उच्चशिक्षा मंत्रालय: एक लाख जमा कराएं तब देंगे जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष पद पर नियुक्ति

Gaurav Sen

Publish: Oct, 12 2017 05:05:16 (IST)

Gwalior, Madhya Pradesh, India
उच्चशिक्षा मंत्रालय: एक लाख जमा कराएं तब देंगे जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष पद पर नियुक्ति

मप्र शासन के गजट नोटिफिकेशन में स्पष्ट उल्लेख है कि इस पद पर वही व्यक्ति ज्वॉइन कर सकता है जो ग्रेजुएट हो साथ ही कॉलेज की समिति के खाते में एक लाख रुप

ग्वालियर। उच्चशिक्षा मंत्रालय द्वारा शासकीय और स्वशासी कॉलेजों में जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष पद के लिए हाल में जारी की गई सूची नियमों के फेर में उलझ गई है। मप्र शासन के गजट नोटिफिकेशन में स्पष्ट उल्लेख है कि इस पद पर वही व्यक्ति ज्वॉइन कर सकता है जो ग्रेजुएट हो साथ ही कॉलेज की समिति के खाते में एक लाख रुपया जमा करा सके।


शासन के आदेश के बाद बुधवार को शा.वीआरजी कॉलेज में राम दीक्षित जब ज्वॉइनिंग करने के लिए प्राचार्या सुशीला माहौर के पास गए तो उन्होंने मप्र शासन का एक लाख रुपया जमा करने का नियम बता दिया। इसके बाद राम दीक्षित उल्टे पैर वापस लौट आए। इतना ही नहीं, शहर के लीड साइंस कॉलेज, एमएलबी कॉलेज, केआरजी कॉलेज, एसएलपी कॉलेज में अभी तक किसी नामित सदस्य ने जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष पद पर ज्वॉइनिंग करने के लिए अभी तक अपनी उपस्थिति दर्ज नहीं कराई है। यह हाल सिर्फ ग्वालियर चंबल संभाग का ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश का है। शासन द्वारा घोषित लिस्ट में अभी तक मात्र पांच फीसदी लोगों ने जोइनिंग ली है, लेकिन नए नियमों के उजागर होने से उनके लिए एक लाख रुपए जमा कराने का संकट पैदा हो गया है।

दो वर्ष पहले हुआ था संशोधन
शासकीय और स्वशासी कॉलेजों में जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष पद पर चयन के लिए नियमों में ३० अक्टूबर १९९६ के बाद २० फरवरी २०१५ को नया संशोधन किया गया। जिसके अनुसार इस पद पर सिर्फ ग्रेजुएट व्यक्ति ही रह सकता है। बाकी एक लाख रुपए जमा कराने का नियम पूर्व के अनुसार ही रखा गया। पूर्व में किसी को जानकारी न होने से व्यवस्थाएं चलती रहीं, लेकिन इस बार अचानक नियम के प्रकाश में आ जाने से यह चर्चा का विषय बन गया है।

प्राचार्यों को दिए निर्देश
एक लाख रुपए जमा कराने का नियम शासन के गजट नोटिफिकेशन में है। हमने कॉलेजों में शासन के नियमानुसार ही जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष पद पर ज्वॉइनिंग कराने के निर्देश सभी कॉलेज प्राचार्यों को दिए हैं।
सरोज मोदी, अतिरिक्त संचालक, उच्चशिक्षा विभाग


नियम से अवगत कराया
हमारे यहां राम दीक्षित ज्वॉइन करने के लिए आए थे, मैंने उन्हें शासन के एक लाख रुपए जमा कराने के नियम से अवगत कराया। वे बिना ज्वॉइन किए चले गए।
सुशीला माहौर, प्राचार्य, वीआरजी कॉलेज, मुरार

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned