Udyogini Scheme : महिलाओं के लिए बड़ी खुशखबरी, तीन लाख तक बिना ब्याज के ले सकती हैं Loan

Highlights
- (Udyogini Scheme for Women) योजना परोक्ष रूप से केंद्र सरकार (Central Government) की योजना नहीं है
- यह योजना केंद्र सरकार (Central Government) के निर्देश अनुसार बैंकों (Government Bank) द्वारा शुरू की गई योजना है
- यह योजना (Scheme for Women) सरकारी वह प्राइवेट बैंकों (Private bank) के साथ नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी (Non Banking Financial Company) के द्वारा चलाई जा रही है

By: Ruchi Sharma

Published: 14 Jul 2020, 11:19 AM IST

नई दिल्ली. महिलाओं (Scheme for Women) के लिए बैंक (Bank) में कई विशेष योजनाएं चलाई जा रही है। इन योजनाओं का मकसद है महिलाओं (Scheme for Women 2020) को आत्मनिर्भर बनाना। इन सभी योजनाओं में एक योजना है उद्योगिनी योजना (Udyogini Scheme for Women) । यह योजना परोक्ष रूप से केंद्र सरकार (Central Government) की योजना नहीं है। यह योजना केंद्र सरकार (Central Government) के निर्देश अनुसार बैंकों (Government Bank) द्वारा शुरू की गई योजना है। यह योजना ((Scheme for Women)) सरकारी वह प्राइवेट बैंकों (Private bank) के साथ नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी (Non Banking Financial Company) के द्वारा चलाई जा रही है। इस योजना (Scheme for Women) के तहत स्मॉल स्केल, बिजनेस रिटेल, बिजनेस और एग्रीकल्चर एक्टिविटीज के लिए लोन (Women Entrepreneurs Scheme) लिया जा सकता है।

इस योजना (Udyogini Scheme for Women) का लाभ पाने के लिए आपकी आयु 18 से 45 वर्ष के बीच होनी चाहिए। इस योजना के अंतर्गत अधिकतम तीन लाख का लोन मिल जाता है। इस योजना (Scheme for Small Businesses) का मूल उद्देश्य महिला सशक्तिकरण (women empowerment) करना है। इस योजना (Government schemes for Women) के तहत उन महिलाओं को लोन दिया जाता है जो खुद का कारोबार करना चाहती है। इसके साथ ही उन महिलाओं (Government schemes for Women) को भी लोन दिया जाता है जिनका पहले से ही कोई कारोबार है।

जानिए, योजना से जुड़ी खास बातें..

- इस योजना के तहत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति (एससी – एसटी) और शारीरिक रुप से अक्षम महिलाओं को ब्याज मुफ्त लोन दिया जाता है।
- इस योजना के तहत उन महिलाओं को लोन दिया जाता है जो खुद का कारोबार करना चाहती है। इसके साथ ही उन महिलाओं को भी लोन दिया जाता है जिनका पहले से ही कोई कारोबार है।
- इस योजना के तहत तीन लाख तक का लोन दिया जा सकता है।
- यह योजना सरकारी, प्राइवेट बैंकों के साथ ही नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी (एनबीएफसी) के द्वारा स्वतंत्र रुप से चलाई जा रही है।

जानिए, किन बैंकों से मिल सकता है लोन

वर्तमान समय में कई सरकारी और प्राइवेट बैंक हैं, जिनके यहां से उद्योगिनी लोन बहुत आसानी से मिल रहा है। उद्योगिनी लोन देने वाले बैंकों में पंजाब एंड सिंध बैंक और सारस्वत बैंक प्रमुख रूप से से उद्योगिनी लोन देने वाला बैंक है। इसके अलावा उद्योगिनी योजना के तहत सभी कमर्शियल बैंकों से, सभी सहकारी बैंकों से और सभी क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (RRB) से उद्योगिनी लोन प्राप्त किया जा सकता है।

योजना के लिए आवेदन करने के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट

- 2 पासपोर्ट साइज का फोटो
- आधार कार्ड की फोटोकॉपी
- जन्म प्रमाणपत्र (10वीं की मार्कशीट, स्थानीय तहसीलदार से प्रमाणित पत्र या ग्राम प्रधान/स्थानीय जिला परिषद/स्थानीय
- विधायक/स्थानीय सांसद के लेटरपैड पर लिखवाया हुआ पत्र)
- बीपीएल कार्ड की फोटोकॉपी (गरीबी रेखा से नीचे होने पर)
- जाति प्रमाण पत्र (एसटी – एसटी की कैटेगरी में होने पर)
- आय प्रमाण पत्र

जानिए, कैसे करें आवेदन

- इस योजना के तहत लोन पाने के लिए आवेदन करने के लिए सबसे पहले बैंक से उद्योगिनी लोन फॉर्म लीजिये।
- या चाहें तो संबंधित बैंक की वेबसाइट से भी उद्योगिनी लोन फॉर्म डाउनलोड कर सकती हैं।
- फॉर्म लेने के बाद, फॉर्म को अच्छी तरह से भरें।
- फॉर्म भरने के लिए ऊपर बताये गये सभी कागजातों की फोटोकॉपी लगाकर संबंधित बैंक में उद्योगिनी लोन फॉर्म जमा कर देना होता है।
- फॉर्म जमा होने के बाद आपको बैंक में जाकर रेगुलर तौर पर पूछताछ करना होगा कि कब तक आपका लोन पास हो रहा है।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned