Swiss Banks से भारतीयों का मोहभंग, 6 फीसदी कटौती के साथ 30 साल के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा Deposit

  • 2019 में भारतीय द्वारा जमा रकम में 6 फीसदी की गिरावट ( indian Money In Swiss Bank Decline ) आई
  • स्विटजरलैंड सेंट्रल बैंक ( Switzerland Central Bank ) की तरफ से आई रिपोर्ट में दावा
  • पिछले 2 सालों से बैंक में डिपॉजिट कम हो रहा है
  • 1987 से स्विस बैंक ( Swiss Banks ) रखती है रिकॉर्ड

By: Pragati Bajpai

Published: 26 Jun 2020, 01:45 PM IST

नई दिल्ली: काला धन ( black money ) जमा करने के लिए स्विस बैंकों ( black Money In Swiss Bank ) का नाम सबसे पहले आता है लेकिन गुरूवार को स्विटजरलैंड सेंट्रल बैंक ( Switzerland Central Bank ) की तरफ से आई रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 2019 में भारतीय द्वारा जमा रकम में 6 फीसदी की गिरावट ( indian Money In Swiss Bank Decline ) आई है। बैंक ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 2019 में भारतीयों द्वारा महज 6,625 करोड़ रुपये ( indians Money In Swiss Bank ) जमा किये गए है जो पिछले साल ( 2018 ) से 6 फीसदी कम है। यहां ध्यान देने वाली बात ये भी है कि 2018 में भी बैंक ने डिप़जिट में कमी की बात कही थी जिसका तलब है कि पिछले 2 सालों से बैंक में डिपॉजिट कम हो रहा है।

SEBI का बड़ा फैसला, Insider Trading के नियमों में सुधार को दी मंजूरी

स्विस नेशनल बैंक ( The Swiss National Bank ) के मुताबिक 2019 के अंत में स्विस बैंकों के ऊपर भारतीयों की कुल 89.946 करोड़ स्विस फ्रैंक की देनदरी थी। इसमें 55 करोड़ स्विस फ्रैंक ( 4,000 करोड़ रुपये से अधिक) कस्टमर्स डिपॉजिट, 8.8 करोड़ स्विस फ्रैंक (650 करोड़ रुपये) दूसरे बैंकों के जरिए जमा तथा 25.4 करोड़ स्विस फ्रैंक (1,900 करोड़ रुपये) अन्य राशि प्रतिभूतियों और अन्य वित्तीय उत्पादों के रूप में हैं । इसके अलावा लगभग 50 करोड़ रुपये विभिन्न ट्रस्टों के जरिए जमा हैं।

इन आंकड़ों में उन भारतीयों, प्रवासी भारतीयों द्वारा जमा को शामिल नहीं किया गया है जो स्विस बैंकों में तीसरे देशों की इकाइयों के नाम पर रखे गए हों।

सरहद पर सड़क बनाने वालों पर मेहरबान सरकार, कर्मचारियों के वेतन में होगी 170 फीसदी की वृद्धि

स्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) ने 1987 से बैंको में जमा आंकड़ों को एकत्र करना शुरू किया था और बैंक हर साल इन आंकड़ों को सरकार के साथ शेयर करता है। इसके अलावा स्विट्जरलैंड उन भारतीयों के खातों के बारे में भी ब्योरा साझा करता है जिन पर वित्तीय गड़बड़ियों में शामिल होने का आरोप हैं. इसके लिए प्राइम फेशिया प्रूफ देना होता है।

Show More
Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned