिया।

इसे भी पढ़ें

इंस्पेक्टर का ऐसा वीडियो हुआ वायरल, पूरे विभाग का सिर शर्म से झुक गया, देखें VIDEO

इसके बाद परिजनों ने सोचा कि अब वो रास्ते पर आ जाएंगे और उनकी बेटी को नहीं छेड़ेंगे। आरोप है कि तकरीबन एक महीने बाद फिर आरोपियों ने किशोरी के साथ फिर 12 जुलाई को छेड़खानी की। इसके बाद परिजन फिर दो दिन शिकायत करने गए, लेकिन उनके मुताबिक पुलिस ने कार्रवाई के बजाय उन्हें भगा दिया। उधर छेड़खानी से तंग लड़की ने कहीं से मदद मिलती न देख अपने आपको घर पर अकेला पाया तो खुद को जलाकर आत्महत्या कर ली।

इसे भी पढ़ें

परिजन किशोरी का इलाज कराने पहुंचे अस्पताल तो पता चला, तीन माह से है गर्भवती, मचा हड़कंप

उधर इस मामल में पुलिस अलग ही कहानी कह रही है। परिजन कार्रवाई में हीला-हवाली करने वाले थानेदार को बचाने का आरोप भी लगा रहे हैं। पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि 12 जुलाई को किशोरी ने कमरा बंद कर खुद को आग लगा लिया था। मौके पर सीओ जाफरगंज और एसओ गाजीपुर गए थे। सीओ जाफरगंज को स्थानीय लोगों ने बताया कि मां और बेटी में कुछ बात को लेकर अनबन चल रही थी। उस दिन मां-बेटी में मोबाइल पर बात हुई थी, जिसके बाद किशोरी ने क्षुब्ध होकर कमरा बंद कर खुद को आग के हवाले कर दिया। बावजूद इसके सीओ जाफरगंज को जांच सौंपी गयी है कि मौके पर जाकर लोगों से पूछताछ करें ताकि आगे की कार्रवाई की जा सके।

By Rajesh Singh

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned