script पुलिस चौकी के पास मिली थी चाभी लगी ऑटो...सोमवार को पुलिया के नीचे लटक रही थी ड्राइवर की लाश | auto driver murder and hanged under the bridge | Patrika News

पुलिस चौकी के पास मिली थी चाभी लगी ऑटो...सोमवार को पुलिया के नीचे लटक रही थी ड्राइवर की लाश

locationगोरखपुरPublished: Feb 05, 2024 10:31:39 pm

Submitted by:

anoop shukla

सूचना पर पहुंची शाहपुर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।SP सिटी कृष्ण कुमार बिश्नोई ने बताया, शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट हो जाएगा। परिवार की तहरीर और साक्ष्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस चौकी के पास मिली थी चाभी लगी ऑटो...सोमवार को पुलिया के नीचे लटक रही थी ड्राइवर की लाश
पुलिस चौकी के पास मिली थी चाभी लगी ऑटो...सोमवार को पुलिया के नीचे लटक रही थी ड्राइवर की लाश
शहर में एक ऑटो ड्राइवर की हत्या कर हत्यारों ने उसकी लाश केबल के तार में बांधकर पुलिया से नीचे लटका दी। सोमवार की उसकी लाश शाहपुर इलाके के जेल बाईपास सड़क पर स्थित गोड़धोइया पुल के नीचे लटकता हुआ मिला। उसकी जीभ बाहर निकली थी और पहचान छिपाने के लिए चेहरा जलाया गया था।युवक की पहचान ऑटो चालक पिंटू (35) के रूप में हुई। वह 10 दिनों से लापता था। परिवार के लोग उसकी तलाश कर रहे थे।
वहीं, उसकी लाश मिलने के बाद परिजनों ने हत्या कर शव को लटकाने की आशंका जताई है। सूचना पर पहुंची शाहपुर पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।SP सिटी कृष्ण कुमार बिश्नोई ने बताया, शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट हो जाएगा। परिवार की तहरीर और साक्ष्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
10 दिन से लापता था पिंटू , रिजर्व सवारी लेकर निकला था

दरअसल, कैंपियरगंज इलाके का रहने वाला पिंटू पासवान उर्फ माघे ऑटो चलाता था। 10 दिन पहले वो रात 8 बजे कैंम्पियरगंज से पादरी बाजार के लिए रिजर्व सवारी लेकर निकला था। लेकिन, इसके बाद देर रात तक घर नहीं पहुंचा। परिजनों ने पादरी बाजार स्थित पिंटू के ननिहाल में रुकने की संभावना कर अगले दिन सुबह फोन किया तो पता चला कि वह ननिहाल नहीं पहुंचा है।
इसके बाद परिवार के लोग उसकी तलाश में जुट गए। परिजनों ने ननिहाल समेत आस-पास और रिश्तेदारों से पूछताछ की, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। इसी दौरान पादरी बाजार पुलिस चौकी के पास चाबी लगी ऑटो मिली गई। ननिहाल के लोगों ने इसकी सूचना पादरी बाजार पुलिस को दी। पादरी बाजार पुलिस ने ऑटो कब्जे में लेकर थाने पर पहुंचा दिया।
बहन ने दर्ज कराई थी गुमशुदगी

वहीं, पिंटू की बहन मंजू देवी की तहरीर पर पुलिस ने दो दिन बाद गुमशुदगी का केस दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी थी। इस बीच सोमवार को गोड़धोइया पुल से सटे अंडरग्राउंड दुकान का शटर ठीक करने पहुंचे मिस्त्री ने पुल के नीचे लटकती लाश देखा।
उसने शोर मचाया तब लोगों को जानकारी हुई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने पिंटू के परिजनों को बुलाया तो उन्होंने उसकी पहचान कर ली। घरवालों के मुताबिक जीभ बाहर निकला हुआ था पहचान मिटाने के लिए चेहरे पर एसिड डाला गया था।
10 साल पहले हो चुकी है पिता की मौत

पिंटू के पिता पारस पासवान की मौत 10 साल पहले हो चुकी है। वो तीन बहनों का इकलौता भाई और दो बच्चों का पिता था। एक बेटा 8 साल का और एक बेटी 12 साल की है। परिवार के लोग उसे पादरी बाजार में ही 10 दिनों से तलाश रहे थे। आशंका है कि रविवार की रात में हत्या कर शव को पुलिया के नीचे लटकाया गया है।
आटो मिला पर पिंटू नहीं

हत्या की जानकारी के बाद फोरेंसिक टीम ने घटना स्थल पहुंच जांच की। परिजनों का आरोप है कि अगर पुलिस ने मोबाइल लोकेशन ट्रेस कर लिया होता या CCTV फुटेज चेक किया होता तो यह पता चल जाता कि ऑटो किसने खड़ी की है। पुलिस सक्रिय होती तो शायद पिंटू की जान बच गई होती। बताया जा रहा है कि लापता होने के बाद वह किसी के कब्जे में था और एक दो दिन पहले उसकी हत्या कर दी गई।

ट्रेंडिंग वीडियो