1 जुलाई से बदल रहा है 5000 रुपए मंथली पेंशन वाली Atal Pension Yojana का नियम, आप पर भी पड़ेगा असर

  • Atal Pension Yojana में फिर लागू होगा ऑटो डेबिट रूल
  • कोरोना वायरस की वजह से pfrda ने दी थी छूट
  • जुलाई से बैंक अकाउंट ( BANK Account ) से खुद कट जाएंगे पैसे

By: Pragati Bajpai

Published: 26 Jun 2020, 06:41 PM IST

नई दिल्ली : असंगठित क्षेत्र ( UNORGANISED SECTOR ) में काम करने वालों को रिटायरमेंट की उम्र के बाद रेग्युलर इनकम देने के लिए सरकार अटल पेंशन योजना चलाती है। इस योजना के तहत 60 साल की उम्र के बाद मिनिमम पेंशन की गारंटी दी जाती है। इस योजना से जुड़े लोगों के लिए बड़ी खबर है दरअसल 30 जून को 'अटल पेंशन योजना' (APY - Atal Pension Yojana) में ऑटो डेबिट से छूट की मियाद खत्म हो रही है। जिसका मतलब है कि जुलाई से इस योजना में निवेश करने वालों के अकाउंट से ऑटो डेबिट एक बार फिर से शुरू हो जाएगा। सरकार ने जून तक के लिए इस योजना की ऑटो डेबिट की शर्त खत्म कर दी थी क्योंकि इस योजना के तहत लाभ उठाने वाले ज्यादातर लोग निचले और असंगठित क्षेत्र से जुड़े हुए हैं।

मशरूम की खेती में है शानदार कमाई का मौका, मामूली निवेश के साथ होगी लाखों की आमदनी

'पेंशन फंड रेग्युलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी' (PFRDA) ने अप्रैल में बैंकों को APY के तहत 30 जून तक पैसा न काटने का निर्देश दिया था। अब PFRDA ने 1 जुलाई से ऑटो डेबिट शुरू करने का निर्देश दिया है, इस स्कीम के सब्सक्राइबर्स को मेल के जरिए यह बात बताई गई है।

नहीं ली जाएगी पेनॉल्टी – हालांकि PFRDA ने मेल में स्पष्ट लिखा है कि 'अगर अप्रैल 2020 से अगस्त 2020 के लिए आपका नॉन-डिडक्टेड APY योगदान रेग्युलराइज्ड नहीं है तो उनसे पेनाल्टी नहीं वसूला जाएगा।‘

Swiss Banks से भारतीयों का मोहभंग, 6 फीसदी कटौती के साथ 30 साल के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा Deposit

5 साल में 2.2 लोग जुड़े- पेंशन कोष नियामक एवं विकास प्राधिकरण (PFRDA) का दावा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) द्वारा 2015 में शुरू की गई अटल पेंशन योजना से पिछले पांच सालों में लगभग 2.2 करोड़ से ज्यादा लोग जुड़े हैं। ये किसी भी योजना के लिए एक बहुत बड़ा आंकड़ा है। सब्सक्राइबर्स की बात करें तो अकेले पिछले वित्त वर्ष में योजना से करीब 70 लाख सब्सक्राइबर्स जुड़े हैं।

Show More
Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned