scriptNasimuddin Siddiqui said If Shankaracharya had called in Ayodhya we wo | नसीमुद्दीन सिद्दीकी बोले-अयोध्या में शंकराचार्य बुलाते तो हम जाते, गोंडा लोकसभा सीट को लेकर दिया बड़ा बयान | Patrika News

नसीमुद्दीन सिद्दीकी बोले-अयोध्या में शंकराचार्य बुलाते तो हम जाते, गोंडा लोकसभा सीट को लेकर दिया बड़ा बयान

locationगोंडाPublished: Feb 04, 2024 03:28:09 pm

Submitted by:

Mahendra Tiwari

कांग्रेस नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी कई कार्यक्रमों में शामिल होने गोंडा पहुंचे। पत्रकारों से बातचीत के दौरान अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा गठबंधन में सीटों का बंटवारा तथा लोकसभा चुनाव 2024 और गोंडा लोकसभा सीट को लेकर बड़ा दावा किया।

 

20240204_150424.jpg
कांग्रेस नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी कांग्रेस के जिलाध्यक्ष गोंडा प्रमोद मिश्रा
कांग्रेस नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी एक वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल होने गोंडा पहुंचे। उन्होंने पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि गठबंधन पूरी मजबूती के साथ चुनाव लड़ेगा। सरकार भी बनाएगा। हम गोंडा लोकसभा सीट जीतने जा रहे हैं। अभी किसी को समझ में नहीं आएगा। लेकिन समय आने पर जान लेंगे। कांग्रेस के अयोध्या कार्यक्रम में न शामिल होने के सवाल पर कहा कि शंकराचार्य बुलाते तो हम जाते। सवाल खड़ा किया कि जहां कांग्रेस बुलाएगी। क्या बीजेपी वहां जाएगी।
वैवाहिक समारोह में शामिल होने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी गोंडा पहुंचे। उन्होंने गठबंधन में सीटों के बंटवारे को लेकर पूछे गए सवाल पर कहा कि सपा और कांग्रेस के जिम्मेदारों के बीच कई राउंड की बैठक हो चुकी है। अभी कोई फाइनल डिसीजन नहीं हुआ है। जब उनसे पूछा गया कि सीटों का तय होना शुरू हो गया है। तो उन्होंने कहा कि अभी हमारी तरफ से कोई भी सीट तय नहीं की गई है। वह सीट किसने अलाउंस की है। कैसे किया है। यह सवाल उनसे बनता है। जब उनसे कहा गया कि अखिलेश यादव ने कहां है कि इंडिया गठबंधन मजबूत है। सीट ही बंटवारे का आधार होगा। जो जीतने लायक होगा उसे टिकट दिया जाएगा। इस पर उन्होंने कहा कि वह भी जिताऊ प्रत्याशी देख रहे हैं। हम भी जिताऊ प्रत्याशी देख रहे हैं। उन्होंने ठीक कहा है। कांग्रेस नेता ने सवाल खड़ा किया कि क्या नोटिफिकेशन जारी हो गया है। हमारे गठबंधन के अलावा सभी दलों ने अपने प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है। उन्होंने कहा कि तमाम क्षेत्रीय पार्टियों बन गई है। उन्होंने भी अपने प्रत्याशियों की घोषणा नहीं किया है। अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगा। हमारी बातचीत चल रही है। हम समाजवादी पार्टी से सामंजस्य बैठकर सीटों का बंटवारा कर लेंगे। कहां की सपा और कांग्रेस मिलकर बीजेपी का डटकर मुकाबला करेंगी। इस बार गठबंधन सरकार बनाएगी। जब उनसे कहा गया कि नीतीश कुमार चले गए। ममता बनर्जी कह रही है कि पश्चिम बंगाल में हम अकेले चुनाव लड़ेंगे। इस पर उन्होंने कहा कि अभी तमाम आया राम गया राम होगा। अभी आपने गया राम देखा है। जल्दबाजी मत करिए। आया राम भी देख लीजिए। कहा कि अभी कुछ भी हो सकता है। मैं नीतीश की बात नहीं कर रहा हूं। मैं इंडिया गठबंधन की बात कर रहा हूं। कुछ भी हो सकता है।
आडवाणी को अभी तक किनारे लगाए थे, अब तो जिसको चाहे उसको दे दें

आडवाणी को भारत रत्न देने के सवाल पर उन्होंने कहा कि सैया भये कोतवाल अब डर काहे का, या फिर इसे दूसरे शब्दों में कह दे, कि अंधरा बाटे रेवड़ी जिसको चाहे उसको दे दें। अभी तक उनको किनारे लगाए हुए थे। उन्होंने कहा कि आडवाणी जी होने वाले प्रधानमंत्री थे। दूसरे भैया आ गए। अब चाहे वह जोशी जी को दे दे। या फिर आडवाणी जी को दे दे। उन्होंने कहा कि कर्पूरी ठाकुर को वोट की राजनीति में दिया गया। 10 साल पहले क्यों नहीं दे दिया। कहा कि यह बीजेपी का असफल प्रयास है। अटल जी थे तब नहीं दिया 10 साल से मोदी जी हैं। तब नहीं दिया जब चुनाव दो महीने रह गए तब दिया गया।
शंकराचार्य बुलाते तो कांग्रेस जाती

कांग्रेस दबी जुबान से कहती है कि ताला हमने खुलवाया है। और जब प्राण प्रतिष्ठा की बारी आई तब आप बुलाने पर गए नहीं। इस पर नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने सवाल खड़ा किया क्या जहां पर कांग्रेस बुलाएगी। वहां पर बीजेपी जाएगी। उन्होंने कहा कि मैं धार्मिक बात पर आना नहीं चाहता हूं। अगर शंकराचार्य बुलाते तो कांग्रेस जाती। एक सवाल पर उन्होंने कहा कि सबसे बड़े शंकराचार्य मोदी जी हो गए हैं। कार्यक्रम में कांग्रेस के जिलाध्यक्ष प्रमोद मिश्रा, तरुण पटेल सहित कांग्रेस के तमाम कार्यकर्ता और पदाधिकारी गण मौजूद रहे।

ट्रेंडिंग वीडियो