scriptरुपए हड़पने के लिए ड्राइवर ने ही रची थी लूट की झूठी कहानी, इस तरह खुला राज | GPS open the case of robbery | Patrika News

रुपए हड़पने के लिए ड्राइवर ने ही रची थी लूट की झूठी कहानी, इस तरह खुला राज

locationगोरखपुरPublished: Jan 27, 2024 11:14:49 am

Submitted by:

anoop shukla

ड्राइवर से हुई लूट का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने 2.70 लाख नकदी बरामद कर ली। ड्राइवर ने रुपये हड़पने के लिए दो दोस्तों की मदद लेकर लूट की साजिश रची थी। तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करके पुलिस कार्यवाही में जुटी है।

रुपए हड़पने के लिए ड्राइवर ने ही रची थी लूट की झूठी कहानी, इस तरह खुला राज

रुपए हड़पने के लिए ड्राइवर ने ही रची थी लूट की झूठी कहानी, इस तरह खुला राज

गोरखपुर में एक ड्राइवर ने रुपए हड़पने की नीयत से लूट की झूठी कहानी रच दी लेकिन जीपीएस ने उसका राज खोल दिया। मामला गोरखपुर के चिलुआताल थाना क्षेत्र के उतरासोत बंधे के पास का है।
ड्राइवर से हुई लूट का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने 2.70 लाख नकदी बरामद कर ली। ड्राइवर ने रुपये हड़पने के लिए दो दोस्तों की मदद लेकर लूट की साजिश रची थी। तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करके पुलिस कार्यवाही में जुटी है।
तगादे के मिले 2.70 लाख से डोली ड्राइवर की नियत

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को धर्मशाला निवासी नरेन्द्र जैन की दुकान से पिपराइच के महुअवा गांव का रजनीश पासवान पुत्र हरिराम सामान लादकर खलीलाबाद गया था। वहां उसे 2.70 लाख नकदी मिली। वापस आते समय रजनीश के मन में पैसे का लालच आ गया।
उसने अपने मित्र अफरोज अहमद पुत्र फिरोज अहमद निवासी हुमायूंपुर उत्तरी को दे दिया। इसके बाद रजनीश ने पुलिस को लूट की सूचना दी। इस बीच अफरोज ने अपने मोहल्ले के राजन को पैसे दे दिए। लूट की सूचना पर तिवारीपुर, गीडा और चिलुआताल पुलिस पहुंची।
गाड़ी में लगे GPS ने लूट की झूठी कहानी का राज खोला

जांच में सामने आया कि वाहन में जीपीएस लगा है। इससे लोकेशन में पता लगा कि लूट की सूचना देने और गाड़ी घटनास्थल पर जाने में अंतर है। गाड़ी काफी देर पहले आ गई थी। ड्राइवर के मोबाइल की लोकेशन भी मोहल्ले में मिली। पुलिस की सख्ती पर ड्राइवर ने राज खोल दिया। ड्राइवर रजनीश, राजन और अफरोज को गिरफ्तार करके पुलिस आगे की कार्यवाही कर रही है।

ट्रेंडिंग वीडियो