script गोरखपुर पुलिस की बड़ी कामयाबी ..कुख्यात डॉन लारेंस विश्नोई के सहयोगी गोल्डी बराड़ गैंग के 3 शूटर गिरफ्तार | notorious larensh vishnoi 3 shooter arrested | Patrika News

गोरखपुर पुलिस की बड़ी कामयाबी ..कुख्यात डॉन लारेंस विश्नोई के सहयोगी गोल्डी बराड़ गैंग के 3 शूटर गिरफ्तार

locationगोरखपुरPublished: Feb 04, 2024 09:10:05 pm

Submitted by:

anoop shukla

सर्विलांस की मदद से चंडीगढ़ पुलिस ने उनका लोकेशन ट्रेस कर लिया और गोरखपुर SOG से मदद मांगी। SOG प्रभारी मधुपनाथ मिश्रा और उनकी टीम ने रेलवे बस स्टेशन के पास से तीनों आरोपितों को दबोच लिया। आरोपितों का कहना है कि वह बस से दिल्ली जाने वाले थे। हालांकि पुलिस का मानना है कि वह नेपाल भागने के फिराक में थे।

गोरखपुर पुलिस की बड़ी कामयाबी ..कुख्यात डॉन लारेंस विश्नोई के सहयोगी गोल्डी बराड़ गैंग के 3 शूटर गिरफ्तार
गोरखपुर पुलिस की बड़ी कामयाबी ..कुख्यात डॉन लारेंस विश्नोई के सहयोगी गोल्डी बराड़ गैंग के 3 शूटर गिरफ्तार
कुख्यात डॉन लॉरेंस बिश्नोई का खासमखास गोल्डी बराड़ गैंग के तीन गुर्गों को पुलिस ने गोरखपुर में गिरफ्तार किया है। तीनों बदमाश गोल्डी बराड़ के नाम पर चंढीगढ़ में एक व्यापारी से तीन करोड़ की रंगदारी मांगे थे। रंगदारी नहीं देने पर बदमाशों ने व्यापारी के घर पर फायरिंग भी की।
इसके बाद जब पुलिस ने बदमाशों की तलाश शुरू की तो वे सभी पंजाब से नेपाल भाग निकले। लेकिन, उनके नेपाल पहुंचने से पहले ही पंजाब पुलिस की मदद से गोरखपुर की SOG, स्वॉट टीम और कैंट पुलिस ने तीनों को दबोच लिया।
पंजाब मोहाली के हैं तीनों बदमाश

तीनों बदमाश पंजाब के ही रहने वाले हैं। अब तीनों को पंजाब पुलिस यहां से गिरफ्तार कर पंजाब ले गई। वहीं, SSP डॉ. गौरव ग्रोवर ने गोल्डी बराड़ गैंग बदमाशों को गिरफ्तार करनी वाली टीम को शबासी दी है। बदमाशों की पहचान पंजाब मोहाली के देवीनगर अबरोवास थाना बनुर के रहने वाले कमल प्रीत सिंह और अमृतपाल सिंह उर्फ गुज्जर और पंजाब मोहाली के ही अमलाला थाना डेराबसी के रहने वाले प्रेम सिंह के रुप में हुई।
व्यवसाई से 3 करोड़ की रंगदारी मांगे हैं

दरअसल, पंजाब के सेक्टर 5 थाना नार्थ चंडीगढ़ निवासी ईंट भट्ठा व्यवसायी कुलदीप सिंह कक्कड़ से गोल्डी बरार गैंग के तीन बदमाशों ने तीन करोड़ की रंगदारी मांगी थी। कुलदीप सिंह ने इसे अनसुना कर दिया और बदमाशों का फोन उठाना भी बंद कर दिया था। जिसके बाद बदमाशों ने 19 जनवरी की भोर में उनके घर पर चढ़कर फायरिंग कर दी थी। इस मामले में कुलदीप सिंह ने थाना नार्थ चंडीगढ़ में धारा 384, 336,506,120 बी भादवि व 25/27/54/59 आर्म्स एक्ट के तहत अज्ञात बदमाशों पर केस दर्ज कराया था।
पंजाब से पटना भाग गए थे बदमाश

इस मामले की विवेचना में कमल प्रीत सिंह पुत्र इन्दरजीत सिंह निवासी ग्राम देवीनगर अबरोवास थाना बनुर जिला मोहाली पंजाब,अमृतपाल सिंह उर्फ गुज्जर पुत्र शमशेर सिंह निवासी ग्राम कलौली थाना बनुर जिला मोहाली पंजाब व प्रेम सिंह पुत्र भगवान सिंह निवासी ग्राम अमलाला थाना डेराबसी जिला मोहाली पंजाब का नाम प्रकाश में आया। चंडीगढ़ की पुलिस ने जब उनकी तलाश शुरू की तब वे पटना भाग गए थे।
पटना से गोरखपुर पहुंचे थे बदमाश

तीन दिन पटना रहने के बाद उन्होंने गोरखपुर के लिए बस पकड़ी थी। इस बीच सर्विलांस की मदद से चंडीगढ़ पुलिस ने उनका लोकेशन ट्रेस कर लिया और गोरखपुर SOG से मदद मांगी। SOG प्रभारी मधुपनाथ मिश्रा और उनकी टीम ने रेलवे बस स्टेशन के पास से तीनों आरोपितों को दबोच लिया। आरोपितों का कहना है कि वह बस से दिल्ली जाने वाले थे। हालांकि पुलिस का मानना है कि वह नेपाल भागने के फिराक में थे। गोरखपुर से सोनौली के लिए बस पकड़ने की तैयारी थे कि दबोच लिए गए। चंडीगढ़ पुलिस उन्हें अपने साथ ले गई।

ट्रेंडिंग वीडियो